• search
दिल्ली न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

दिल्‍ली में कोरोना से हुई मौत के आधे आंकड़े ही हुए हैं दर्ज, अंतिम संस्‍कार की कुल संख्‍या से हुआ ये खुलासा

|
Google Oneindia News

नई दिल्‍ली, 8 मई: कोरोना महामारी की दूसरी लहर में देश भर में कोहराम मचा हुआ है। हर दिन कोरोना से हो रही मौतों के आंकड़े देखकर लोग खौफ में जी रहे हैं। वहीं देश की राजधानी दिल्‍ली में कोरोना की दूसरी लहर में कोविड मौतों में जबरदस्‍त उछाल देखा जा रहा है। शमशान घाट पर हुए अंतिम संस्‍कारों के आंकड़ों पर गौर करें तो वास्‍तविक सच्‍चाई कुछ और ही सामने निकल कर आई है। दिल्ली में संकेत मिलता है कि संक्रमित लोग या तो घर पर मर रहे हैं या इससे पहले कि उनकी पॉजिटिव होने की पुष्टि हो। जिन लोगों के अंतिम संस्कार हुए उसमें 166% उछाल देखा गया है लेकिन कोविड की मृत्यु के आधे से कम सूचीबद्ध हुए है जिससे पता चलता है कि दिल्ली में कोरोना से मरने वालो की संख्‍या वास्‍तविकता में बहुत अलग है।

delhi

दिल्‍ली में अप्रैल माह में कोरोना की दूसरी लहर में रिकॉर्ड तोड़ कोरोना संक्रमितों केस आने के बाद अंतिम संस्कार की संख्या बढ़कर 18,169 हो गई, जिसमें 8,693 की कोविड के कारण और 9,476 की अन्‍य कारणों से मौत हुई थी। मार्च और अप्रैल के बीच, कोविड के शवों के अंतिम संस्कार की संख्या में 1600 प्रतिशत से अधिक की वृद्धि हुई। लेकिन गैर-कोविड की अंत्येष्टि की संख्या में भी 42 प्रतिशत से अधिक की वृद्धि हुई।

नगर निगम के आंकड़ों बयां करते हैं ये सच्‍चाई

राष्ट्रीय राजधानी (पूर्व, दक्षिण, उत्तर) में नागरिक मामलों का प्रबंधन करने वाले तीन नगर निगमों के आंकड़ों के अनुसार दिल्‍ली में फरवरी में, जब भारत में कोरोना पॉजिटिव केस में भारी गिरावट दर्ज की गई तब राजधानी में 7,111 अंतिम संस्कार दर्ज किए गए जिसमें - 53 कोविड रोगियों के शव थे और गैर-कोविड शव 7,058 दर्ज किए गए। मार्च में, अंतिम संस्कारों की संख्या 6,821 थी जिसमें 130 कोविड और 6,691 गैर-कोविड लोग थे।

मार्च अप्रैल का आंकड़ा

इसके अलावा, जबकि मार्च में अप्रैल में कुल मिलाकर 166 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज हुई है - 6,821 से 18,169 कोविड की मृत्यु के रूप में दिल्ली सरकार के आधिकारिक स्वास्थ्य बुलेटिन में 11,348 की वृद्धि के केवल 5,120 रिकॉर्ड है यह शेष 6,228 मौतों के कारण के बारे में सवाल उठाता है।

घर पर मर रहे लोगों की मौत कैसे हुई, ये नहीं है स्‍पष्‍ठ

इससे पता चलता है कि दूसरी कोविड लहर को कोरोनोवायरस मौतों में केवल एक उछाल द्वारा चिह्नित नहीं किया गया है, बल्कि यह भी कि कई कोविड रोगी घर पर मर रहे हैं और महामारी के कारण होने वाली मौतों में नहीं गिने जा रहे हैं, पुष्टि होने से पहले बिना इलाज के मर रहे हैं।

एंजेसियों ने गिनाए ये कारण

नागरिक एजेंसियों के अधिकारी बाद की श्रेणी में तेजी के विभिन्न कारण बताते हैं। वे कहते हैं कि श्मशान और दफन स्थलों पर गैर-कोविड के रूप में वर्गीकृत मौतों में वे लोग शामिल हैं जिनके कोरोनोवायरस लक्षण थे, लेकिन या तो उनका परीक्षण नहीं किया गया था या एक गलत नकारात्मक परीक्षा परिणाम प्राप्त हुआ था!

कुछ कोविड रोगियों के परिजन अस्पताल के बिस्तर को खोजने में असफल होने के बाद, घर पर ठीक होने की कोशिश कर रहे हैं! एक अन्य संभावित कारण वे बताते हैं कि "गैर-कोविड चिकित्सा स्थितियों (जैसे कि कैंसर, किडनी की विफलता) के लिए वर्तमान में समय पर इलाज नहीं मिल पा रहा है जिसके कारण भी मौत का आंकड़ा बढ़ा है।
दिल्ली की महानिदेशक स्वास्थ्य सेवा डॉ। नूतन मुंडेजा ने कहा, "वृद्धि पिछले दो महीनों में हुई है और महीने-दर-महीने भिन्नता हो सकती है"।उन्होंने कहा, "लेकिन ये सच है कि व 2020 में कुल मौतें (महामारी का पहला वर्ष) 2019 में होने वाली कुल मौतों की तुलना में कम थीं।"

उत्‍तर प्रदेश में एक दिन में सामने आए 26847 में नए कोरोना पॉजिटिव मामले, 298 लोगों की गई जानउत्‍तर प्रदेश में एक दिन में सामने आए 26847 में नए कोरोना पॉजिटिव मामले, 298 लोगों की गई जान

दिल्ली के आधिकारिक स्वास्थ्य बुलेटिन के अनुसार, शहर में फरवरी में 53 कोविड की मृत्यु (फरवरी 8 और 28 के लिए आधिकारिक संख्या में सूचीबद्ध नहीं), मार्च में 114 और अप्रैल में 5,120 दर्ज की गई। तीन नागरिक एजेंसियों और तीन महीने के लिए स्वास्थ्य बुलेटिन से मौत के आंकड़ों में विसंगतियां है। हालांकि, दिल्ली सरकार के अधिकारियों ने पहले ऐसे मतभेदों पर इंगित किया है।

https://www.filmibeat.com/photos/tamannaah-13208.html?src=hi-oiTamannaah की लेटेस्ट तस्वीरों ने मचाया तहलका, देखें Hot Pics

English summary
Delhi have been listed Only half the figures of corona deaths, Delhi’s real toll is higher
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X