• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

रविशंकर प्रसाद ने क्यों किया AMUL के विज्ञापन को Tweet, क्या है मामला?

|
Google Oneindia News

नई दिल्ली। हमारे देश में 'अमूल' केवल एक डेयरी प्रोडक्ट नहीं है बल्कि एक विश्वास का भी नाम है, जो कि अपने दिलचस्प विज्ञापन और 'अमूल गर्ल' कार्टून के लिए भी लोगों के बीच में काफी लोकप्रिय है, उसका नया विज्ञापन केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद को भी काफी भा गया है, जिसे कि उन्होंने अपने ट्विटर हैंडल से शेयर भी किया है और शेयर करते हुए एक बेहद खास बात भी लिखी है।

रविशंकर प्रसाद ने किया अमूल के विज्ञापन को Tweet

दरअसल अमूल ने टेलीकॉम कंपनियों को सरकार द्वारा आर्थिक मदद दिए जाने पर एक विज्ञापन बनाया है, जिसमें कि 'अमूल गर्ल' कॉल कर रही है और इस कार्टून में कैप्शन लिखा है 'मोबिलाइजिंग फोन्स अगेन!', जिसे की रीट्वीट करते हुए रविशंकर प्रसाद ने लिखा - क्योंकि मोबाइल फोन कई लोगों की ब्रेड और बटर का जरिया है। गौरतलब है कि अमूल ने यह कार्टून प्राइवेट टेलीकॉम कंपनियों को मोदी सरकार द्वारा स्पेक्ट्रम के पेमेंट के लिए दो साल की राहत दिए जाने पर बनाया है।

यह पढ़ें: 25 साल छोटी बीवी संग 'Bihu' डांस करते नजर आए मिलिंद सोमन, Video हुआ वायरलयह पढ़ें: 25 साल छोटी बीवी संग 'Bihu' डांस करते नजर आए मिलिंद सोमन, Video हुआ वायरल

क्या है वो फैसला

क्या है वो फैसला

दरअसल बुधवार को हुई कैबिनेट की बैठक में घाटे से जूझ रहीं टेलीकॉम कंपनियों को बड़ी मोहलत मिली है, वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बैठक के बाद कहा कि टेलीकॉम कंपनियों पर बढ़ते वित्तीय दबाव के चलते स्पेक्ट्रम नीलामी की किश्त को दो साल तक के लिए टाल दिया गया है, हालांकि कंपनियों को इस भुगतान पर बनने वाले ब्याज को अदा करना होगा।

 स्पेक्ट्रम नीलामी किस्तों के भुगतान के लिए दो साल का मिला वक्त

स्पेक्ट्रम नीलामी किस्तों के भुगतान के लिए दो साल का मिला वक्त

कैबिनेट के इस फैसले के बाद साल 2020-21 और 2021-22 के लिए लंबित स्पेक्ट्रम नीलामी किस्तों के भुगतान के लिए टेलीकॉम कंपनियों को दो साल का वक्त मिल गया है,कैबिनेट की बैठक के बाद निर्मला सीतारमण ने कहा कि सरकार के इस फैसले से एयरटेल, वोडाफोन आइडिया और रिलायंस जियो को करीब 42,000 करोड़ रुपये की राहत मिलेगी।

यह पढ़ें: Khushwant Singh की किताब को देखकर भड़के रेलवे अफसर, अश्लील बताकर स्टॉल से हटवायायह पढ़ें: Khushwant Singh की किताब को देखकर भड़के रेलवे अफसर, अश्लील बताकर स्टॉल से हटवाया

English summary
An Amul topical ad on the telecom sector has caught the eye of Union Minister Ravi Shankar who gave his own take on the issue.
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X