India
  • search
बिहार न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
Oneindia App Download

अभिनेता सोनू सूद से मदद मांगना पड़ गया महंगा, ठगों ने ख़ाली कर दिया अकाउंट

|
Google Oneindia News

पटना, 26 जून 2022। साइबर ठग नए-नए तरीक़े से लोगों को अपना शिकार बना रहे हैं। ताज़ा मामला बिहार के नालंदा ज़िले का है। जहां एक शिक्षक से सोनू सूद के मदद के नाम पर ठगी हो गई। दरअसल बिहार शरीफ़ के द्वारका नगर मोहल्ले के रहने वाले शुभम कुमार पिछले एक साल से एक गंभीर बीमारी से जूझ रहे हैं। उन्होंने अपने इलाज के लिए मुख्यमंत्री, प्रधानमंत्री और राष्ट्रपति तक से गुहार लगाई लेकिन कहीं से भी उन्हें मदद नहीं मिली। जब सब जगह से वह निराश हो गए तो उन्होंने ट्वीटर के ज़रिए बॉलिवुड अभिनेता सोनू सूद से मदद की गुहार लगाई लेकिन इस बार मदद मिलने की बजाए वह ठगों के शिकार हो गए।

अभिनेता सोनू सूद से मदद मांगना पड़ गया महंगा

अभिनेता सोनू सूद से मदद मांगना पड़ गया महंगा

नालंदा ज़िले के बीमार शिक्षक को अपने इलाज के लिए अभिनेता सोनू सूद से मदद मांगना महंगा पड़ गया। साइबर ठगों ने उन्हें अपने जाल में फंसाकर अकांउट से पैसे उड़ा लिए। पीड़ित शिक्षक शुभम कुमार ने बता कि वह पिछले एक साल गंभीर बीमारी की वजह जिंदगी की जंग लड़ रहे हैं। 2021 में वह कोरोना संक्रमित हुए थे जिसके बाद उनका फेफड़ा पूरी तरह से अफक्टेड हो गया। चेन्नई के एमजीएम हेल्थकेयर में फेफड़ा ट्रांसप्लांट के लिए 45 लाख रुपए की मांग की है।

ठगों ने कर दिया अकाउंट खाली

ठगों ने कर दिया अकाउंट खाली

शुभम कुमार के पास ज्यादा पैसे नहीं है इसलिए वह घर पर ही ऑक्सीजन सपोर्ट पर बिहारशरीफ़ में किराए के मैदान में रह रहे हैं। पीड़ित शिक्षक शुभम कुमार अपने इलाज के लिए मुख्यमंत्री से लेकर राष्ट्रपती तक से मदद की गुहार लाग चुके हैं लेकिन उन्हें मदद नहीं मिल पाई है। उनके इलाज के लिए जब किसी ने सुध नहीं ली तो उन्होंने मदद की आस में बॉलीवुड अभिनेता सोनू सूद को ट्वीट कर इलाज की गुहार लगाई। शनिवार की देर शाम किसी अंजान शख्स ने खुद को सोनू सूद का मैनेजर बताकर शुभम कुमार से बात किया। बात करने के बाद उसे एक लिंक भेज कर रजिस्ट्रेशन करने के लिए कहा। शुभम को थोड़ा शक हुआ तो उसने अपने अकाउंट में 2 हज़ार रुपये छोड़ कर बाकी रुपये अपने भाई के अकाउंट में ट्रांसफर कर दिया।

मदद की आस में हुए ठगी का शिकार

मदद की आस में हुए ठगी का शिकार

अब सवाल यह उठता है कि जब उसे शक हुआ तो फिर रजिस्ट्रेशन के लिए उसे लिंक खोलना ही नहीं चाहिए था। लेकिन डूबते को तिनके का सहारा वाली बात है, हर जगह से निराश शुभम ने मदद की आस में दिए गए लिंक से रजिस्ट्रेशन की प्रकिया पूरी की और उसके बाद ठगों ने अपने अकाउंट से एक रुपया कटवाया और कुछ देर बाद ही शुभम कुमार के अकाउंट से सारे पैसे उड़ गए। पैसे उड़ जाने के बाद शुभम कुमार ख़ुद को ठगा महसूस कर रहे हैं। अब भी वह इलाज की आस में लोगों से मदद की गुहार लगा रहे हैं।

इलाज के लिए मसीहा का इंतज़ार

इलाज के लिए मसीहा का इंतज़ार

पीड़ित शुभम की मां का कहना है कि उनका बेटा जिंदगी और मौत के बीच जंग लड़ रहा है। हर दिन 4 घंटे ऑक्सीजन के सपोर्ट की ज़रूरत पड़ रही है। बेटे के इलाज के लिए अपना खेत भी बेच चुकी हैं। घर में कमाने वाला सिर्फ़ उनका बड़ा बेटा शुभम ही है जो कि गंभीर बीमारी से जूझ रहा है। शुभम जब ठीक था तो कोचिंग चलाकर अपने बुजुर्ग माता पिता का भरण पोषण करता था। लेकिन अब खुद शुभम के इलाज के लिए उनकी मां को किसी मसीहा का इंतज़ार है तो उनके बेटे के इलाज के लिए मदद कर सके।

ये भी पढ़ें: बिहार: CM नीतीश कुमार के निर्देशानुसार पंचायत जनप्रतिनिधि कर रहे जनताओं के मसलों का हल

Comments
English summary
Seeking help from bollywood actor Sonu Sood became expensive
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X