• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

RBI गवर्नर शक्तिकांत दास ने बैंकों और एनबीएफसी को दी फंड जुटाने की सलाह

|

नई दिल्ली। कोरोना वायरस के कारण देश की अर्थव्यवस्था को बड़ा झटका लगा है। देश की अर्थव्यवस्था को परी पर लगाने के लिए केंद्र सरकार और रिजर्व बैंक लगातार कोशिशों में जुटी है। रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) के गर्वनर शक्तिकांत दास ने आज 7वें एसबीआई बैंकिंग एंड इकोनॉमिक्स कॉन्क्लेव में हिस्सा लेते हुए कहा कि कोरोना वायरस ने देश पर 100 सालों में अब तक का सबसे बुरा आर्थिक संकट पैदा कर दिया है।

    RBI Governer Shaktikanta Das बोले- 100 साल का सबसे बड़ा संकट है Coronavirus | वनइंडिया हिंदी

     RBI Governor Shaktikanta Das advises Banks and NBFCs to raise capital

    उन्होंने कहा कि कोविड 19 देश न केवल भारत बल्कि विश्व की अर्थ्वयवस्था, वैश्विक वैल्यू चैन और श्रम और कैपिटल मूवमेंट को कमजोर किया है। उन्होंने बैंकों और एनबीएफसी(NBFCs) को फंड जुटाने की सलाह दी है। आरबीआई गवर्नर ने बैंकों और एनबीएफसी को कोरोना वायरस के कारण फाइनेंशियल सिस्टम पर पड़े असर से निपटने के लिए कैपिटल जुटाने की सलाह दी है। उन्होंने कहा कि बैंकों को बफर्स निर्माण करने और फंड जुटाने की जरूरत हैं।

    शक्तिकांत दास ने कहा कि कोरोना वायरस के कारण फाइसेंशियल सिस्टम पर पड़े असर से निकलने के लिए और क्रेडिट फ्लो को सुधारने के लिए बैंकों और एनबीएफसी को बफ़र्स का निर्माण और पूंजी जुटाना होगा। उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस ने देश में न केवल फाइनेंशियल संकट पैदा किया है बल्कि नौकरियों को बुरी तरह से प्रभावित किया है। उन्होंने कहा कि रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया की सबसे बड़ी प्राथमिकता ग्रोथ को बढ़ाना। उन्होंने कतहा कि इसके लिए वित्तीय स्थिरता भी समान महत्वपूर्ण है।

    SBI के इन खाताधारकों के लिए अलर्ट, कैश निकालने पर अब देना होगा Tax, जानिए क्या है टैक्स से बचने की तरीका

    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    English summary
    RBI Governor Shaktikanta Das advises Banks and NBFCs to raise capital.
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X