• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

भारत में अमेरिका का प्रत्यक्ष विदेशी निवेश 40 अरब डॉलर के पार पहुंचा :यूएसआईएसपीएफ

|

वाशिंगटन। अमेरिका से भारत के लिए प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (एफडीआई) का आंकड़ा इस साल अब तक 40 बिलियन अमेरिकी डॉलर का आंकड़ा पार कर चुका है। भारत पर केंद्रित एक लॉबिंग समूह ने कहा कि ये भारत देश के प्रति अमेरिकी कंपनियों के बढ़ते भरोसे को दर्शाता है।

महामारी के बीच अमेरिकी कंपनियों ने भारत पर दिखाया भरोसा

महामारी के बीच अमेरिकी कंपनियों ने भारत पर दिखाया भरोसा

अमेरिका-भारत रणनीतिक एवं भागीदारी मंच (यूएसआईएसपीएफ) के अध्यक्ष मुकेश अघी ने कहा कहा वर्तमान समय में दुनिया की अर्थव्‍यवस्‍था बुरी तरह प्रभावित हुई है लेकिन कोविड-19 महामारी के बीच अमेरिकी कंपनियों ने भारत के प्रति काफी भरोसा दिखाया है। यूएसआईएसपीएफ भारत में अमेरिकी की ओर से बड़ी एफडीआई यानी प्रत्‍यक्ष विदेशी निवेश पर नजर रखता है।

पिछले कुछ सप्‍ताह में भारत में 20 अरब डॉलर से अधिक का विदेशी निवेश किया गया

पिछले कुछ सप्‍ताह में भारत में 20 अरब डॉलर से अधिक का विदेशी निवेश किया गया

अध्‍यक्ष मुकेश अघी ने कहा कि आज की तारीख तक भारत में अमेरिका से इन्‍वेसमेंट 40 अरब डॉलर के आंकड़े को पार कर चुका है। अघी ने फेसबुक, गूगल, और वॉलमार्ट जैसी बड़ी कंपनियों के भारत में निवेश का जिक्र करते हुए कहा कि पिछले कुछ सप्‍ताह में अमेरिका की ओर से अब तक भारत में 20 अरब डॉलर से अधिक का विदेशी निवेश किया गया है। उन्होंने कहा , भारत के प्रति निवेशकों का भरोसा काफी हाई है। उन्‍होंने ये भी कहा कि विदेशी निवेशकों के लिए भारत एक काफी आकर्षक बाजार है। अघी ने कहा कि हाल के सप्‍ताह में केवल अमेरिका से 20 अरब डॉलर का ही निवेश नहीं आया है, बल्कि पश्चिम एशिया और अन्‍य देशों से भी निवेश आया है।

केन्‍द्र सरकार यूएसआईएसपीएफ के साथ मिलकर कर रही ये प्रयास

केन्‍द्र सरकार यूएसआईएसपीएफ के साथ मिलकर कर रही ये प्रयास

मुकेश अघी ने कहा कि यूएसआईएसपीएफ ने भारत में एफडीआई लाने के लिए केन्‍द्र सरकार के साथ काम कर रहा है। उन्‍होंने बताया कि पिछले तीन वर्षो से हम प्रयास कर रहे थे कि अमेरिका जो चाइना से अपनी कंपनियां हटा रहा है उन कंपनियों को अमेरिका भारत में लगाए। उन्होंने कहा कि ट्रम्प प्रशासन में हमारा ये प्रयास पिछले तीन वर्षों में चल रहा था और जिसने कोरोनोवायरस महामारी के दौरान गति प्राप्त की।

चीन में विश्वास खो रहे हैं और भारत की ओर रुख कर रहे हैं

चीन में विश्वास खो रहे हैं और भारत की ओर रुख कर रहे हैं

उन्‍होंने कहा कि हमें लगता है कि प्रधानमंत्री (नरेंद्र मोदी) की देश को लेकर महत्‍वाकांक्षा बहुत अधिक है पीएम मोदी उत्‍पादन को बहुत प्रोत्‍साहन दे रहें हैं जो कि अभी तक मैंने नहीं देखा। । उन्‍होंने कहा कि नीतिगत ढाँचा सही दिशा चल रहा है। इस सप्ताह की शुरुआत में, व्हाइट हाउस के आर्थिक सलाहकार, लैरी कुडलो ने संवाददाताओं को बताया कि भारत में बड़े निवेश की घोषणा करने वाले Google और फेसबुक जैसे अमेरिकी टेक दिग्गजों से पता चलता है कि लोग चीन में विश्वास खो रहे हैं और भारत की ओर रुख कर रहे हैं।

12 अगस्‍त को रूस से आ रही है पहली कोरोना वायरस वैक्‍सीन, जानिए इसके बारे में सबकुछ

बिग बॉस सीजन 13 की प्रतिभागी हिमांशी खुराना ने भी करवाया कोरोना टेस्‍ट, जानें क्या आई रिपोर्ट

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
US FDI crosses $ 40 billion doller in-india: USISPF
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X