• search
दिल्ली न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

जानिए सीरियल किलर डॉक्टर देवेंद्र के बारे में, टैक्सी चालकों की हत्या कर मगरमच्छ के आगे फेंक देता था वो

|

दिल्ली। आज हम आपको एक ऐसे डॉक्टर के बारे में बताने जा रहे है जो बीएएमएस डॉक्टरी को छोड़कर सीरियल किलर बन गया। सीरियल किलर बनने के बाद उसने एक या दो नहीं, करीब 100 लोगों की हत्या कर उन्हें मगरमच्छों का भोजन बना दिया। जी हां, डॉक्टर से सीरियल बनने वाले शख्य का नाम है देवेंद्र शर्मा। देवेंद्र शर्मा उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ जिले स्थित पुरेनी गांव का रहने वाला है। सीरियल किलक देवेंद्र शर्मा (62) को पिछले दिनों ही क्राइम ब्रांच पुलिस ने पकड़ा था। वह किडनी केस में पिछले 16 साल से सजा काट रहा था और अब परोल पर बाहर था।

    Delhi Police के हत्थे चढ़ा 100 से ज्यादा लोगों के मर्डर करने वाला सीरियल किलर डॉक्टर |वनइंडिया हिंदी
    डॉक्टर से ऐसे बना सीरियल किलर

    डॉक्टर से ऐसे बना सीरियल किलर

    अलीगढ़ जिले के रहने वाले देवेंद्र शर्मा (62) ने साल 1984 में आर्युवेदिक मेडिसिन में अपनी ग्रेजुएशन पूरी की थी। आर्युवेदिक मेडिसिन में ग्रेजुएशन पूरी करने के बाद देवेंद्र शर्मा ने राजस्थान में क्लीनिक खोल लिया। फिर 1994 में उसने गैस एजेंसी के लिए एक कंपनी में 11 लाख का निवेश किया। लेकिन कंपनी अचानक गायब हो गई। फिर नुकसान के बाद उसने 1995 में फर्जी गैस एजेंसी खोल ली। शर्मा ने एक गैंग बनाया जो एलपीजी सिलेंडर लेकर जाते ट्रकों को लूट लेता। इसके लिए वे लोग ड्राइवर को मार देते और ट्रक को भी कहीं ठिकाने लगा देते। इस दौरान उसने गैंग के साथ मिलकर करीब 24 मर्डर किए।

    किडनी ट्रांसप्लांट गिरोह में हुआ शामिल

    किडनी ट्रांसप्लांट गिरोह में हुआ शामिल

    इसके बाद देवेंद्र शर्मा किडनी ट्रांसप्लांट गिरोह में शामिल हो गया। उसने सात लाख प्रति ट्रांसप्लांट के हिसाब से 125 ट्रांसप्लांट करवाए। इतना ही नहीं, देवेंद्र शर्मा ने चार राज्यों को अपना निशाना बना लिया था, जिनमें दिल्ली, हरियाणा, उत्तर प्रदेश और राजस्थान शामिल थे। दरअसल, देवेंद्र शर्मा टूरिस्ट बन कर कार किराए पर लेता था और किसी सुनसान रास्ते पर टैक्सी ड्राइवर को पीट-पीटकर मार देता था। हत्या करने के बाद उनकी टैक्सी चोरी कर लेता था। वहीं, चालक के शव को कासगंज स्थित जी हजारा नहर में मगरमच्छ के आगे फेंक दिया करता था। वहीं, कैब को यूजड कार बताकर बेच दिया जाता था।

    2004 में पुलिस ने पकड़ा था

    2004 में पुलिस ने पकड़ा था

    देवेंद्र शर्मा को 2004 में पकड़ा गया और 16 साल जयपुर जेल में रहा। फिर अच्छे बर्ताव के लिए उसे जनवरी 2020 को 20 दिन की परोल मिली। लेकिन वह भाग गया और अंडर ग्राउंड हो गया। फिर वह दिल्ली के मोहन गार्डन में छिपकर रहने लगा। यहां वह एक बिजनसमैन को चूना लगाने वाला था। लेकिन पुलिस को उसके यहां होने की भनक लगी और आखिर में उसे पकड़ लिया गया। पूछताछ में देवेंद्र शर्मा ने चौंकाने वाली जानकारी दी है। उसने बताया कि 50 कत्ल के बाद वह मर्डस की गिनती भूल गया था। अब उसने माना है कि अबतक वह 100 से ज्यादा लोगों की जान ले चुका है, जिसमें से ज्यादातर को उसने यूपी की एक नहर में मौजूद मगरमच्छ का खाना बना दिया था।

    शादी कर दिल्ली में छुपा था सीरियल किलर

    शादी कर दिल्ली में छुपा था सीरियल किलर

    पुलिस के मुताबिक आरोपी जयपुर सेंट्रल जेल में हत्या के आरोप में आजीवन कारावास की सजा भुगत रहा था। इसी दौरान पैरोल पर वह बाहर आया था, लेकिन वापस जेल नहीं लौटा। हत्यारा देवेंद्र शर्मा पैरोल पर फरार होने के बाद गुपचुप तौर पर शादी कर के दिल्ली में छिपकर रह रहा था। इतना ही नहीं, उसके खिलाफ अपहरण और हत्या के दर्जनों मामले दिल्ली, उत्तर प्रदेश, हरियाणा और राजस्थान में 2002 के बाद दर्ज हुए थे, जिनमें कई केस में उसे आजीवन कारावास की सजा हुई थी।

    ये भी पढ़ें:- अजीज दोस्त विक्की ने ही दिया था घटना को अंजाम, टाइल्स फैक्ट्री में गढ्ढा खोदकर दबाया था शव

    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    English summary
    Know about serial killer doctor Devendra Sharma
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X