• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

मां के शव के साथ 9 महीनों से रह रहे थे बेटे, पुलिस ने किया गिरफ्तार

|

कोलकाता। कोलकाता के बहुचर्चित रॉबिन्सन स्ट्रीट कंकाल मामले की यादें एक फिर से ताजा हो गई। लोगों के सामने ऐसा ही एक और मामला आया है, जहां दो बेटों ने मां के शव को 9 महीनों तक अपने साथ घर में ही रखा।

dead body

कोलकाता के हरीनघाटा इलाके में पुलिस ने 85 साल की एक महिला का कंकाल बरामद किया है। कंकाल ननीबाला साह नाम की बुजुर्ग महिला की है, जो अपने दो बेटों अरुण साह और अजीत साह के साथ रहती थीं। दोनों ही भाई अविवाहित थे और अपनी मां के साथ बड़े से घर में रहते थे।

लेकिन जनवरी 2016 में ननीबाला साह की मौत हो गई। बेटों ने उनके दाह-संस्कार नहीं किया और उनके शव को घर के ही एक अंधेरे कमरे में रख दिया। पड़ोसियों की अगर मानें तो दोनों ही भाई किसी से बातचीत नहीं करते थे। किसी को अपने घर में आने तक नहीं देते थे। कोई अगर मां के लिए पूछता को कहते कि वो बीमार हैं और सो रही है।

वो किसी को भी अपने घर के पास खड़ा तक नहीं होने देते थे। लोगों को उनपर शक हुआ था, लेकिन कुछ बी पूछने पर दोनों ही भाई टाल जाते थे। रविवार के दिन नगरनिगम के लोग जबरन उनके घर में घुसे तो सन्न रह गए। घर के एक अंधेरे से कमरे में ननीबाला का शव काले कपड़े से ढंका हुआ था। शव सड़-गलकर कंकाल में तब्दील होने की अंतिम अवस्था में पहुंच गया था।

जब पुलिस ने दोनों भाईयों से पूछा तो उन्होंने बेतुकी दलील देते हुए कहा कि मां की मौत के समय सर्दी बहुत थी, इसलिए हमने उनका दाह-संस्कार नहीं किया। पुलिस ने मां की हत्या के आरोप में दोनों भाईयों को गिरफ्तार कर लिया है और महिला का शव को अपने कब्जे में ले लिया।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
The body of an 85-year-old woman who died in January was kept in her bed by her sons before neighbours learned about it and alerted police on Sunday in Kolkata .
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X