• search
चंडीगढ़ न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

हरसिमरत कौर बादल एक बार फिर केंद्रीय मंत्रिमंडल में होंगी शामिल, जानें क्यों मजबूत है दावेदारी

|

चंडीगढ़। मोदी सरकार के संभावित मंत्रिमंडल में पंजाब के बठिंडा से चुन कर आईं हरसिमरत कौर बादल एक बार फिर केंद्रीय मंत्रिमंडल में शामिल होने जा रही हैं। हालांकि, इससे पहले उनके पति फिरोजपुर से चुनाव जीत कर आए सुखबीर बादल को लेकर कयास जारी थी। सुखबीर पंजाब में रह कर ही अगले विधानसभा चुनावों के लिए तैयारियां करना चाहते हैं। यही वजह है कि हरसिमरत कौर का मंत्रीमंडल में शामिल होना तय माना जा रहा है।

भाजपा व अकाली दल को दो-दो सीटें मिली हैं

भाजपा व अकाली दल को दो-दो सीटें मिली हैं

पंजाब में इस बार भाजपा व अकाली दल को दो-दो सीटें मिली हैं। भाजपा के गुरदासपुर से सिने स्टार सनी दियोल चुनाव जीते हैं, तो होशियारपुर सीट से विजेता भाजपा के सोम प्रकाश रहे हैं। वहीं, शिरोमणी अकाली दल से फिरोजपुर से सुखबीर बादल और बठिंडा से हरसिमरत कौर बादल चुनाव जीती हैं। केंद्रीय मंत्रीमंडल में भाजपा के कोटे से सनी देओल या सोम प्रकाश के बीच किसी एक को मंत्री बनाने को लेकर भी चर्चा है। बेशक भाजपा ने इस बार अपनी सीटों में इजाफा किया है, लेकिन ऐसे में मोदी के लिए दो सीटों वाली पार्टी में किसी को कैबिनेट मंत्री बनाने का रास्ता आसान नहीं लग रहा।

हरसिमरत की दावेदारी मजबूत

हरसिमरत की दावेदारी मजबूत

यही वजह है कि हरसिमरत कौर बादल की दावेदारी मजबूत है। हालांकि, सुखबीर सिंह बादल द्वारा फिरोजपुर सीट से भारी बहुमत के साथ जीत का इतिहास सृजन किया है। यदि वह चाहे तो केंद्रीय मंत्रालय में कदम रख सकते हैं, लेकिन वह पंजाब की बागडोर को अपने हाथ से नहीं खोना चाहते और उन्होंने पंजाब में रह कर ही अपनी पार्टी को मजबूत करने का संकल्प दोहराया है। बादल परिवार को भी हरसिमरत कौर बादल के फिर से केंद्रीय कैबिनेट मंत्री बनने की बड़ी उम्मीद है।

​पंजाब के इतिहास में पहला मौका

​पंजाब के इतिहास में पहला मौका

पंजाब के इतिहास में यह पहला मौका होगा कि किसी राजसी परिवार के वारिस पति-पत्नी दोनों देश की सबसे बड़ी संसद लोकसभा में सांसद बन कर पहुंचे हैं। शिरोमणि अकाली दल के प्रधान सुखबीर सिंह बादल व उनकी पत्नी बीबी हरसिमरत कौर बादल इस मामले में इतिहास रचने जा रहे हैं। इससे पहले पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह व उनकी धर्मपत्नी महारानी परनीत कौर को 2014 में एक साथ अमृतसर व पटियाला से चुनाव लड़ने का मौका मिला था, लेकिन महारानी पटियाला से चुनाव हार गई थीं।

पहली बार पति-पत्नी होंगे साथ

पहली बार पति-पत्नी होंगे साथ

पड़ोसी प्रदेश हिमाचल प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह, उनकी पत्नी प्रतिभा सिंह और पंजाब मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह एवं उनकी धर्मपत्नी महारानी परनीत कौर लोक सभा सदस्य जरूर रहे हैं और आज भी हैं, लेकिन बादल परिवार की राजसी जोड़ी को एक साथ मौका मिला है। पंजाब से बहू-ससुर भी मेंबर पार्लियामैंट एक साथ रहे चुके हैं, लेकिन अब पहली बार पति-पत्नी साथ होंगे।

ये भी पढ़ें: पंजाब में मंत्रिमंडल फेरबदल की तैयारी, बदलेगा सिद्धू का विभाग, दो विधायक बनेंगे मंत्री

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Harsimrat Kaur Badal will be in Union cabinet once again
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X