• search
बिहार न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

सारण जिले में मौजूद जयप्रभा सेतु से एंबुलेंस वाले नीचे फेंक देते हैं शव, स्थानीय लोगों में संक्रमण का खौफ

|

पटना । एक तरफ जहां कोरोने के चलते लोगों को जान गंवानी पड़ रही है। वहीं इस महामारी के दौरान में कुछ लोगों की लापरवाही के चलते संक्रमण के और फैलने का खतरा बढ़ता जा रहा है। हाल ही में बिहार और उत्तर प्रदेश के सीमावर्ती इलाकों में गंगा नदी में कई लाशें मिलने से हड़कंप मचा हुआ है। वहीं सारण जिले के मांझी प्रखंड के जयप्रभा सेतु इस वक्त कोरोना संक्रमित शवों का निपटारा केंद्र बन गया है। आए दिन इस पुल से एम्बुलेंस चालक अस्पतालों से लाये गए शवों को फेंककर आराम से निकल जाते हैं।

saran jai prabha setu ambulance driver throw dead body in river

स्थानीय लोगों के अनुसार बिहार के साथ-साथ यूपी के तरफ से भी एंबुलेंस चालक आते हैं और शवों को पुल से नीचे फेंककर फरार हो जाते हैं। संक्रमित शवों का अंतिम संस्कार भी नही होता है और न ही उनको मिट्टी में दफनाया जाता है। वहीं बक्सर जिले में गंगा नदी में बहकर आए शवों में से 71 को मंगलवार को जिला प्रशासन ने निकाला है, इन सभी शवों को अंतिम संस्कार करा दिया गया है।

दिल्ली में कई दिनों से घट रहे कोरोना के मामलों ने फिर मारा उछाल, पिछले 24 घंटे में मिले 13287 संक्रमित मरीजदिल्ली में कई दिनों से घट रहे कोरोना के मामलों ने फिर मारा उछाल, पिछले 24 घंटे में मिले 13287 संक्रमित मरीज

सोमवार को बक्सर जिले के चौसा प्रखंड के महादेवा घाट के पास सोमवार को लोगों ने घाट किनारे संदिग्ध कोरोना संक्रमितों की लाशों को एक साथ बहते हुए देखा था। जो सड़ी गली हालत में किनारे पर लग गईं थीं। जिसके बाद जिला प्रशासन ने इनको निकालने का काम शुरू किया था। शवों का कोविड सैंपल भी लिया गया है। प्रशासन का कहना है कि यूपी की ओर से लाशें बहकर आई हैं। क्योंकि ये इलाका पूर्वी उत्तर प्रदेश से लगा हुआ है। वहीं उत्तर प्रदेश की ओर से इसे नकारा गया है।

English summary
saran jai prabha setu ambulance driver throw dead body in river
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X