• search
छत्तीसगढ़ न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

रास्ते में युवक की हो गई मौत तो दोस्त ने कोरोना के डर से फेंक दी लाश, मददगार बनकर सामने आई पुलिस

|
Google Oneindia News

दुर्ग। छत्तीसगढ़ के दुर्ग जिले में इंसानियत को शर्मसार कर देने वाला मामला सामने आया है, जहां एक दोस्त अपने साथी को कोरोना सक्रमित मानकर उसकी लाश बीच सड़क पर छोड़ कर चला गया। युवक की लाश नेशनल हाईवे के किनारे पुलिस ने बरामद की थी। जब पुलिस ने मामले की छानबीन की तो जांच में पता चला कि मृतक झारखंड का रहने वाला है, जिसका नाम विनोद अब्राहम है। वो मुंबई में मजदूरी करता था। लॉकडाउन के दौरान वह अपने साथियों के साथ वहां से झारखंड जाने लिए निकला।

दोस्त ने फेंक दी थी लाश

दोस्त ने फेंक दी थी लाश

इसके बाद रास्ते में वे ट्रक में सवार हो गया। इस बीच अचानक से उसकी तबीयत खराब होने लगी। दुर्ग के अंजोरा बायपास के पास उसकी मौत हो गई। मौत के बाद उसके साथ चल रहे साथियों को लगा कि ये कोरोना वायरस से पीड़ित था। इसी डर के चलते एक दोस्त ने उसके शव को रास्ते में ही फेंक दिया। दुर्ग पुलिस के मुताबिक शव को बरामद करने के बाद उसकी जांच कराई गई। युवक का कोरोना टेस्ट निगेटिव आया।

कोरोना के डर के चलते किया था ऐसा काम

कोरोना के डर के चलते किया था ऐसा काम

इसके बाद बीते सोमवार को दुर्ग पुलिस ने ही स्थानीय नागरिकों के साथ मिलकर शव का अंतिम संस्कार किया। क्योंकि मृतक विनोद अब्राहम के परिजन कोरोना के डर से शव लेने आने के लिए तैयार नहीं थे। आर्थिक रूप से कमजोर मृतक के परिवार वालों को दुर्ग पुलिस ने मदद का आश्वासन भी दिया है। पुलिस को जांच में पता चला कि मृतक के दोस्त निर्मल ने कोरोना दहशत के कारण उसके शव को रास्ते में फेंका था। दुर्ग एसपी अजय यादव ने मामले में मीडिया को जानकारी दी।

मृतक के परिजन आने को तैयार नहीं

मृतक के परिजन आने को तैयार नहीं

एसपी यादव ने मीडिया को बताया कि रेंज के सीएसपी विवेक शुक्ला और थाना प्रभारी राजेश बांगड़ को अंतिम संस्कार की जिम्मेदारी सौंपी गई थी। पुलिस ने मृतक के परिजनों से संपर्क किया, लेकिन कोई भी आने के लिए तैयार नहीं था। इसके बाद उनकी सहमति से मृतक का अंतिम संस्कार दुर्ग में ही कर दिया गया।

पुलिस ने परिजनों को मदद का दिया आश्वासन

पुलिस ने परिजनों को मदद का दिया आश्वासन

पुलिस ने मृतक के एक अन्य दोस्त के मोबाइल नंबर पर वीडियो कॉल कर उसके परिजनों को अंतिम संस्कार की रस्में लाइव दिखाई। परिवार वालों की आर्थिक स्थिति ठीक नहीं बताई जा रही है। इसलिए पुलिस ने उन्हें मदद करने का आश्वासन भी दिया है।

जोधपुर : कोरोना संकट में व्यापारियों ने बदला धंधा, कपड़ों की बजाय बनाने लगे मास्कजोधपुर : कोरोना संकट में व्यापारियों ने बदला धंधा, कपड़ों की बजाय बनाने लगे मास्क

English summary
Chhattisgarh durg man throw dead body of his friend due to coronavirus
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X