• search
दिल्ली न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

दिल्ली हाई कोर्ट से आप विधायक को राहत, ऑक्सीजन जमाखोरी के आरोप की याचिका खारिज

|

नई दिल्ली, मई 13: कोरोना की दूसरी के बाद अचनाक देश भर के साथ राजधानी दिल्ली में ऑक्सीजन का संकट आ गया था। ऐसे में ऑक्सीजन के लिए मारामारी के बीच लोग ब्लैक मार्केटिंग करने लगे। जिसके बाद आम आदमी पार्टी के विधायक इमरान हुसैन पर भी दिल्ली हाई कोर्ट में एक याचिका दाखिल कर ऑक्सीजन जमाखोरी का आरोप लगाया गया था, जिसको दिल्ली हाई कोर्ट ने खारिज कर दिया है।

Delhi HC

दिल्ली हाई कोर्ट ने एमिकस क्यूरी के हवाले से रिकॉर्ड किया कि उसने दस्तावेजों की जांच की है और ऐसा प्रतीत होता है कि हुसैन ने किराए पर 10 सिलेंडर लिए थे और उन्हें रिफिल कर दिया था, जिस पर चालान उठाए गए थे।इससे पहले ऑक्सीजन सिलेंडर जमाखोरी को लेकर दिल्ली हाई कोर्ट ने दिल्ली सरकार के मंत्री इमरान हुसैन से सवाल पूछे थे।

ऑक्सीजन कंसन्ट्रेटर्स केस में दिल्ली के बिजनेस मैन नवनीत कालरा को झटका, अग्रिम जमानत अर्जी खारिजऑक्सीजन कंसन्ट्रेटर्स केस में दिल्ली के बिजनेस मैन नवनीत कालरा को झटका, अग्रिम जमानत अर्जी खारिज

कोर्ट ने हुसैन के वकील से पूछा कि वो ऑक्सीजन के सिलेंडर कहां से लेकर आए थे। अदालत ने दिल्ली सरकार से भी पूछा कि क्या इमरान हुसैन को 'रिफिलर' के जरिए ऑक्सीजन की सप्लाई की गई थी। इस दौरान कोर्ट ने हुसैन से संबंधित दस्तावेज भी जमा कराने के लिए कहा था। वहीं विधायक इमरान हुसैन ने हाई कोर्ट में यह भी दावा किया था कि 10 ऑक्सीजन सिलेंडर दिल्ली से किराए पर लिए और फरीदाबाद से भराकर लोगों के बीच ऑक्सीजन बांटी थी। जिस पर हाई कोर्ट ने कहा था कि कोई अपने संसाधनों से चीजें जुटाकर जनता के बीच बांट रहा है तो इसे जमाखोरी नहीं कहा जा सकता।

English summary
Delhi HC dismisses plea alleging hoarding of oxygen cylinders by AAP MLA Imran Hussain
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X