• search
दिल्ली न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

दिल्ली हिंसा की आरोपी नताशा नरवाल को पिता के अंतिम संस्कार में शामिल होने के लिए मिली अंतरिम जमानत

|

नई दिल्ली, 10 मई। पिंजरा तोड़ की कार्यकर्ता और दिल्ली हिंसा की आरोपी नताशा नरवाल को अंतरिम जमानत मिल गई है। दिल्ली हाई कोर्ट ने पिता के अंतिम संस्कार में शामिल होने के लिए उन्हें अंतरिम जमानत दी है। मालूम हो कि नताशा नरवाल के पिता महावीर नरवाल का रविवार को कोरोना के कारण निधन हो गया था और आज उनका अंतिम संस्कार होना है।

    Delhi Violence Case: आरोपी Natasha Narwal को मिली अंतरिम जमानत | वनइंडिया हिंदी

    Natasha Narwa
    पिछले साल फरवरी में उत्तरी दिल्ली में हुए दंगों की पूर्वनियोजित साजिश रचने के लिए नताशा नरवाल पर पिछले साल गैरकानूनी गतिविधि रोकथाम अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया गया था और पिछले साल की मई से ही वह तिहाड़ जेल में बंद हैं।

    यह भी पढ़ें: भारत-चीन के बीच 10वें दौर की कोर कमांडर वार्ता जारी, डिसएंगेजमेंट को आगे बढ़ाने पर चर्चा

    उनके पिता महावीर नरवाल सीपीआईएम के वरिष्ठ सदस्यों में से एक थे। सूत्रों ने बताया कि उनके पिता को मरने से पहले अपनी बेटी से बात तक नहीं करने दी गई। नताशा के परिजनों ने बताया कि नताशा का भाई आकाश, जिसका कोरना वायरस टेस्ट पॉजिटिव आया है अंतिम क्षणों में पिता के साथ था। नताशा और उनके जैसे अन्य उदाहरणों को लेकर कई वामपंथी कार्यकर्ता व नागरिक समूह लंबे समय से मांग कर रहे हैं कि राजनीतिक कैदियों को रहा किया जाए। मुख्य रूप से ऐसे समय में जब देश कोरोना की दूसरी लहर का सामना कर रहा है।

    हाई कोर्ट ने नताशा को जमानत देते हुए कहा कि नताशा के पिता के अंतिम संस्कार के लिए परिवार में अभी कोई सदस्य नहीं है, पिता का पार्थिव शरीर अस्पताल में रखा हुआ है। इसलिए उन्हें अंतरिम जमानत दी जानी चाहिए।दरअसल नताशा के वकील ने कोर्ट के सामने कहा कि नताशा की मां का 15 साल पहले ही निधन हो चुका है और उनके भाई कोरोना से संक्रित हैं।

    कोर्ट ने नताशा के वकील द्वारा पेश किए गए तथ्यों को देखकर नताशा को जमानत देने का फैसला सुनाया। कोर्ट ने कहा कि न्याय के हित को ध्यान में रखते हुए, हमारा मानना है कि दुख और व्यक्तितगत हानि के इस समय और मामले के तथ्यों को देखते हुए रिहाई आवश्यक है।

    दिल्ली पुलिस ने भी नताशा की जमानत याचिका का विरोध नहीं किया है। हालांकि नताशा को जेल अधीक्षक को संतुष्टि के लिए 50 हजार रुपए की रशि का व्यक्तिगत बांड और अपना फोन दिल्ली पुलिस और रोहतक पुलिस के एसएचओ को सौंपने के निर्देश दिए गए हैं, जिनके अधिकार क्षेत्र में महावीर नरवाल का अंतिम संस्कार होना है।इसके अलावा नताशा को इस दौरान किसी से बातचीत न करने और किसी भी प्रकार का ट्वीट न करने के लिए भी कहा गया है।

    English summary
    Natasha Narwal, accused of Delhi violence, gets interim bail to attend father's funeral
    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X