• search
छत्तीसगढ़ न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

छत्तीसगढ़ के दूरगामी इलाकों बन रहे हैं कोविड केयर सेंटर, लोगों को कोरोना के प्रति किया जा रहा है जागरूक

|

रायपुर। कोरोना की दूसरी लहर से जो राज्य सबसे ज्यादा प्रभावित हैं, उनमें छत्तीसगढ़ का नाम भी शामिल है। छत्तीसगढ़ में 10 अप्रैल के बाद से कोरोना के नए मामलों ने जो रफ्तार पकड़ी है, वो बढ़ती ही जा रही है। शुक्रवार को छत्तीसगढ़ में कोरोना के 14912 नए मरीज मिले थे और 138 मरीजों की मौत हो गई थी। इस बीच सरकार मरीजों के इलाज की सुविधा उपलब्ध कराने के लिए हर संभव पहल कर रही है। राज्य सरकार दुर्गम तथा दूरस्थ अंचल तक स्वास्थ्य सुविधाओं के विस्तार और उसके सुदृढ़ीकरण पर विशेष जोर दे रही है। इनमें आवश्यकता के अनुरूप कोविड केयर सेंटर, क्वारंटाइन सेंटर खोलने समेत टेस्टिंग और वैक्सीनेशन के काम शामिल हैं। इसके अलावा कोरोना से बचाव के लिए भी लोगों को जागरूक किया जा रहा है।

coronavirus

इसी दिशा में काम करते हुए अंचल स्थित ब्लॉक मुख्यालय बगीचा में 150 बेड का अतिरिक्त कोविड केयर सेंटर तैयार किया जा रहा है। यह कोविड केयर सेंटर DAV विद्यालय बगीचा में स्थापित किया जा रहा है। आपको बता दें कि अभी तक इस इलाके में कोरोना संक्रमित मरीजों के इलाज के लिए कोई व्यवस्था नहीं थी। संक्रमित मरीजों के लिए यहां अलग से भवन की जरूरत थी। इसे ध्यान में रखते हुए DAV विद्यालय बगीचा को अतिरिक्त कोविड केयर सेंटर बनाया जा रहा है।

इसी तरह दक्षिण बस्तर (दंतेवाड़ा), कोरबा तथा गरियाबंद जिले में चिकित्सा अधिकारी सहित स्टाफ नर्स आदि पदों में भर्ती भी की जा रही है। इसके तहत कोरोना काल में दक्षिण बस्तर जिले में स्वास्थ्य सुविधाओं को और मजबूत बनाने के लिए अभी 4 डॉक्टरों की नियुक्ति हुई है।

इसके अलावा कोरबा जिले में कोविड अस्पतालों में अस्थाई पदों पर भर्ती के लिए अंतिम चयन सूची जारी कर दी गई है। गरियाबंद जिले में कोविड-19 के संक्रमण से रोकथाम, नियंत्रण तथा आपातकालीन स्थिति से निपटने के लिए चिकित्सा अधिकारी के 5 पद तथा स्टाफ नर्स के 30 रिक्त पद पर आवेदन मंगाए गए हैं।

धमतरी जिले के प्रत्येक गांव में 20-20 वॉलिंटियर्स नियुक्त कर टीकाकरण अभियान चलाया जा रहा है। साथ ही लोगों को टीकाकरण के प्रति प्रेरित भी किया जा रहा है।

    Coronavirus: Single Mask से सिर्फ 40% सेफ्टी, Double Masking बहुत जरूरी | वनइंडिया हिंदी

    कोरबा जिले में कोरोना संक्रमितों के इलाज के लिए तेजी से व्यवस्थाएं की जा रही हैं। यहां वर्तमान में कोविड मरीजों के इलाज के लिए जरूरत से दोगुनी मेडिकल ऑक्सीजन उपलब्ध है। कोरबा जिले में होम आइसोलेशन में रहकर कोरोना से जंग लड़ रहे मरीज बड़ी संख्या में तेजी से ठीक हो हैं।

    ये भी पढ़ें: छत्तीसगढ़ में कोरोना की दूसरी लहर से तबाही, 10 अप्रैल के बाद से हर दिन 100 से अधिक हो रही हैं मौतेंये भी पढ़ें: छत्तीसगढ़ में कोरोना की दूसरी लहर से तबाही, 10 अप्रैल के बाद से हर दिन 100 से अधिक हो रही हैं मौतें

    English summary
    Covid care centers are becoming far-reaching areas of Chhattisgarh
    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X