India
  • search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts
Oneindia App Download

काम की खबर: इन 2 सहकारी बैंकों के खाताधारकों को मिलेंगे 5 लाख रुपए, जानें वजह

|
Google Oneindia News

नई दिल्ली। दो सहकारी के योग्य ग्राहकों को DCGA की ओर से 5-5 लाख रुपए की रकम अगले महीने मिलेगी। अगस्त 2022 में उन ग्राहकों के बैंक खाते में ये रकम जमा करवाई जाएगी। दरअसल ये वो ग्राहक हैं, जिनका बैंक खाता शंकर राव पुजारी नूतन को-ऑपरेटिव बैंक और हरिहरेश्वर सहकारी बैंक में था, लेकिन बैंक बंद हो जाने के कारण इसी जमा रकम का भुगतान नहीं हो पाया।

 इन बैंकों के खाताधारकों के लिए जरूरी खबर

इन बैंकों के खाताधारकों के लिए जरूरी खबर

महाराष्ट्र स्थित शंकर राव पुजारी नूतन को-ऑपरेटिव बैंक और हरिहरेश्वर सहकारी बैंक का का लाइसेंस रद्द होने के बाद इसे बंद कर दिया गया। बैंक की खस्ताहाल को देखते हुए आरबीआई ने बैंक का लाइसेंस रद्द कर दिया था, लेकिन बैंक में जिन ग्राहकों का पैसा फंसा था, अब उन्हें उनकी जमापूंजी मिल जाएगी। दरअसल बैंक जमा पर आपको आरबीआई के डीजीसीए की ओर से इंश्योरेंस मिलता है। ये इंश्योरेंस अधिकतम 5 लाख रुपए की होती है। इस बीमा कवर के कारण बैंक के डूब जाने पर या लाइसेंस रद्द हो जाने पर या किसी भी स्थिति में बैंक के दिवालिया हो जाने पर खाताधारकों को उनकी जमा पर कम से कम 5 लाख रुपए बीमा कवर के तहत मिल जाते हैं।

 खाते में जमा होंगे 5 लाख रुपए

खाते में जमा होंगे 5 लाख रुपए


आपको बता दें कि DGCA आरबीआई की सब्सिडरी संस्था है जो बैंक जमा पर 5 लाख रुपए तक का इंश्योरेंस कवर देता है। यानी अगर बैंक डूब जाए या दिवालिया हो जाए तो आपको इसी इंश्योरेंस कवर के तहत 5 लाख रुपए तक दिया जाता है। अब इसी नियम के तहत शंकर राव पुजारी नूतन को-ऑपरेटिव बैंक और हरिहरेश्वर सहकारी बैंक ने उन ग्राहकों के दूसरे बैंक के खाते में 5 लाख रुपए की रकम DGCA जमा करवाएंगी, जो इस कवर के तहत आते हैं। डीजीसीए ने कहा है कि शंकर राव पुजारी नूतन को-ऑपरेटिव बैंक के ग्राहकों को 10 अगस्त तक और हरिहरेश्वर सहकारी बैंक के ग्राहकों को 28 अगस्त तक बीमा कवर की रकम खाते में भेज दी जाएगी। ग्राहकों को आधार लिंक अपने बैंक खाते की जानकारी डीजीसीए को देनी होगी।

 क्यों बंद हुआ बैंक

क्यों बंद हुआ बैंक

मई 2022 में ही दोनों बैंकों का लाइसेंस रद्द कर दिया गया। रिजर्व बैंक के मापदंडों के मुताबिक दोनों ही सहकारी बैंक की वित्तीय स्थिति बहुत नाजुक थी, जो खाताधारकों की सुरक्षा के लिए ठीक नहीं था। जिसके बाद दोनों बैंकों को बंद कर दिया गया। शंकर राव पुजारी नूतन को-ऑपरेटिव बैंक के 99.84 फीसदी ग्राहक DGCA के दायरे में आते हैं तो वहीं हरिहरेश्वर सहकारी बैंक के 99.59 फीसदी ग्राहक इस दायरे में है। अब इन ग्राहकों बीमा कवर के तहत खाते में 5 लाख रुपए की रकम भेजी जाएगी।

कपड़े नहीं बॉडी पर पेंट लगाकर तैयार करती हैं डिजाइनर ड्रेस, मॉडल का लुक्स देख खा जाएंगे धोखाकपड़े नहीं बॉडी पर पेंट लगाकर तैयार करती हैं डिजाइनर ड्रेस, मॉडल का लुक्स देख खा जाएंगे धोखा

Comments
English summary
RBI's DICGC to pay Rs 5 Lakh to the depositors of these 2 co-operative banks in August , here is the Detail
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X