• search
दिल्ली न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

ऑक्सीजन कंसंट्रेटर कालाबाजारी केस: दिल्ली कोर्ट ने 4 आरोपियों को दी जमानत

|

नई दिल्ली, मई 12: कोरोना की दूसरी लहर के बीच अचानक आए ऑक्सीजन संकट में कुछ लोगों ने ऑक्सीजन कंसंट्रेटर की कालाबाजारी करना शुरू कर दिया था। ऐसे में दिल्ली पुलिस के रडार पर मशहूर खान चाचा रेस्टोरेंट के मालिक आया। इस मामले में अब साकेत कोर्ट ने चार आरोपियों सतीश सेठी, गौरव सूरी, गौरव खन्ना, विक्रांत को जमानत दे दी है। चारों को आरोपियों को 50 हजार के निजी मुचलके पर रिहा किया है।

oxygen concentrator

वहीं खान चाचा रेस्टोरेंट के मालिक आरोपी नवनीत कालरा की अग्रिम जमानत याचिका पर गुरुवार यानी कल (13 मई) को फैसला सुनाएगी। दरअसल, दिल्ली पुलिस ने 5 मई को लोधी रोड सेंट्रल मार्केट के नेगे एंड जू बार में छापेमारी कर 32 ऑक्सीजन कंसन्ट्रेटर बरामद किए थे। वो कोरोना काल में लोगों की मजबूरी का फायदा उठाकर 18 हजार के कंसेंट्रेटर को 50 हजार से लेकर 70 हजार तक बेच रहा था। पुलिस ने वहां से चार लोगों को गिरफ्तार भी किया था।

दिल्ली: खान मार्किट में ऑक्सीजन की ब्लैक मार्केटिंग के मुख्य आरोपी नवनीत कालरा का ऑडियो क्लिप आया सामनेदिल्ली: खान मार्किट में ऑक्सीजन की ब्लैक मार्केटिंग के मुख्य आरोपी नवनीत कालरा का ऑडियो क्लिप आया सामने

इस पूरे मामले में नवनीत कालरा के बाद गगन दुग्गल का नाम भी सामने आया, जो लंदन में रहता है और कालरा का पार्टनर है। गगन मैट्रिक्स सेलुलर कंपनी का ऑनर है, जो सिम कार्ड बनाने का काम करती है। वहीं मैट्रिक्स सेलुलर कंपनी का इंडिया में गौरव खन्ना काम संभलता है। इस दौरान इस बात का भी खुलासा हुआ था कि मैट्रिक्स सेलुलर कंपनी के नाम से ही ऑक्सीजन कंसंट्रेटर भारत में चीन से मंगाए गए थे, जिसके बाद पुलिस ने गौरव खन्ना को गिरफ्तार किया था।

English summary
delhi court on oxygen concentrator Blackmarketing case ceo gaurav khanna bail
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X