• search
दिल्ली न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

दिल्‍ली के माउंट कार्मेल स्कूल ने कैंपस में बनाया 100 बेड का कोविड केयर सेंटर, नेक पहल करने वाला पहला School

|

नई दिल्ली, 11 मई: दिल्ली में कोरोना संक्रमितों की संख्‍या अधिक होने के कारण मरीजों को अस्‍पताल में बेड नहीं मिल रहा है। कई मरीज समय पर इलाज न मिल पाने के कारण दम तोड़ दे रहे हैं। ऐसे में दिल्ली के एक प्राइवेट स्कूल ने अपने कैंपस में कोरोना केयर सेंटर बदल दिया है। ये नेक पहल दिल्‍ली के माउंट कार्मेल स्कूल ने सोमवार को की है।

school

स्‍कूल कैंपस में 100 बेड का कोविड केयर सेंटर

स्‍कूल कैंपस में 100 बेड का कोविड केयर सेंटर बनाया गया है। दिल्‍ली के सेक्टर 22, द्वारका में स्‍कूल कैंपस में शुरू किया गया ये कोविड केंद्र, न केवल भारत में बल्कि विदेशों से भी चर्चों के स्वयंसेवकों द्वारा संचालित किया गया जा रहा है। कोरोना मरीजों को इलाज संबंधी सभी सुविधाएं मिल सके इसके लिए इस सेंटेर में सभी जरूरी प्रबंध किए जा रहे हैं। ऑक्सीजन प्‍लांट दक्षिण कोरिया से भेजा गया है। इस सप्ताहांत तक, एक ऑक्सीजन रिफिलिंग प्लांट भी स्थापित किया जाएगा। वहीं सोमवार डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने सोमवार को स्कूल का दौरा किया और इस परियोजना को मानवता का प्रतीक बताया।

माउंट कार्मेल स्‍कूल संस्‍थापक का कोरोना से निधन

स्कूल के संस्थापक वी के विलियम्स ने इसकी शुरूआत की थी, लेकिन सोमवार को इसका उद्घाटन देखने के लिए नहीं थे। 83 वर्षीय विलियम्‍स का कोरोना के चलते 2 मई को मौत हो गई थी। ये कोविड केंद्र उनके नाम पर है। माउंट कार्मेल में हल्के या मध्यम लक्षणों वाले कोविड पॉजिटिव व्यक्तियों को ही रखा जा रहा है। जबकि स्कूल के सभागार में 50 बेड लगाए गए ह हैं, शेष 50 बेड स्‍कूल की 10 कक्षाओं में हैं, एक कमरे में पांच लगाए गए हैं। । रोगियों की देखभाल उन डॉक्टरों द्वारा की जाएगी जो भारत के विभिन्न हिस्सों से आए हैं ये 70 से अधिक नर्सिंग छात्रों और पैरामेडिक्स हैं।

मरीजों को भोजन भी दिया जा रहा

विलियम के बहनोई सुनील गोकवी, केंद्र में चिकित्सा सुविधाओं की देखरेख कर रहे हैं। बाहरी डॉक्टरों के लिए रहने की सुविधा भी की गई है। माउंट कार्मेल स्कूलों के डीन माइकल विलियम्स ने कहा, "वे यहां 2-3 महीने के लिए रहेंगे।" वहीं अक्षय पात्र फाउंडेशन मरीजों के लिए भोजन की सहायता कर रहा है।" उन्‍होंने बताया कि अभी के लिए, यह सुविधा आपात स्थिति के प्रबंधन के लिए द्वारका के वेंकटेश्वर अस्पताल और उत्तरी दिल्ली के सेंट स्टीफन अस्पताल से जुड़ी है।

ऐसे आया कोविड सेंटर बनाने का विचार
विलियम्स की मां खुद कोविड से उबर रही हैं, जबकि उन्होंने अपने छोटे भाई को पिछले नवंबर के प्रकोप में खो दिया था।विलियम्स ने कहा, "यह विचार छह सप्ताह पहले आया था। हम, विभिन्न चर्चों के दोस्त, प्रार्थना करने के लिए हर महीने मिलते हैं। हमारी एक बैठक में, हमने सोचा कि हम महामारी में क्या कर सकते हैं। कई ईसाई डॉक्टरों और नर्सों को देखते हुए, हमने " कोविड से प्रभावित लोगों के लिए एक देखभाल केंद्र स्‍थापित करने के लिए डीन ने कहा, "यदि आवश्यक हो तो हम अधिक कक्षाओं को जोड़ सकते हैं। पुरुषों और महिलाओं को अलग-अलग मंजिलों पर रखा गया है। "

English summary
Mount Carmel School founder passed away from Corona, 100-bed Covid Care Center built on campus
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X