India
  • search
बिहार न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
Oneindia App Download

एक ऑडियो क्लिप और थम गया ' छोटे सरकार' अनंत सिंह का सियासी सफर, जानिए पूरा मामला

|
Google Oneindia News

पटना, 22 जून 2022। बिहार में बाहुबली नेताओं के फ़हरिस्त लंबी है, कई बाहुबली नेताओं का सियासी सफ़र सज़ायाफ़्ता होने के बाद थम गया है। वहीं अब पांच बार से विधायक रहे अनंत सिंह के सियासी सफर पर भी रुक गया है। आपको बता दें कि अनंत सिंह 42 सालों का राजनीतिक अनुभव रहा है। अनंत सिंह पहली बार 1980 में सुर्खियों में आए थे। जब उन्होंने कांग्रेस उम्मीदवार श्याम सुंदर धीरज को मोकामा विधानसभा सीट से जीत दर्ज करवाने में अहम किरदार निभाया था। अनंत सिंह के सियासी सफर की बात की जाए तो पहली बार 2005 में विधायक बने थे।

अनंत सिंह को कोर्ट ने सुनाई 10 साल की सज़ा

अनंत सिंह को कोर्ट ने सुनाई 10 साल की सज़ा

अनंत सिंह के सियासी सफर पर ग्रहण किस तरह से लगा और कैसे एक क्लिप ने उनकी मुश्किलें बढ़ा दीं। आइए विस्तार से जानते हैं। मोकामा के बाहुबली विधायक अनंत सिंह को घर में एके-47 और हैंड ग्रेनेड रखने के मामले में एमपी/एमएलए कोर्ट ने दोषी करार देते हुए 10 साल की सज़ा सुनाई है। दोषी क़रार होने के साथ अनंत सिंह की विधानसभा सदस्यता भी ख़त्म हो गई है। पिछले विधानसभा चुनाव में राष्ट्रीय जनता दल की टिकट पर अनंत सिंह ने मोकामा विधानसभा सीट से जीत दर्ज की थी। सबकुछ तो ठीक ही चल रहा था लेकिन एक ऑडियो क्लिप ने अनंत सिंह के राजनीतिक कैरियर को ही तबाह कर दिया।

एक ऑडियो क्लिप ने बढ़ाई अनंत सिंह की मुश्किलें

एक ऑडियो क्लिप ने बढ़ाई अनंत सिंह की मुश्किलें

यह मामला क़रीब तीन साल पुराना है, बाढ़ अनुमंडल की पुलिस ने 14 जुलाई 2019 में तीन बदमाशों को पंडारक थाना क्षेत्र से अधमरे हालत में गिरफ्तार किया था। उनके पास से हथियार भी बरामद हुए थे। तफ़्तीश के दौरान एक बदमाश के पास से मोबाइल भी मिला जिसमे आडियो क्लिप थी। ऑडियो क्लिप में भोला सिंह और उसके भाई मुकेश सिंह की हत्या की साजिश रचते हुए अनंत सिंह की आवाज़ थी। ग़ौरतलब है कि उस वक्त अनंत सिंह जेल में बंद थे। अनंत सिंह पर पुटुस हत्याकांड और सरकारी आवास से मैगजीन मिलने का आरोप था। इस वजह से कोई ठोस सबूत नहीं मिल पा रहा था।

पुलिस शुरू कर दिया था शिकंजा कसना

पुलिस शुरू कर दिया था शिकंजा कसना

अनंत सिंह के आवाज की फोरेंसिक जांच रिपोर्ट में पुष्टि हुई, जिसके बाद से ही पुलिस ने उनपर शिकंजा कसना शुरू कर दिया। इस मामले मे तीन शूटर गोलू कुमार( बुद्धा कालोनी थाना क्षेत्र चकारम निवासी) छोटू (दुजरा निवासी) और छोटू उर्फ राजीव (मैनपुरा निवासी) को पुलिस ने गिरफ़्तार किया। इन सबके आलावा अनंत सिंह, लल्लू मुखिया, रणवीर यादव, विकास सिंह, उदय यादव और अन्य लोगों के ख़िलाफ 75/19 मामला दर्ज किया गया था। इसके बाद से ही अनंत सिंह की मुश्किले बढ़ती चली गईं और अंजाम यह हुआ की उनका सियासी सफर रुक ही गया।

ये भी पढ़ें: बिहार: पूजा का प्रसाद खाने से बिगड़ी बच्चों की तबियत, आनन-फ़ानन में कराया गया अस्पताल में भर्ती

Comments
English summary
one audio clip destroyed political career of mokama mla anant singh
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X