• search
दिल्ली न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

'गैस की नॉब खुली, अंदर आते ही लाइटर ना जलाएं...', अजीब सुसाइड नोट लिख मां ने 2 जवान बेटियों के साथ दी जान

|
Google Oneindia News

नई दिल्ली, 22 मई: दिल्ली के वसंत विहार में एक सुसाइ़ड के केस के बाद पूरा इलाका दहशत में आ गया है। दक्षिण-पश्चिम दिल्ली के वसंत विहार इलाके में एक फ्लैट के अंदर शनिवार (21 मई) को देर शाम एक ही परिवार के मां और दो जवान बेटियां मृत पाई गई हैं। दिल्ली पुलिस ने कहा है कि जांच की कार्यवाही शुरू कर दी गई है। वसंत विहार में कल एक घर से तीन शव बरामद होने के बाद किसी का कोई आरोप नहीं है। एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि शनिवार (21 मई) को रात 8.55 बजे पुलिस को सूचना मिली कि वसंत विहार स्थित वसंत अपार्टमेंट का फ्लैट नंबर 207 अंदर से बंद है और घर के लोग कोई जवाब नहीं दे रहे हैं। पुलिस को घर के अंदर अजीब सा सुसाइड नोट भी बरामद हुआ है।

वसंत विहार में मां और 2 जवान बेटियों ने कैसे दी जान

वसंत विहार में मां और 2 जवान बेटियों ने कैसे दी जान

डीसीपी साउथ वेस्ट के मुताबिक दिल्ली पुलिस को पीसीआर से फोन आया कि वसंत अपार्टमेंट सोसाइटी के एक कमरे में अंदर से ताला लगा हुआ है और लोग दरवाजा नहीं खोल रहे हैं। दिल्ली पुलिस ने दरवाजा तोड़ा तो घर में तीन लाशें मिलीं। मंजू और उसकी दो बेटियों अंशिका और अंकू के शव भीतरी कमरे में बिस्तर पर मिले थे। पुलिस को आशंका है कि तीनों की मौत दम घुटने से हुई है। मौके से एक सुसाइड नोट बरामद हुआ है। अधिकारी ने कहा, पुलिस ने दरवाजा खोलने में कामयाबी हासिल की और पाया कि घर में गैस सिलेंडर आंशिक रूप से खुला था और एक सुसाइड नोट भी था।

'घर को पॉलीथिन से पैक कर गैस चैंबर बना दिया...'

'घर को पॉलीथिन से पैक कर गैस चैंबर बना दिया...'

पुलिस को घर के अंदर एक अजीब सुसाइड नोट भी मिला है। घर के अंदर मिले एक नोट के आधार पर मिली जानकारी के अनुसार महिलाओं ने घर को पॉलीथिन से पैक कर घर को गैस चैंबर बना लिया। ये आत्महत्या से से मरने की उनकी योजना का हिस्सा था। उन्होंने खिड़कियों को पॉलिथीन से ढक दिया, बाहर का रोशनदान भी पैक किया हुआ था।

'घर में आते ही माचिस न जलाएं...'

'घर में आते ही माचिस न जलाएं...'

मां और दोनों बेटियों ने घर में जो सुसाइड नोट लिखा था, उसमें लिखा था- 'घर में आते ही माचिस न जलाएं...।' जैसे ही पुलिस ने घर में प्रवेश किया, उन्हें एक नोट मिला, जिसमें लिखा था, "बहुत अधिक घातक गैस, दरवाजा खोलकर माचिस या लाइटर न जलाएं, घर बहुत खतरनाक जहरीली गैस से भर गया है।" बता दें कि यह नोट आग की किसी भी घटना से बचने के लिए लिखा गया था।

शव कमरे के अंदर बिस्तर पर पड़े थे

शव कमरे के अंदर बिस्तर पर पड़े थे

अंदर के कमरे की तलाशी लेने पर तीन लाशें बिस्तर पर पड़ी मिलीं और कमरे में तीन छोटी-छोटी अंगीठी रखी हुई थीं। पुलिस उपायुक्त (दक्षिण पश्चिम) मनोज सी ने कहा कि ऐसा माना जा रहा है कि उनकी मौत दम घुटने से हुई है। पुलिस ने शवों को पोस्टमॉर्टम के लिए ले लिया। आगे की जांच की जा रही है।

महिला के पति की कोरोना से हो गई थी मौत

महिला के पति की कोरोना से हो गई थी मौत

पुलिस ने कहा कि महिला के पति की अप्रैल 2021 में कोरोना के कारण मृत्यु हो गई थी और तब से परिवार अवसाद में था। पत्नी मंजू बीमारी के कारण बिस्तर पर पड़ी थी। पुलिस ने बताया कि मृतकों की पहचान मंजू और उनकी बेटियों अंशिका और अंकू के रूप में हुई है।

ये भी पढ़ें-'ये हैवान तो नहीं?', टावर ऑफ लंदन में खौफनाक हाथ देख हालत खराब, इंसानों की तुलना में था काफी बड़ाये भी पढ़ें-'ये हैवान तो नहीं?', टावर ऑफ लंदन में खौफनाक हाथ देख हालत खराब, इंसानों की तुलना में था काफी बड़ा

Comments
English summary
Woman, 2 Daughters lost lives Delhi Vasant Vihar incident inside story
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X