• search
चंदौली न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

दोस्तों ने सिद्धार्थ की हत्या कर बॉडी को घर के पीछे दफनाया, फिर मांगी 20 लाख रुपए की फिरौती

|

चंदौली। उत्तर प्रदेश के चंदौली (Chandauli) जिले में पुलिस ने अपहरण और हत्या के मामले का एक सनसनीखेज और चौंकाने वाला खुलासा किया है। पुलिस ने मामले का खुलासा करते हुए दो युवकों को गिरफ्तार किया है। साथ ही आरोपियों की निशानदेही पर पुलिस ने युवक की डेड बॉडी भी बरामद की है। पुलिस का कहना है कि 15 सितंबर को चंदौली जिले के एक व्यापारी के 20 साल के बेटे की हत्या शराब के नशे में उसके ही दोस्तों ने की थी और डेड बॉडी को अपने घर के पीछे दफना दिया था। इतना ही नहीं, हत्यारों ने अपने आप को बचाने के लिए युवक के अपहरण का झूठा नाटक तक रच डाला।

Chandauli News: friends killed Siddharth and buried him in the house, demanded ransom of 20 lakh

मामला चंदौली सदर कोतवाली के बिछिया कला गांव का है। एसपी हेमंत कुटियाल ने मीडिया को जानकारी देते हुए बताया कि बिछिया गांव का रहने वाला सिद्धार्थ जायसवाल (20) 15 सितंबर को अपने घर से लापता हो गया था। घर वालों ने पहले खुद सिद्धार्थ को खोजने का प्रयास किया। लेकिन जब कोई अता-पता नहीं चला। तो परिजनों ने पुलिस में इसकी शिकायत कर दी। इसी दौरान 17 तारीख को सिद्धार्थ के मोबाइल से उसके छोटे भाई के पास एक मैसेज आया। जिसमें लिखा था कि सिद्धार्थ का अपहरण कर लिया गया है। साथ ही फिरौती की मांग भी की गई थी।

एसपी ने बताया कि मैसेज में फिरौती बीस लाख रुपये मांगी गई थी। सिद्धार्थ के पिता की चंदौली में जनरल स्टोर की दुकान है। अपहरण और फिरौती मांगे जाने के बाद पुलिस भी तत्काल हरकत में आ गई। पुलिस सर्विलांस की मदद तो ले ही रही थी, साथ ही साथ सिद्धार्थ के दोस्तों और जानने वालों से भी पूछताछ कर रही थी। जांच पड़ताल के दौरान पुलिस जब सिद्धार्थ के दोस्त अमित से पूछताछ कर रही थी तो उसी दौरान पुलिस को अमित पर कुछ शक हुआ। पुलिस ने जब अमित से कड़ाई से पूछताछ की तो जो कहानी सामने आई वह काफी हैरान कर देने वाली थी।

जिस दिन सिद्धार्थ घर से लापता हुआ था, उस दिन सिद्धार्थ और उसका दोस्त अमित साथ में बैठकर शराब पी रहे थे। वहां पर अमित का छोटा भाई भी मौजूद था। शराब पीने के दौरान अमित ने सिद्धार्थ को सिगरेट लाने के लिए कहा। लेकिन सिद्धार्थ ने सिगरेट लाने से मना कर दिया। इसी बात को लेकर अमित और सिद्धार्थ में बहस होने लगी और दोनों झगड़ा करने लगे। इसी दौरान अमित और उसके भाई ने मिलकर चाकू से हमला कर सिद्धार्थ की हत्या कर दी और सिद्धार्थ की डेड बॉडी को प्लास्टिक की पन्नी में लपेट कर अपने घर के पीछे अहाते में दफना दिया।

यही नहीं इस पूरे मामले को डायवर्ट करने के लिए 2 दिन बाद अमित यूपी-बिहार के बॉर्डर पर गया और सिद्धार्थ के मोबाइल से आवाज बदल कर सिद्धार्थ के छोटे भाई से बात की और फिरौती की मांग की। पूछताछ के बाद पुलिस ने इस हत्याकांड में शामिल दोनों आरोपियों की निशानदेही पर सिद्धार्थ जायसवाल की डेड बॉडी को बरामद कर लिया। जहां पर इन लोगों ने सिद्धार्थ की हत्या कर उसकी बॉडी को जमीन में दफना दिया था। पुलिस ने दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है।

ये भी पढ़ें:- सरकारी नौकरी में 5 साल संविदा के मुद्दे को डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने बताया अफवाह, कही ये बात

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
friends killed Siddharth and buried him in the house, demanded ransom of 20 lakh
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X