• search
दिल्ली न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

किसी को भी उसकी इच्‍छा के बिना कोरोना-वैक्‍सीन लगाने के लिए बाध्‍य नहीं कर सकते: सरकार

|
Google Oneindia News

नई दिल्‍ली। कोरोना महामारी से बचाव के लिए भारत में वैक्‍सीन के लोगों को 150 करोड़ से ज्‍यादा डोज दिए जा चुके हैं। हालांकि, अभी भी बहुत से लोग ऐसे हैं जिन्‍हें वैक्‍सीन नहीं लगी। इस पर सुप्रीम कोर्ट ने चिंता जताई है, और सरकार से स्‍पष्‍टीकरण मांगा गया तो सरकार ने कहा है कि केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा जारी किए गए कोविड टीकाकरण दिशा-निर्देश किसी व्यक्ति की सहमति के बिना जबरन टीकाकरण की परिकल्पना नहीं करते। यानी किसी को भी उसकी इच्‍छा के बिना जोर-जबरदस्‍ती से वैक्‍सीन नहीं लगाई जा सकती।

विकलांगों को घर जाकर वैक्‍सीन लगाने की एसओपी अभी नहीं

विकलांगों को घर जाकर वैक्‍सीन लगाने की एसओपी अभी नहीं

विकलांग व्यक्तियों को टीकाकरण प्रमाण पत्र बनाने से छूट देने के मुद्दे पर, केंद्र सरकार ने सुप्रीम कोर्ट को बताया कि, इस बारे में उसने कोई एसओपी जारी नहीं की है, जो किसी भी उद्देश्य के लिए टीकाकरण प्रमाण पत्र ले जाना अनिवार्य करती है। केंद्र ने यह बात अपने हलफनामे में गैर सरकारी संगठन इवारा फाउंडेशन की एक याचिका के जवाब में कही है, जिसमें विकलांग व्यक्तियों के लिए घर-घर जाकर प्राथमिक तौर पर कोविड-टीकाकरण की मांग की गई है।

किसी को भी उसकी इच्‍छा के बिना इंजेक्‍शन नहीं लगा सकते

किसी को भी उसकी इच्‍छा के बिना इंजेक्‍शन नहीं लगा सकते

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा दायर हलफनामे में कहा गया है, "यह बता दिया जाए कि कि भारत सरकार और स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा जारी निर्देश और दिशानिर्देश संबंधित व्यक्ति की सहमति प्राप्त किए बिना किसी भी तरह से जबरन टीकाकरण की परिकल्पना नहीं करते हैं। हालांकि, यह भी जाहिर है कि मौजूदा महामारी की स्थिति को देखते हुए कोविड के लिए टीकाकरण सार्वजनिक हित में ही है।"
मंत्रालय ने कहा कि, "विभिन्न प्रिंट और सोशल मीडिया प्लेटफार्मों के माध्यम से यह विधिवत सलाह दी जाती है, कि सभी नागरिकों को टीकाकरण करवाना चाहिए और इसकी सुविधा के लिए कई प्रणालियों और प्रक्रियाओं को डिजाइन किया गया है।"

बंगाल के गंगासागर मेले में उमड़े लाखों लोग, उड़ीं नियमों की धज्जियां, कोरोना संक्रमण का खतरा बढ़ाबंगाल के गंगासागर मेले में उमड़े लाखों लोग, उड़ीं नियमों की धज्जियां, कोरोना संक्रमण का खतरा बढ़ा

अब तक 150 करोड़ से ज्‍यादा वैक्‍सीन के डोज दिए जा चुके

अब तक 150 करोड़ से ज्‍यादा वैक्‍सीन के डोज दिए जा चुके

सरकार ने स्‍पष्‍ट कहा, "हालांकि, किसी भी व्यक्ति को उसकी इच्छा के खिलाफ टीकाकरण के लिए मजबूर नहीं किया जा सकता है।," भारत सरकार की वेबसाइट पर दिए गए डेटा के अनुसार, अब तक देशभर में लोगों को वैक्‍सीन की 1,57,20,41,825 डोज दी जा चुकी हैं। जिसमें से 39,46,348 बीते 24 घंटे में दी गईं।

Comments
English summary
govt says in SC- No person can be forced to get vaccinated against their wishes
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X
Desktop Bottom Promotion