• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

15 साल तक घर बैठे लिया वेतन, नहीं किया कोई काम फिर भी खाते में आए करीब 5 करोड़ रुपए

|
Google Oneindia News

रोम, 22 अप्रैल। कितना अच्छा होता अगर हम घर बैठकर आराम करें या घूमें फिरें और हमारे खाते में हर महीने सैलरी क्रेडिट होती रहे। ऐसी लाइफ जीना हर किसी की ख्वाहिश होगी लेकिन बुरी खबर ये है कि ऐसा होना नामुमकिन है। अगर आप सक्सेसफुल बिजनेसमैन भी हैं तो भी कभी ना कभी तो आपको ऑफिस लौटना ही होगा। इटली में रहने वाले एक शख्स को 15 साल तक ना तो काम करने की जोहमत उठानी पड़ी और ना ही उसे कभी ऑफिस जाकर अपना चेहरा दिखाना पड़ा।

15 साल तक घर बैठे लिया वेतन

15 साल तक घर बैठे लिया वेतन

दिलचस्प बात तो यह है कि काम ना करने पर भी उसके खाते में हर महीने मोटी सैलरी आती रही। यह बात जानकर आप भी जरूर ऐसी नौकरी या कंपनी ज्वाइन करना चाहेंगे, लेकिन जरा ठहरिए जनाब इस कहानी में एक ट्विस्ट है। दरअसल, इटली के शख्स पर पुलिस ने धोखाधड़ी, जबरन वसूली और कार्यालय के दुरुपयोग का मामला दर्ज किया है। इतना सब जानने के बाद भी क्या आप अभी भी उस शख्स की नौकरी करना चाहेंगे, अगर नहीं तो आइए जानते हैं आखिर क्या है माजरा?

2005 में छोड़ दी थी नौकरी

2005 में छोड़ दी थी नौकरी

मामला इटली के कैटनजारो शहर का है जहां के एक अस्पताल में काम करने वाले कार्मचारी सल्वाटोर स्कुमेस कथित तौर पर 15 साल पहले यानी 2005 में नौकरी छोड़ दी थी। हालांकि इसके बावजूद सल्वाटोर के अकाउंट में नियमित रूप से सैलरी आती रही जिसका खुलासा अब हुआ है। पुलिस का कहना है कि सल्वाटोर के खाते में इन 15 वर्षों के दौरान 5,38,000 यूरो यानी लगभग पांच करोड़ रुपए सैलरी आई।

अस्पताल के कर्मचारियों से भी पूछताछ

अस्पताल के कर्मचारियों से भी पूछताछ

इस बीच सल्वाटोर स्कुमेस ने नातो कोई काम किया और ना ही उसने कैटनजारो स्थित पुगलीस सियासीओ अस्पताल को सैलरी आने की जानकारी दी। फिलहाल पुलिस ने शख्स पर धोखाधड़ी सहित कई अन्य तरह के मामले दर्द किए हैं। इसके अलावा पुलिस ने अस्पताल के छह कर्मचारियों को भी जांच के दायरे में रखा है। सल्वाटोर की करतूत प्रकाश में तब आया जब पुलिस ने इस मामाले की जांच शुरू की। पुलिस ने अन्य कर्मचारियों से पूछताछ की और आरोपी का सैलरी रिकॉर्ड देखा तो दंग रह गए।

अस्पताल के निदेशक को दी थी धमकी

अस्पताल के निदेशक को दी थी धमकी

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक सल्वाटोर स्कुमेस साल 2005 में कथित तौर पर अस्पताल के निदेशक को धमकी दी थी कि वह उसके खिलाफ अनुशासनात्मक रिपोर्ट दर्ज करने से रोक दे। निदेशक के रिटायर होने के बाद सल्वाटोर की अनुपस्थिति जारी रही क्योंकि न तो मानव संसाधन और न ही निदेशक के जाने के बाद किसी ने देखा कि वह काम पर आ रहा है या नहीं। इस बीच सल्वाटोर के खाते में सैलरी का आना जारी रहा। बाद में इटली सरकार ने भी खुलासा किया कि इतालवी सार्वजनिक क्षेत्र में किस तरह से लोगों की गैर-मौजूदगी रही थी।

यह भी पढ़ें: डॉगी को 'चीफ टेस्टिंग ऑफिसर' बनाना चाहती है ये बीयर कंपनी, मिलेगी 15 लाख रुपए सैलरी

English summary
Italian man took salary without working for 15 years added five crore rupees
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X