• search
बिहार न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

अपनी चाल से बड़े-बड़ों को पिलाती है पानी, बस 4 साल की चैंपियन

By Gaurav Dwivedi
|

पटना। 4 साल का मासूम बच्चा जिसे ठीक से ना तो चलना आता है और ना ही बोलना वो अगर शतरंज के खेल में बड़े-बड़े को हैरान कर देता है तो आप समझ सकते हैं कि इस बच्चे का दिमाग कैसा होगा। जिस खेल को समझने में बड़े लोगों के पसीने छूट जाते हैं वो खेल इस बच्चे के बाएं हाथ का है और 4 साल की उम्र में ही ये चैंपियन बन चुकी है। प्रदेश स्तर पर हुए शतरंज प्रतियोगिता में बड़े-बड़े लोगों के छक्के छुड़ाते हुए इसने 9वां स्थान प्राप्त किया है। जिसे देखने के बाद सभी इसकी उपलब्धियों पर तारीफ कर रहे हैं और भीतर ही भीतर हैरान हो रहे हैं कि आखिरकार 4 साल की ये बच्ची कैसे शतरंज जैसे पेंचीदा खेल में माहिर हो गई। हम बात कर रहे हैं बिहार के छपरा जिले के रहने वाली 4 साल के साक्षी के बारे में जिसने अपने पिता से शतरंज की चाल शुरू की और अब उसके सामने बड़े-बड़े नहीं टिकते हैं।

टीचर की बेटी का चेस में कमाल

टीचर की बेटी का चेस में कमाल

जानकारी के मुताबिक बिहार के छपरा जिले की रहने वाली एक शिक्षिका की बेटी साक्षी को अपने तेज दिमाग की बदौलत अंडर-5 राष्ट्रीय शतरंज प्रतियोगिता में बिहार टीम के लिए चयनित किया गया है। इसको लेकर उसकी शिक्षिका मां का कहना है कि हमेशा से ही उसका ये सपना था कि वो राष्ट्रीय प्रतियोगिता में शामिल होकर बिहार का नाम रोशन करे। सबसे पहले इसने अपने पापा के साथ शतरंज खेलना शुरू किया और देखते ही देखते कुछ ही दिनों में ये इतनी माहिर हो गई की पलक झपकते ही उसने अपने पापा को शतरंज की चाल में हरा देती थी।

4 साल में जान गई है शतरंज के इंटरनेशनल ट्रिक्स

4 साल में जान गई है शतरंज के इंटरनेशनल ट्रिक्स

इस खेल में अपने से 15 साल बड़े प्रतिभागियों को भी आराम से हरा देता है। तो साक्षी के पिता का कहना है कि शतरंज के प्रति इसका दिमाग इतना तेज था कि वो बहुत जल्द ही शतरंज की तमाम बारिकियों को समझ गया और अब वो शतरंज के अंतर्राष्ट्रीय नियमों को भी जान चुका है। इतनी छोटी उम्र में ऐसा कैसे हुआ ये सोच कर हम लोग भी हैरान हैं लेकिन इसे मां सरस्वती का आशीर्वाद समझ हम अपने बच्चे पर गर्व महसूस कर रहे हैं।

शह-मात की गारंटी है बच्ची की प्रतिभा

शह-मात की गारंटी है बच्ची की प्रतिभा

इस 4 साल के मासूम बच्चे की प्रतिभा को देख सभी हैरत में हैं और कहते हैं कि जिस खेल को बड़े-बड़े नहीं समझते हैं और जहां शह-मात की चाल चली जाती है, उस खेल में इस बच्चे की प्रतिभा देख ऐसा लगता है कि इसने अपनी उम्र को ही मात दे दिया हो।

Read more: VIDEO: बसपा नेता को बार-बार घर बुलाती रही पत्नी, जिंदा रहते नहीं लौट सके

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Four years girl is a Chess Champion in Patna
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X