India
  • search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts
Oneindia App Download

सुप्रीम कोर्ट ने एलआईसी के आईपीओ पर रोक लगाने से किया इनकार

|
Google Oneindia News

नई दिल्ली, 12 मई। सुप्रीम कोर्ट ने एलआईसी के आईपीओ के रिलीज करने की चल रही प्रक्रिया पर रोक लगाने की मांग को खारिज कर दिया है। ऐसे में साफ है कि एलआईसी आईपीओ के अलॉटमेंट में किसी भी तरह की बाधा नहीं आएगी और जिन लोगों ने एलआईसी के आईपीओ के लिए बिड किया है उन्हें यह आईपीओ मिलेगा अगर वह कंपनी के शेयर बैंड में आते हैं। हालांकि सुप्रीम कोर्ट ने इस अपील पर सुनवाई करने के लिए सहमति दी है जिसमे सरकार के शेयर को डाइल्यूट करने के फैसले को चुनौती दी गई है।

    LIC IPO details: LIC IPO launch, पैसा लगाने से पहले जानें हर बारीकी | वनइंडिया हिंदी
    lic

    इसे भी पढ़ें- जैक डोर्सी दोबारा क्‍या बनना चाहते हैं Twitter के सीईओ ? जानें उन्‍होंने क्‍या दिया जवाबइसे भी पढ़ें- जैक डोर्सी दोबारा क्‍या बनना चाहते हैं Twitter के सीईओ ? जानें उन्‍होंने क्‍या दिया जवाब

    सुप्रीम कोर्ट के जज जस्टिस चंद्रचूड़ ,सूर्य कांत और पीएस नरसिम्हा ने इस याचिका पर सुनवाई की। दरअसल याचिकाकर्ताओं ने कोर्ट में याचिका दायर करके सरकार के उस फैसले को चुनौती दी थी जिसमे एलआईसी के आईपीओ को लाने के बिल को मनी बिल के तौर पर पेश किया गया था। अडिशनल सॉलिसिटर जनरल ऑफ इंडिया केंद्र सरकार की ओर से कोर्ट में पेश हुए और उन्होंने कहा कि यह भारत के इतिहास में अबतक का सबसे बड़ा आईपीओ है। 73 लाख से अधिक लोगों ने इसके लिए बिड किया है, 22.13 करोड़ शेयर को 939 के प्रीमियम पर बेचा गया है।

    वहीं वरिष्ठ वकील श्याम दीवान ने दलील दी है कि एलआईसी के आईपीओ को बेचने के लिए सरकार ने जो प्रक्रिया अपनाई वह गलत है, सरकार ने इसे मनी बिल के तौर पर पेश किया, इसपर विचार किया जाना चाहिए। इसे मनी बिल के तौर पर पास नहीं किया जा सकता है क्योंकि इसमे आम लोगों का अधिकार शामिल है। बता दें कि एलआईसी के आईपीओ के खिलाफ कंपनी का कर्मचारी संघ शुरुआत से विरोध कर रहा है। कंपनी के कर्मचारी सरकार के इस फैसले का विरोध करते हुए कई बार हड़ताल कर चुके हैं और लगातार इसके खिलाफ अपनी आवाज बुलंद कर रहे हैं।

    Comments
    English summary
    Supreme Court refuse to stay LIC IPO but agrees in this.
    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X