• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

उत्तराखंड: सेना ने 10 लागों के शव किए बरामद, 384 लोगों को सुरक्षित बचाया गया

|
Google Oneindia News

देहरादून, 24 अप्रैल। भारतीय सेना ने कहा है कि, 'अभी तक 10 शव बरामद हुए हैं और अभी तक कुल 384 लोगों को बचाया जा चुका है। 8 लोग अभी भी लापता हैं। इस घटना में अभी तक 6 लोगों के गंभीर रूप से घायल होने की खबर है जिनका इलाज चल रहा है। 4-5 जगहों पर सड़क मार्ग बाधित हो गया है। जोशीमठ से बीआरटीएफ की टीमें बीती शाम से भपकुंड से सुमना तक के मार्ग को साफ करने के लिए काम कर रही हैं। इस स्थान को पूरी तरह साफ करने में अभी 6-8 घंटे का समय लग सकता है।'

वहीं, उत्तराखंड के डीजीपी अशोक कुमार ने कहा कि हिमस्खलन ने ITBP शिविर को कोई नुकसान नहीं पहुंचाया। सेना का कैंप भी सुरक्षित है। दो बीआरओ शिविरों में 430 लोग थे, जिनमें से 384 वापस आ गए हैं। बाकी के लिए खोज जारी है। अब तक कुल 8 शव बरामद किये जा चुके हैं।

    Uttarakhand Glacier Burst: Chamoli जिले में फटा Glacier, 8 की मौत 6 घायल । वनइंडिया हिंदी

    मालूम हो कि उत्तराखंड में भारत-चीन के निकट स्थित चमोली जिले में शुक्रवार रात एक ग्लेशियर फट गया। प्रशासन के मुताबिक इस घटना में अभी तक 8 लोगों के मारे जाने की खबर है। वहीं, भारतीय सेना की मध्य कमान ने बताया कि कल चमोली जिले के जोशीमठ सेक्टर के सुमना क्षेत्र में हुई भारी बर्फबारी के कारण सीमा सड़क संगठन (बीआरओ) का कैंप हिमस्खलन की चपेट में आ गया था, जिसमें से अभी तक 384 लोगों को सुरक्षित निकाल लिया गया है। वहीं, एनडीआरएफ ने कहा है कि ऋषि गंगा नदी में पानी 2 फीट बढ़ गया है।

    Glacier burst

    केंद्र सरकार स्थिति पर नजर बनाए हुए है और सभी बचाव दलों को बचाव कार्यों के लिए अलर्ट कर दिया गया है। वहीं, उत्तराखंड के डीजीपी अशोक कुमार ने कहा, 'हम इस मामले में और अधिक सूचना इकट्ठा करने की कोशिश कर रहे हैं कि कहीं इस घटना में किसी की मौत तो नहीं हुई। खराब मौसम के कारण हम वास्तविक परिस्थिति का पता नहीं लगा पा रहे हैं। स्थिति का जायजा लेने के लिए घटना स्थल पर टीम भेजी जा रही हैं। जिन आईटीबीपी जवानों को इलाके में तैनात किया गया है वे सुरक्षित हैं।'

    यह भी पढ़ें: उत्तराखंड के सीएम का ऐलान, 1 मई से राज्य के अंदर फ्री में लगाई जाएगी वैक्सीन

    बताया जा रहा है कि इलाके में हुई भारी बर्फबारी के कारण ग्लेशियर फटने की घटना हुई है। बॉर्डर रोड टास्क फोर्स के कमांडर कर्नल मनीष कपिल ने मीडिया को बताया जोशीमठ में ग्लेशियर फटने की घटना की सूचना मिलने के बाद सभी बचाव दलों को इसके बारे में सूचित किया गया।

    वहीं घटना को लेकर राज्य के मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने कहा, 'मुझे नीति घाटी के सुमना गांव में ग्लेशियर फटने की खबर मिली है। मैंने अलर्ट जारी कर दिया है और मैं लगातार बीआरटीओ और जिला प्रशासन के संपर्क में हूं।' उन्होंने आगे कहा, 'गृह मंत्री अमित शाह ने भी इस घटना पर तुरंत संज्ञान लिया है और हरसंभव मदद देने का भरोसा दिया है।'

    तीरथ सिंह रावत ने आगे कहा कि जिला प्रशासन को घटना की विस्तृत जानकारी देने को कहा गया है। हमने किसी भी अप्रिय घटना को रोकने के लिए एनटीपीसी और और पनबिजली संयंत्रों को रात में ही काम रोकने का निर्देश दे दिया था।

    English summary
    Broken glacier in Chamoli district of Uttarakhand, 291 people have been evacuated from BRO camp so far
    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X