• search
बदायूं न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

राष्ट्रीय महिला आयोग की सदस्य चंद्रमुखी देवी पहुंची बदायूं, कहा- दोषियों को किसी भी कीमत पर बख्शा नहीं जाएगा

|
Google Oneindia News

Budaun Gang rape and murder case, लखनऊ। बदायूं (Budaun) में 50 साल की आंगनबाड़ी कार्यकर्ता के हुए जघन्य वारदात ने पूरे देश में हलचल मचा दी है। तो वहीं, बदायूं पुलिस ने दो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। हालांकि, इस वारदात का मुख्य आरोपी महंत सत्यनारायण अभी भी फरार है, जिसपर पुलिस ने 50 हजार रुपए का इनाम घोषित कर दिया है। साथ ही इस मामले में लापरवाही बरतने के आरोप में थानाध्यक्ष राघवेंद्र प्रताप सिंह को एसएसपी संकल्प शर्मा ने निलंबित कर दिया है। वहीं, गुरुवार को राष्ट्रीय महिला आयोग की सदस्य चंद्रमुखी देवी बदायूं पहुंचीं। इस दौरान उन्‍होंने पीड़िता के परिवार से मुलाकात की और एसएसपी के साथ बैठक कर पूरे मामले की जानकारी ली।

national commission member chandramukhi devi meets budaun victims family

राष्ट्रीय महिला आयोग की सदस्य चंद्रमुखी देवी ने मीडिया से बात करते हुए कहा, 'मैं पीड़िता के परिवार से मिलने आई हूं। घटना की विस्तृत जानकारी के लिए मैंने बदायूं एसएसपी के साथ बैठक करके जानकारी ली है। सीएम शुरू से ऐसी घटनाओं के खिलाफ सख्त हैं। हमें विश्वास है कि दोषियों को किसी भी कीमत पर बख्शा नहीं जाएगा। गौरतलब है कि राष्‍ट्रीय महिला आयोग ने बदायूं गैगरेप केस सामने आने के बाद तुरंत इस घटना का संज्ञान लिया है। आयोग की अध्यक्ष रेखा शर्मा ने कल ही आयोग की एक सदस्‍य के बदायूं जाने के बारे में जानकारी दी थी।

क्या है पूरा मामला
यह सनसनीखेज वारदात बदायूं जिले के उघैती थाना क्षेत्र के एक गांव की है। गांव निवासी 50 वर्षीय आंगनवाड़ी कार्यकर्ता पास के गांव स्थित एक मंदिर पर रोजाना की तरह रविवार को भी पूजा करने के लिए गई थी। इसके बाद वो वापस लौट कर नहीं आई। स्थानीय लोगों का आरोप है कि रात करीब 12 बजे एक कार सवार और दो शख्स महिला को लहूलुहान हालात में उसके घर के दरवाजे पर फेंककर भाग गए। बताया जाता है कि इससे पहले आरोपी उसे अपनी गाड़ी से इलाज के लिए चंदौसी भी ले गया था।

थानेदार पर परिजनों ने लगाए थे गंभीर आरोप
परिजनों ने घटना की जानकारी उघैती थाना पुलिस को दी और सामूहिक दुष्कर्म के बाद हत्या का आरोप लगाया। परिजनों का कहना है कि उघैती के थानेदार रावेंद्र प्रताप सिंह ने उनकी फरियाद सुनना तो दूर घटनास्थल का मौका मुआयना तक नहीं किया। यही नहीं, 18 घंटे बाद शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भेजा गया। महिला डॉक्टर समेत तीन डॉक्टरों के पैनल ने पोस्टमॉर्टम किया। शाम को रिपोर्ट आई तो पता चला कि महिला के प्राइवेट पार्ट में गंभीर घाव थे। काफी खून भी निकल गया था। रिपोर्ट में कोई लोहे की रॉड या सब्बल गुप्तांग में रॉड जैसी चीज डालने की बात भी सामने आई।

ये भी पढ़ें:- Bird flu से बचाव के लिए अग्रिम तैयारी करे यूपी सरकार, अखिलेश यादव ने ट्वीट कर दिए ये सुझावये भी पढ़ें:- Bird flu से बचाव के लिए अग्रिम तैयारी करे यूपी सरकार, अखिलेश यादव ने ट्वीट कर दिए ये सुझाव

English summary
national commission member chandramukhi devi meets budaun victims family
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X