• search
बदायूं न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

महिला का दावा- कोविड टीके से गई पति की आंखों की रोशनी, HC ने बदायूं DM से पूछा ये सवाल

|
Google Oneindia News

बदायूं, 01 जुलाई: उत्तर प्रदेश के बदायूं में रहने वाली प्रभा मिश्रा ने दावा किया है कि कोरोना का टीका लगने के बाद उनके पति के आंखों की रोशनी चली गई। आरोप है कि अधिकारियों को इस बारे में अवगत कराया गया, लेकिन उन्होंने महिला की बात नहीं सुनी। इसके बाद महिला ने कोर्ट का दरवाजा खटखटाया। प्रभा मिश्रा ने मुआवजे की मांग करते हुए इलाहाबाद हाईकोर्ट में याचिका दायर की।

Budaun woman claims vaccine blinded her husband HC asks DM for compensation

कोर्ट ने पूछा- मुआवजे के लिए पात्र है या नहीं

महिला की याचिका पर इलाहाबाद हाईकोर्ट ने बदायूं के डीएम को यह तय करने का निर्देश दिया है कि यदि कोई सरकारी कर्मचारी यह दावा करता है कि कोविड-19 का टीका लगने के बाद उसके दोनों आंखों की रोशनी चली गई है, वह कानून के अनुसार मुआवजे के लिए पात्र है या नहीं।

इंडियन एक्सप्रेस की खबर के मुताबिक, जस्टिस महेश चंद्र त्रिपाठी की बेंच ने बीते सोमवार को लेखपाल ऐश्वर्य कुमार शर्मा की पत्नी प्रभा शर्मा द्वारा दायर एक रिट याचिका का निपटारा करते हुए कहा कि याचिकाकर्ता एक हफ्ते के भीतर जिला मजिस्ट्रेट, बदायूं से सामने सभी प्रासंगिक चिकित्सा रिपोर्टों को प्रस्तुत करें, जिसके आधार पर वे कानून के अनुसार शीघ्रता से निर्णय लेंगे।

अखिलेश का यूपी सरकार पर हमला, कहा- पैसे और प्रशासनिक ताकत से चुनाव में हेराफेरी कर रही BJPअखिलेश का यूपी सरकार पर हमला, कहा- पैसे और प्रशासनिक ताकत से चुनाव में हेराफेरी कर रही BJP

12 फरवरी को लगवाई थी कोविशील्ड वैक्सीन

ऐश्वर्य और प्रभा का एक 10 साल का बेटा भी है। प्रभा ने बताया कि उनके पति ऐश्वर्य कुमार शर्मा बदायूं की बिसौली तहसील में लेखपाल हैं। उन्हें 12 फरवरी को तहसील परिसर में प्रशासन द्वारा लगवाए गए कैंप में कोविशील्ड वैक्सीन लगी थी। घर लौटने पर उन्हें तेज बुखार और सिर दर्द था, आंखें भी लाल थीं। चार दिन तक दवाएं लेने के बावजूद बुखार और सिर दर्द ठीक नहीं हुए। इसके बाद उन्हें कम दिखने लगा। मेडिकल स्टोर से आईड्रॉप ली, लेकिन कोई फायदा नहीं हुआ। टीका लगने के सात दिन बाद उनकी आंखों से पस आने लगा।

डॉक्टरों ने कहा- आंखों की रोशनी वापस नहीं आ सकेगी

प्रभा के मुताबिक, वह पहले पति को बदायूं के एक डॉक्टर के पास ले गईं, जहां एक हफ्ते इलाज चला, लेकिन वे ठीक नहीं हो पाए। उन्हें एम्स रेफर किया गया। फिर प्रभा ने उन्हें पास के जिले बरेली के एक प्राइवेट डॉक्टर को दिखाया, जिन्होंने कहा कि वैक्सीन के कारण आंखों में संक्रमण हुआ है। इसके बाद वे अपने पति को एम्स ले गईं, जहां कुछ इलाज के बाद डॉक्टरों ने बताया कि उनके आंखों की रोशनी वापस नहीं आ सकेगी। प्रभा का दावा है कि उनके पति को पहले से कोई बीमारी नहीं थी और वे ठीक थे।

English summary
Budaun woman claims vaccine blinded her husband HC asks DM for compensation
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X