• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

मकड़ी के जाल की 'चादर' से ढका ऑस्ट्रेलिया का ये इलाका, जानिए कयामत का इशारा या कोई और वजह

|
Google Oneindia News

विक्टोरिया, 16 जून। ऑस्ट्रेलिया पर एक के बाद एक प्रकृति अपना कहर ढा रही है। पिछले साल लगी जंगलों में आग, फिर कोरोना वायरस, बाढ़-बारिश और चूहों के आतंक के बाद अब ऑस्ट्रेलिया में मकड़ियां 'कयामत' लेकर आ गई हैं। दरअसल, सोशल मीडिया पर कुछ हैरान करने वाली तस्वीरें सामने आई हैं जिसमें देखा जा सकता है कि जमीन के बड़े क्षेत्रफल में मकड़ियों का जाल 'चादर' की तरह पेड़-पौधों और घास पर बिछा हुआ है। इन तस्वीरों को देखकर ऑस्ट्रेलिया के लोग खौफ में आ गए हैं।

यहां दिखा मकड़ियों का जाल का 'चादर'

यहां दिखा मकड़ियों का जाल का 'चादर'

मामला, ऑस्ट्रेलिया स्थित विक्टोरिया के गिप्सलैंड कस्बे का बताया जा रहा है जहां राहगीर और स्थानीय लोग मकड़ियों के जाल को लेकर हैरान-परेशान हैं। कस्बे के कई इलाकों को मकड़ी के जाल की 'चादर' ने ढंक लिया है, आज से पहले ऐसी कभी नहीं देखा गया। इस घटना के बाद जहां स्थानीय लोगों और प्रशासन में हड़कंप मचा हुआ है। वहीं, सोशल मीडिया पर लोग इस घटना को लेकर किसी अनहोनी से जोड़ रहे हैं।

वजह जानकर आप भी रह जाएंगे हैरान

वजह जानकर आप भी रह जाएंगे हैरान

हालांकि इसके पीछे की वजह जानकर आप भी हैरान रह जाएंगे। दरअसल, यह कोई अनहोनी की आहट नहीं बल्कि मकड़ियों का प्राकृतिक स्वभाव है। इस समय ऑस्ट्रेलिया के कई इलाके भीषण बारिश और बाढ़ से जूझ रहे हैं, इस बीच मकड़ियां भी अपनी जान बचाने के लिए ऊंचे स्थान की ओर पलायन कर रही हैं। गिप्सलैंड कस्बे में बड़े क्षेत्रफल में मकड़ी के जाल को देखा जा रहा है, यहां से गुजरने वाले लोग अपने फोन में इस घटना को कैद कर रहे हैं।

वैज्ञानिकों ने दिया ये तर्क

वैज्ञानिकों ने दिया ये तर्क

एक शख्स ने फोटो शेयर करते हुए लिखा, बाढ़ और बारिश कम थी, जो मकड़ियों की ये कयामत आ गई। इस दिलचस्प घटनाक्रम पर वैज्ञानिकों का कहना है कि ऐसा होना कोई नई बात नहीं है, जिस तरह हम इसंन अपनी जान बचाने के लिए बाढ़ और बारिश से बचते हुए ऊंचे स्थान पर जाते हैं, उसी प्रकार मकड़ियां भी ऊंची जगहों की तलाश करती हैं। मकड़ियां बाढ़ के बाद नई से बचने के लिए जान बुनती हैं, जिससे वह जमीन से ऊपर रह सकें।

इन मकड़ियों से कोई खतरा नहीं

इन मकड़ियों से कोई खतरा नहीं

यूनिवर्सिटी और सिडनी के प्रोफेसर होचुली ने मकड़ियों के इस स्वभाव पर तर्क देते हुए कहा कि ये मकड़ियां बाढ़ आने के बाद ऊंचे स्थान पर जाने का प्रयास करती हैं, इस दौरान वह जो जाल बुनती हैं वह सामन्य से अलग होता है। इसमें कई परतें होती हैं, जिसके बीच वह खुद को सुरक्षित रखती हैं। हालांकि इन मकड़ियों से कोई खतरा नहीं है। बता दें कि साल 2018 में ऐसा ही एक नजारा ग्रीस के शहर ऐटोलिको में देखने को मिल था।

काफी तेजी से चल सकती हैं मकड़ियां

काफी तेजी से चल सकती हैं मकड़ियां

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार टेट्रागंथात मकड़ियों ने ऐटोलिको में इस जाल को बनाया था। ये मकड़जाल देखने में काफी भयावह लग रहे थे। गौर करने वाली बात यह है कि यह मकड़ियां इतनी छोटी और वजन में हल्की हैं कि वह जमीन से कहीं ज्यादा तेज पानी पर चल सकती है। हालांकि वह इंसानों के लिए खतरा नहीं हैं। स्थानीय न्यूज वेबसाइट के अनुसार यह मकड़ियां इंसानों के लिए खतरनाक नहीं हैं और किसी भी तरह का नुकसान नहीं पहुंचाती है।

यह भी पढ़ें: Photos: महिला ने खरीदा 'जिंजरब्रेड हाउस', पैकेट खोलते ही अंदर से निकली शिकारी मकड़ी और फिर...

English summary
area of gippsland town Australia covered with a spider web Photos viral
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X