• search
बिहार न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

SHO अश्विनी कुमार को अकेला छोड़ने के मामले में 6 पुलिसकर्मी हुए निलंबित, बंगाल में भीड़ ने कर दी थी हत्या

|

किशनगंज। बिहार के किशनगंज थाने के एसएचओ अश्विनी कुमार वॉन्टेड अपराधी को पकड़ने के लिए पुलिस टीम के साथ पश्चिमी बंगाल के पांतापाड़ा गांव में गए थे। यहां भीड़ ने एसएचओ की पीट-पीटकर मौत के घाट उतार दिया। तो वहीं, इस मामले में पुलिस-प्रशासन ने अब बड़ी कार्रवाई की है। पश्चिमी बंगाल के पांतापड़ा घटना स्थल से अपनी जान बचाने वाले सर्किल इंस्पेक्टर मनीष कुमार समेत छह पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया गया है। वहीं, इस मामले में मुख्य आरोपी समेत तीन लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया है।

Circle Inspector along with 6 other police officials has been suspended for leaving SHO of Kishanganj Ashwini Kumar alone with the crowd in Uttar Dinajpur

किशनगंज के एसपी कुमार आशीष ने मीडिया को जानकारी देते हुए बताया कि पूर्णिया रेंज के आईजी सुरेश कुमार चौधरी ने कर्तव्यहीनता के आरोप में छह पुलिसकर्मियों को निलंबित किया है। निलंबित होने वाले 6 पुलिसकर्मी में अंचल निरीक्षक मनीष कुमार, सिपाही राजू सहनी, अखिलेश्वर तिवारी,प्रमोद कुमार पासवान, उज्ज्वल कुमार पासवान, सुनील चौधरी सहित सिपाही सुशील कुमार का नाम शामिल है। तो वहीं, इस मामले में तीन अपराधियों को भी गिरफ्तार किया गया है, जिसमें मुख्य अभियुक्त फिरोज आलम, अबुजार आलम और सहीनुर खातून शामिल है।

क्या है पूरा मामला
ये मामले पश्चिमी बंगाल के उत्तर दिनाजपुर के गोलपोखर पुलिस स्टेशन इलाके के गांव पांतापारा में हुई। प्राप्त समाचार के मुताबिक, किशनगंज थाने के एसएचओ अश्विनी कुमार दलबल के साथ बाइक चोरी को पकड़ने बंगाल के पांतापाड़ा गांव छापेमारी करने गए थे। जहां भीड़ ने पुलिस कर्मियों पर जानलेवा हमला कर खदेड़ा, वहीं थाना अध्यक्ष को मौके पर पाकर उसकी पीट पीट कर हत्या कर दी थी। घटना की सूचना मिलते ही पुलिस प्रशासन में हड़कंप मच गया है। सूचना मिलते ही वरीय पुलिस अधिकारी पूर्णिया आईजी सुरेश चौधरी और एसपी कुमार आशुतोष मौके पर पहुंचे।

नहीं मिला स्थानीय पुलिस का सहयोग
वहीं, इस पूरे मामले पर पूर्णिया रेंज के आई जी ने मीडिया को जानकारी देते हुए बताया था कि, 'किशनगंज के एसएचओ बाइक चोरी के एक मामले में छापेमारी करने आए थे। छापेमारी के दौरान अश्विनी कुमार को स्थानीय पुलिस से कोई सहयोग नहीं मिला। अश्विनी कुमार पर जिस समय हमला हुआ उस वक्त उनके साथ पूरी टीम थी, लेकिन अपराधियों ने रात्रि का फायदा उठाकर पुलिस को घेर लिया और उनपर ताबड़तोड़ गोलियां चलाईं, जिसमें अश्विनी कुमार को भी गोली लगी और उनकी मौत हो गई। पुलिस ने कहा है कि इस मामले में छानबीन की जाएगी और आरोपियों को किसी भी कीमत पर बख्शा नहीं जाएगा।

ये भी पढ़ें:- बंगाल में चोरी के मामले में छापेमारी करने गए बिहार पुलिस के अधिकारी की उत्तर दिनाजपुर में पीट पीट कर हत्याये भी पढ़ें:- बंगाल में चोरी के मामले में छापेमारी करने गए बिहार पुलिस के अधिकारी की उत्तर दिनाजपुर में पीट पीट कर हत्या

English summary
Circle Inspector along with 6 other police officials has been suspended for leaving SHO of Kishanganj Ashwini Kumar alone with the crowd in Uttar Dinajpur
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X