• search
बिहार न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

देर रात हजारों की संख्या में पहुंचे छात्रों ने छुड़ाए प्रशासन के पसीने, कई ट्रेनें करनी पड़ी रद्द

|
Google Oneindia News

पटना। रेलवे ग्रुप डी की परीक्षा के पैटर्न में बदलाव और एनटीपीसी की परीक्षा में हुई धांधली को लेकर सोमवार की देर रात को छात्रों ने प्रशासन के पसीने छुड़ा दिये। हजारों की संख्या में एकत्रित हुए छात्रों ने बिहार के कई ट्रेनों का परिचालन रोक दिया। अलग-अलग मांगों को लेकर एकसाथ आए छात्रों ने पटना से लेकर आरा तक रेलवे सेवा को प्रभावित कर दिया। इसके चलते कई ट्रेनों को रद्द करना पड़ा तो कई अलग-अलग स्टेशनों पर महत्वपूर्ण ट्रेनें काफी देर तक खड़ी रहीं। इसके बाद छात्रों को काबू में करने के लिए पुलिस को लाठियां चटकानी पड़ी और आंसू गैस के गोले भी दागने पड़े।

patna to aara competitive students did railway track jam

विरोध प्रदर्शन कर रहे छात्रों के पटना के डीएम चंद्रशेखर सिंह और एसएसपी राजेन्द्र नगर टर्मिनल पहुंचे और छात्रों को समझाने की कोशिश की लेकिन जब छात्र नहीं माने तो लाठीचार्ज करना पड़ा। प्रदर्शन कर रहे छात्रों ने आरोप लगाया है कि रेलवे ग्रुप डी की परीक्षा में जो बदलाव किया है वह सही नहीं है। साल 2019 के फरवरी में फॉर्म भरा था। इसके बाद रेलवे की तरफ से सितंबर 2019 में परीक्षा लेने की बात कही गई थी लेकिन तय समय पर परीक्षा नहीं हुई।

फिर डिपार्टमेंट ने दिसंबर 2021 में आश्वस्त किया था कि सीबीटी की परीक्षा 23 फरवरी 2022 से शुरू होगी। छात्रों का आरोप है कि अब अचानक रेलवे ने सोमवार को नोटिस जारी करते हुए यह कहा है कि ग्रुप डी की परीक्षा एक नहीं बल्कि 2 एग्जाम के तहत लिया जाएगा। छात्रों ने कहा कि यह फैसला छात्रों के हित में नहीं है। प्रदर्शनकारी छात्रों ने यह भी आरोप लगाया कि एग्जाम में पहले से ही देरी हो गई है और अब ऐसे में दो परीक्षा आयोजित होने से दो-तीन साल और लग जाएंगे।

patna to aara competitive students did railway track jam

प्रदर्शन करने वाले छात्रों का कहना था कि एनटीपीसी की परीक्षा दिसंबर 2020 से अप्रैल 2021 में हुई थी। बोर्ड ने कहा था कि पीटी का रिजल्ट 20 गुना ज्यादा दिया जाएगा लेकिन कोई अपने नियमों पर खरा नहीं उतरा। छात्रों ने कहा है कि ग्रुप डी के नोटिफिकेशन को वापस लिया जाए और एनटीपीसी रिजल्ट को फिर से रिवाइज किया जाए।

    Patna में Rajendra Nagar Terminal पर हजारों छात्रों का प्रदर्शन, जानिए मामला | वनइंडिया हिंदी

    जर्मनी में पहली बार मिले एक लाख से ज्यादा कोरोना संक्रमित, फिर भी प्रतिबधों के खिलाफ हो रहा प्रदर्शनजर्मनी में पहली बार मिले एक लाख से ज्यादा कोरोना संक्रमित, फिर भी प्रतिबधों के खिलाफ हो रहा प्रदर्शन

    24 जनवरी को पटना और पटना के ही राजेंद्रनगर टर्मिनल से प्रस्थान करने वाली पांच ट्रेनों का परिचालन रद्द कर दिया गया। रद्द होने वाली ट्रेनों में 12309 राजेंद्र नगर टर्मिनल-नई दिल्ली तेजस राजधानी एक्सप्रेस, 12393 राजेंद्र नगर टर्मिनल-नई दिल्ली संपूर्ण क्रांति एक्सप्रेस, 13288 राजेंद्र नगर टर्मिनल-दुर्ग साउथ बिहार एक्सप्रेस, 12352 राजेंद्र नगर टर्मिनल-हावड़ा एक्सप्रेस और 13201 पटना-लोकमान्य तिलक टर्मिनल एक्सप्रेस शामिल थीं।

    Comments
    English summary
    patna to aara competitive students did railway track jam
    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X