• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

सोने-चांदी की कीमतों में क्‍यों आ रही है भारी गिरावट, जानिए क्‍या है कोरोना वैक्‍सीन से संबंध

|

नई दिल्‍ली। लगातार आसमान छूते सोने की कीमत में अब कमी आई है। सोने में सोमवार को मामूली गिरावट देखी गई, जिसे मुनाफावसूली मानकर अधिकतर लोगों ने नजरअंदाज कर दिया। लेकिन मंगलवार को भी सोना गिरावट के साथ खुला और शाम को बाजार बंद होते-होते 2800 रुपये से भी अधिक की गिरावट के साथ बंद हुआ। बुधवार को तो मानों सोना धड़ाम करके गिर गया हो। बुधवार को चांदी के रेट जहां 5500 रुपये प्रति किलो तक कम हुए, वहीं सोना 2100 प्रति 10 ग्राम गिरा। ऐसे में लोगों के मन में ये सवाल उठ रहा है कि आखिर सोने और चांदी में अचानक से इतनी तगड़ी गिरावट क्यों आई? आपको बता दें कि इसके पीछे रूस की तरफ से कोविड-19 का पहला टीका विकसित करने और जल्द ही इसे बाजार में पेश करने की घोषणा से जोड़ कर देखा जा रहा है। इन दो दिनों में चांदी की कीमत भी 7,665 रुपये प्रति किलो गिर चुकी है।

    Gold Price : Gold के भाव में 7 साल की सबसे बड़ी गिरावट, Silver भी फिसली | वनइंडिया हिंदी
    निवेशकों में शेयर बाजार के सुधरने की उम्मीद, किया सराफा बाजार से किनारा

    निवेशकों में शेयर बाजार के सुधरने की उम्मीद, किया सराफा बाजार से किनारा

    इस गिरावट की वजह जानकार रूस की तरफ से कोरोनावायरस के खात्मे के लिए जल्द ही टीका बाजार में उतारने की घोषणा को बता रहे हैं। जैसे जैसे आर्थिक गतिविधियां सामान्य होंगी वैसे वैसे निवेशक दूसरे निवेश विकल्पों की तरफ जाएंगे। एमके ग्लोबल फाइनेंशिएल सर्विसेज के शोध प्रमुख राहुल गुप्ता का कहना है, ''आने वाला समय बुलियन बाजार के लिए और ज्यादा अनिश्चितता भरा है।

    कच्‍चे तेल में तेजी भी है अहम वजह

    कच्‍चे तेल में तेजी भी है अहम वजह

    कोरोना वायरस की वैक्सीन की खबर जहां सोने-चांदी में गिरावट की वजह बनी, वहीं कच्चे तेल में इस खबर ने तेजी ला दी। ब्रेंट क्रूड के दाम 45 डॉलर प्रति बैरल का स्तर पार कर गए। नेचुरल गैस में भी बढ़त दिखी। इनमें बढ़त की वजह ये है कि कोरोना के चलते आवागमन ठप होने से इनका बिजनेस काफी प्रभावित हुआ था। अब कोरोना वैक्सीन ने एक उम्मीद जगा दी है कि सब कुछ जल्द ही ठीक हो जाएगा, इसलिए कच्चे तेल में तेजी आ गई।

    सोने-चांदी में निवेश करने से रहे दूर

    सोने-चांदी में निवेश करने से रहे दूर

    मोतीलाल ओसवाल फाइनेंसिएल सर्विसेज के वाइस प्रेसिडेंट (कमोडिटी रिसर्च) नवनीत दामानी का कहना है, ''जैसे-जैसे इक्विटी बाजार में सामान्य स्थिति लौटती जाएगी, सोने व चांदी के भाव दबाव में आएंगे। मौजूदा गिरावट के लिए निश्चित तौर पर रूस की वैक्सीन घोषणा की भूमिका है और आगे भी इस तरह की घोषणाओं का असर होगा। घरेलू बाजार में सोना 51,500 से 53,500 रुपये के बीच रह सकता है।'' इस मंदी के मद्देनजर जानकार आम जनता को सोने-चांदी में निवेश करने से फिलहाल दूर रहने का सुझाव दे रहे हैं। कोविड काल में पिछले चार महीनों से सोने व चांदी की कीमतों में तेजी के दौर के खत्म होने की बात कही जा रही है।

    फिर विवादों में दिग्‍गज डायरेक्‍टर सुभाष घई, एक्‍ट्रेस महिमा चौधरी ने लगाए गंभीर आरोप, जानिए क्या

    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    English summary
    Gold-silver price sharply down as Russia approves Covid vaccine.
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X