• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

सरकार की बढ़ी चिंता: थोक महंगाई दर नवंबर में बढ़कर 0.58% रही

|

नई दिल्ली। अर्थव्यवस्था में सुस्ती ने मोदी सरकार की चिंता बढ़ा रखी है। महंगाई में लगातार हो रही बढ़ोतरी का असर थोक खुदरा सूचकांक पर भी पड़ा है। थोक खुदरा दर तीन महीने से सबसे उच्चतम स्तर पर पहुंच गया है। सरकारी आंकड़ों के मुताबिक नवंबर में थोक मूल्य सूचकांक (WPI) बढ़कर 0.58 प्रतिशत पर पहुंच गया।

 Wholesale Price Index Raise to 0.58 Percent In November

नवंबर में खुदरा महंगाई दर में तेजी आई और ये 0.58 फीसदी पर रही जो बीते अक्टूबर में 0.16 प्रतिशत, सितंबर में 0.33 प्रतिशत और अगस्त में 1.17 प्रतिशत थी। बीते तीन महीने में पहली बार इजाफा हुआ है। वहीं अगर सालाना आधार पर देखें तो पिछले साल नवंबर 2018 में थोक महंगाई दर 4.47 प्रतिशत थी।

सरकारी आंकड़ों के मुकाबिक खाद्य पदार्थों की थोक महंगाई दर 11 प्रतिशत रही जो अक्टूबर में 9.80 फीसदी थी। वहीं गैर-खाद्य वस्तुओं की महंगाई दर में कमी आई है। गैर-खाद्य सामग्री और विनिर्माण उत्पादों का छोक महंगाई दर अक्टूबर महीने में गिरकर 0.16 प्रतिशत पर आ गई थी।

थोक मूल्य सूचकांक के आंकड़ों के आधार पर नवंबर माह में थोक महंगाई दर बढ़कर 0.58 फीसदी हो गई। आंकड़ों के मुताबिक नवंबर में सब्जियों की थोक महंगाई 38.91% से बढ़कर 45.32% फीसदी हो गई। जबकि दालों की थोक महंगाई 16.57 फीसदी से बढ़कर 16.59 फीसदी हो गई।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Govt of India: The official Wholesale Price Index for 'All Commodities' for the month of November, 2019 rose by 0.10% to 122.3 (provisional) from 122.2 (provisional) for the previous month.
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X