• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

आज से महंगा हुआ ATM से पैसे निकालना, अब प्रति ट्रांजैक्शन देनी होगी इतनी फीस

|
Google Oneindia News

नई दिल्ली, 01 जनवरी: नए साल के जश्न के बीच पहले दिन लोगों की जेब पर महंगाई का झटका लगा है। इस नए साल में बैंकों ने एटीएम से कैश ट्रांजैक्शन समेत अन्य ट्रांजैक्शन पर नए साल के पहले दिन शनिवार यानी 1 जनवरी, 2022 से चार्ज बढ़ा दिया है। भारतीय रिजर्व बैंक ने जून में निर्देश जारी किया था जिसके अनुसार बैंकों के ग्राहकों को एक जनवरी 2022 से निःशुल्क सीमा से अधिक बार एटीएम निकासी करने पर 21 रुपये की दर से भुगतान करने की जरूरत होगी।

बैंक अब 21 रुपये एटीएम ट्रांजैक्शन चार्ज के तौर पर वसूलेगे

बैंक अब 21 रुपये एटीएम ट्रांजैक्शन चार्ज के तौर पर वसूलेगे

रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया की 10 जून, 2021 की अधिसूचना के मुताबिक, 1 जनवरी, 2022 से बैंक 20 रुपये के बजाय अब 21 रुपये एटीएम ट्रांजैक्शन चार्ज के तौर पर वसूल सकेंगे। हालांकि, ग्राहक अपने बैंक एटीएम से हर महीने पांच मुफ्त लेनदेन (वित्तीय और गैर-वित्तीय लेन-देन समेत) कर सकते हैं। इससे ज्यादा लेनदेन करने पर ही यह शुल्क लगेगा। ग्राहक अन्य बैंक के एटीएम से मुफ्त लेनदेन (वित्तीय और गैर-वित्तीय लेनदेन सहित) के लिए भी पात्र हैं। तीन लेनदेन मेट्रो सिटी में और पांच लेनदेन, गैरमेट्रो सिटी में है।

इसलिए लिया गया ये फैसला

इसलिए लिया गया ये फैसला

आरबीआई ने पहले बैंकों को वित्तीय लेनदेन के लिए 17 रुपये की दर से 'इंटरचेंज' शुल्क लगाने और गैर-वित्तीय लेनदेन के लिए छह रुपये का शुल्क लगाने की अनुमति प्रदान की थी। लेनदेन शुल्कों में वृद्धि का फैसला एटीएम मशीनें लगाने और रखरखाव से जुड़ा बैंकों का खर्च बढ़ने की वजह से लिया गया है। एटीएम लेनदेन के लिए इंटरचेंज शुल्क संरचना में अंतिम परिवर्तन अगस्त 2012 में किया गया था, जबकि ग्राहकों द्वारा देय शुल्कों को अंतिम बार अगस्त 2014 में संशोधित किया गया था।

जानिए कितने रुपए का बढ़ा बोझ

जानिए कितने रुपए का बढ़ा बोझ

वॉयस ऑफ बैंकिंग के संस्थापक अश्विनी राणा ने कहा, "प्रति एटीएम लेन-देन में सेवा शुल्क में वृद्धि संबंधित बैंकों द्वारा अनुमत कई लेन-देन से अधिक होने पर ही ग्राहकों से ली जाएगी। यह वृद्धि केवल 1 रुपये प्लस गुड्स एंड सर्विसेज टैक्स (जीएसटी) है जो बैंकों द्वारा भुगतान किए गए रखरखाव शुल्क के मुकाबले ग्राहकों के लिए बहुत मामूली है। पहले इसके लिए 20 रुपये चार्ज किए जा रहे थे।

अब अपने ही पति को राखी क्यों बांधना चाहती हैं राखी सावंत?अब अपने ही पति को राखी क्यों बांधना चाहती हैं राखी सावंत?

माइक्रो एटीएम प्रणाली पर नहीं पड़ेगा असर

माइक्रो एटीएम प्रणाली पर नहीं पड़ेगा असर

रैपिपे फिनटेक के मुख्य कार्यकारी अधिकारी निपुण जैन ने स्पष्ट किया, हमारे माइक्रो एटीएम और आधार सक्षम भुगतान प्रणाली (एईपीएस) का उपयोग करके नकदी निकालने वाले उपभोक्ता एटीएम लेनदेन शुल्क बढ़ाने के लिए आरबीआई के हालिया दिशानिर्देश से प्रभावित नहीं होंगे। हमें विश्वास है कि यह हमारे प्रत्यक्ष व्यापार आउटलेट्स पर एईपीएस और माइक्रो एटीएम के माध्यम से नकद निकासी की पहले से ही बढ़ती मांग को बढ़ावा देगा और हमें उत्तर पूर्व, कश्मीर, लद्दाख जैसे गहरे भौगोलिक और दूर-दराज के क्षेत्रों में वित्तीय समावेशन बढ़ाने के हमारे लक्ष्य को प्राप्त करने में मदद करेगा।

Comments
English summary
ATM service charges increase, to cost Rs 21 per transaction from today 1 Jan
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X