• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

जल्द लगने वाला है महंगाई का एक और झटका, बढ़ेगा फोन और इंटरनेट का बिल!

|
Google Oneindia News

नई दिल्ली। कोरोना संकट और लॉकडाउन के बीच लोग आर्थिक संकट से जूझ रहे हैं। कई लोगों की नौकरियां चली गई हैं तो कई लोगों की सैलरी में कटौती जारी है। वहीं लोगों पर बढ़ती महंगाई ने बोझ बढ़ा दिया है। इन सबके के जल्द आपको एक और झटका लग सकता है। फोन कॉल और इंटरनेट के बिल में बढ़ोतरी हो सकती है। सस्ती मोबाइल कॉल और डेटा दरों का दौर खत्म हो सकता है। यानी अगले डेढ़ साल के दौरान आपने फोन और इंटरनेट के बिल में बढ़ोतरी होने वाली है। ये बढ़ोतरी दो चरणों में हो सकती है।

SBI के 42 करोड़ खाताधारकों के लिए जरूरी खबर, बदला ATM से कैश निकालने का नियमSBI के 42 करोड़ खाताधारकों के लिए जरूरी खबर, बदला ATM से कैश निकालने का नियम

 लग सकता है एक और झटका

लग सकता है एक और झटका

रिसर्च फर्म ईवाई के मुताबिक जल्द ही लोगों को टेलिफोन बिल और इंटरनेट की बढ़ी हुई दरों का भुगतान करना पड़ सकता है। टेलीकॉम कंपनियों सस्ती कॉल रेट और डेटा प्लान को खत्म कर सकती है। रिसर्च फर्म के मुताबिक टेलिकॉम सेक्टर का मौजूदा मॉडल कंपनियों के लिए मुनाफे के लायक नहीं है, जिसकी वजह से टेलिकॉम कंपनियों इसमें बड़े बदलाव की तैयारी कर रही है। EY के मुताबिक अगले 12 से 18 महीनों के दौरान टेलिकॉम सेक्टर में फोन कॉल और इंटरनेट की दरों को दो बार बढ़ाया जा सकता है।

 लगेगा डबल झटका

लगेगा डबल झटका

रिसर्च फर्म के मुताबिक अगले डेढ़ सालों में टेलिकॉम कंपनियां अपनी कॉलिंग और डेटा प्लान की दरों में दो बार बदलाव कर सकती है, जिसकी वजह से लोगों को बढ़ी हुई दरों का बोझ झेलना पड़ सकता है। आपको बता दें कि टेलिकॉम इंडस्ट्री में रिलायंस जियो के आने के बाद बाकी की टेलिकॉम सेक्टर में कड़ी प्रतिस्पर्धा शुरू हो गई। रिलायंस जियो के सस्ते प्लान से मिल रही चुनौतियों के कारण कंपनियों को अपने प्लान्स में बदलाव करने पड़े और कॉल रेट और डेटा प्लान को सस्ता करना पड़ा, लेकिन इस मॉडल की वजह से उन्हें नुकसान हो रहा है।

 अगले 6 महीने में लग सकता है पहला झटका

अगले 6 महीने में लग सकता है पहला झटका

रिसर्च फॉर्म के प्रमुख प्रशांत सिंघल ने मुताबिक अगले 12 से 18 महीनों में कंपनियों दो चरणों में कॉल दरों और डेटा प्लान की दरों में इजाफा कर सकती है। जिसके तहत पहली वृद्धि अगले 6 महीने में की जा सकती है। पीटीआई के मुताबिक रिसर्च फर्म का कहना है टेलिकॉम सेक्टर में टिके रहने के लिए इन कंपनियों को दरों में बढ़ोतरी कपनी होगी। हालांकि कंपनियों को आर्थिक स्थिति और किफायत के बारे में भी सोचना होगा। हालांकि ये बढ़ोतरी कैसे होगी, इस बारे में कंपनियां विचार सकती है। आपको बता दें कि दिसंबर 2019 में ही एयरटेल, वोडाफोन-आइडिया, रिलायंस जियो समेत सभी टेलिकॉम कंपनियों ने टैरिफ में बढ़ोतरी की थी। अब एक बार फिर से बढ़ोतरी की संभावना बन रही है।

<strong> सावन के पहले सोमवार को खरीदें सस्ता सोना, 4802 रुपए में सोना बेच रही है मोदी सरकार</strong> सावन के पहले सोमवार को खरीदें सस्ता सोना, 4802 रुपए में सोना बेच रही है मोदी सरकार

English summary
Get ready for Hike in Phone call and Internet Bill, telecome tariff two rounds of increases likely in next 12-18 months.
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X