नाबालिग बनी मां तो पता चला गरीबी का दर्द, मां-बाप बीमार और दरिंदे ने उठाया फायदा

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

पटना। गरीबी और मजबूरी का फायदा उठाकर एक युवक ने नाबालिक लड़की के साथ शारीरिक संबंध बनाए। इसी दौरान लड़की गर्भवती हो गई और गर्भ गिराने के लिए उसके पास पैसे नहीं थे तो ये घटना तब सामने आई जब बच्चे ने जन्म लिया। गरीबी से लाचार नाबालिग लड़की अपने बच्चे को जन्म देने सदर अस्पताल पहुंची। जहां पहले तो डॉक्टरों ने उससे कई तरह के सवाल पूछे फिर जवाब सुनने के बाद सभी हैरान हो गए। क्योंकि नाबालिग ने कहा कि गरीबी और परिवार चलाने की मजबूरी के लिए गांव का ही एक युवक उससे रोजाना शारीरिक संबंध बनाता था। जब वो गर्भवती हो गई तो इस रिश्ते से वो इनकार करने लगा।

नाबालिग बनी मां,बीमार मां-बाप दरिंदे ने गरीबी का उठाया फायदा

गरीबी और भुखमरी से परेशान हम लोग इस बात का विरोध नहीं कर सके और नतीजा ऐसा हुआ कि लोग इस हालत में आ गए हैं। नाबालिक लड़की की जुबान से इस तरह की बात सुनने के बाद डॉक्टरों ने मामले की जानकारी थाने को दी और मौके पर पहुंची नजदीकी थाने की पुलिस ने लड़की के बयान के आधार पर मजबूरी का फायदा उठाते हुए शारीरिक शोषण करने वाले आरोपी पर मामला दर्ज किया। वहीं लड़की ने अस्पताल में एक बच्चे को जन्म दिया है।

जानकारी के मुताबिक मामला बिहार के हाजीपुर जिले का है। जहां एक गरीब परिवार की रहने वाली नाबालिग लड़की जमुनिया (काल्पनिक नाम) बीमार मां-बाप की देखरेख करती थी और अपने परिवार का जीवन यापन मवेशी पाल कर रही थी। इसी दौरान रोजाना मवेशी चारा लाने के लिए नदी के घाट पर जाती थी। जहां चारा लाने के लिए नदी को पार करना पड़ता था। जिसके लिए नाविक के द्वारा पैसे मांगे जा रहे थे।

पैसे के अभाव में नाविक ने नाबालिग को कहा कि मैं तुम्हें रोज नदी पार करा दूंगा लेकिन इस दबाव में उसने एक शर्त रखी। गरीबी और भुखमरी से लाचार जमुनिया नाविक के साथ शारीरिक संबंध बनाने को तैयार हो गई। ये सिलसिला लगभग कई महीनों तक चला। इसी दौरान वो उसके बच्चे की मां बनने वाली हो गई। जब इस बात की जानकारी नाविक को हुई तो वो इसका विरोध करने लगा। पैसे के अभाव में वो बच्चे को नहीं गिरा सकी। देखते ही देखते आसपास के लोग उसे कुलटा और बदचलन कहते हुए तरह-तरह के ताने देने लगे।

गरीबी से लाचार जमुनिया चुपचाप अपनी ये बदनामी सहती चली गई और मंगलवार सदर अस्पताल में उसने एक बच्चे को जन्म दी। अस्पताल के डॉक्टरों द्वारा जब उसे हौसला दिया गया तो मजबूरी की शिकार हुई जमुनिया अपने साथ हुए अन्याय और शारीरिक शोषण के इंसाफ के लिए प्रशासन से गुहार लगाने लगी। वहीं ग्रामीणों का कहना है कि अस्पताल से आने के बाद नाबालिक जमुनिया अपने बच्चे को कल्लू राय के दरवाजे पर रख इंसाफ की बात कर रही थी। तभी आसपास के लोग वहां पहुंचे तो आरोपी युवक अपने पूरे परिवार के साथ फरार हो गया। फिलहाल गांव के लोगों ने आरोपी युवक के खिलाफ आवाज उठाना शुरू कर दिया है लेकिन उसकी दबंगई के सामने सभी खुलकर आवाज उठाने से कतरा रहे हैं।

Read more: लाश पर महिला तांत्रिक का नहीं चला जादू तो पता है जवाब क्या दिया..!

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Minor become mother cause poverty and fraud
Please Wait while comments are loading...