• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

Republic Day 2021: 26 जनवरी को राष्ट्रपति क्यों फहराते हैं 'तिरंगा'?

|

Republic Day 2021: The President, who is the First Citizen of the country unfurls the flag, why?: आज पूरा देश 72 वां 'गणतंत्र दिवस' मना रहा है। हर साल इस ऐतिहासिक मौके पर राजपथ पर भव्य समारोह का आयोजन होता है लेकिन इस बार कोरोना महामारी के कारण भव्य आयोजन नहीं हो रहे हैं। आपको बता दें कि 'गणतंत्र दिवस' केवल राष्ट्रीय पर्व नहीं है बल्कि ये हर भारतवासी के लिए गौरव का दिन है।

चलिए इस दिन के बारे में जानते हैं वो बातें, जिसे जानना हर भारतीय को जरूरी है...

26 जनवरी 1950 को भारत का लिखित संविधान लागू हुआ था

26 जनवरी 1950 को भारत का लिखित संविधान लागू हुआ था

  • भारत 15 August 1947 को आजाद तो हो गया था लेकिन 26 जनवरी 1950 को हमारा लिखित संविधान लागू हुआ था, इसी वजह से ये दिन 'गणतंत्र दिवस' के रूप में मनाते हैं।
  • 395 अनुच्छेदों और 8 अनुसूचियों के साथ भारतीय संविधान दुनिया में सबसे बड़ा लिखित संविधान है। भारतीय संविधान को बनने में 2 साल, 11 महीने और 18 दिन का समय लगा था।

यह पढ़ें: Republic Day Wishes:'हमें जान से प्यारा यह गणतंत्र हमारा', अपनों को इन SMS से भेजिए शुभकामनाएं

6 जनवरी को राष्ट्रपति राष्ट्रीय ध्वज फहराते हैं

6 जनवरी को राष्ट्रपति राष्ट्रीय ध्वज फहराते हैं

आपको बता दें कि पीएम देश के राजनीतिक प्रमुख होते हैं जबकि राष्ट्रपति संवैधानिक प्रमुख और देश का संविधान 26 जनवरी, 1950 को संविधान लागू हुआ था इसी वजह से हर साल 26 जनवरी को राष्ट्रपति राष्ट्रीय ध्वज फहराते हैं।

 राजपथ पर होता है गणतंत्र दिवस समारोह

राजपथ पर होता है गणतंत्र दिवस समारोह

  • 26 जनवरी 1950 को डॉ.राजेंद्र प्रसाद ने गवर्नमेंट हाउस के दरबार हाल में भारत के पहले राष्ट्रपति के रूप में शपथ ली थी
  • साल 1955 से गणतंत्र दिवस समारोह राजपथ पर होने लग गया और यहां सेना परेड करने लग गई।
  • गणतंत्र दिवस के मौके पर अशोक चक्र और कीर्ति चक्र जैसे महत्वपूर्ण सम्मान दिए जाते हैं। इसके बाद हमारी सेना अपना शक्ति प्रदर्शन और परेड मार्च करती है।
  • परेड में भारतीय सेना के विभिन्न रेजिमेंट, वायुसेना, नौसेना आदि सभी भाग लेते हैं। परेड में विभिन्न राज्यों की प्रदर्शनी भी होती हैं। हर प्रदर्शिनी भारत की विविधता व सांस्कृतिक समृद्धि प्रदर्शित करती है।
    Republic Day 2021: जानिए गणतंत्र दिवस परेड से जुड़े कुछ रोचक तथ्य को | वनइंडिया हिंदी
    'राष्ट्रीय बहादुरी पुरस्कार' शुरू

    'राष्ट्रीय बहादुरी पुरस्कार' शुरू

    गणतंत्र दिवस के मौके पर राजपथ पर तिरंगा फहराया जाता है। फिर राष्ट्र गान गाया जाता है और 21 तोपों की सलामी होती है। 1957 में सरकार ने बच्चों के लिए 'राष्ट्रीय बहादुरी पुरस्कार' शुरू किया, जो कि 16 साल से कम उम्र के बच्चों को अलग-अलग क्षेत्र में बहादुरी के लिए गणतंत्र दिवस पर दिया जाता है।

    Flag Unfurling शब्द का प्रयोग

    15 अगस्त के दिन राष्ट्रीय ध्वज को नीचे से रस्सी द्वारा खींच कर ऊपर ले जाया जाता है, फिर खोल कर फहराया जाता है, जिसे 'ध्वजारोहण' कहते हैं, जिसके लिए अंग्रेजी में अंग्रेजी में Flag Hoisting शब्द प्रयोग किया जाता है, जबकि 26 जनवरी यानी गणतंत्र दिवस के अवसर पर झंडा ऊपर ही बंधा रहता है, जिसे खोल कर फहराया जाता है, जिसे 'झंडा फहराना' कहते हैं, जिसके लिए Flag Unfurling शब्द प्रयोग होता है।

    यह पढ़ें: Republic Day Parade 2021: इस बार काफी अलग होगा देश 72 वां गणतंत्र दिवस समारोह, जानें परेड की टाइमिंग और सबकुछ

    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    English summary
    On Republic Day, the President, who is the First Citizen of the country attends the event and unfurls the flag. It is celebrated at Rajpath in the national capital followed by parades, a tableau of the states, artillery display, etc.
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X