• search
बिहार न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

सुपौल: फांसी के फंदे पर लटके मिले एक ही परिवार के पांच लोगों के शव, बदबू आने पर चला पता

|
Google Oneindia News

सुपौल। खबर बिहार के सुपौल जिले से है, यहां आर्थिक तंगी के चलते एक परिवार के पांच लोगों ने सामूहिक आत्महत्या कर ली। इस घटना का खुलासा उस वक्त हुआ, जब घर के आसपास के रहने वाले लोगों को तेज बदबू महसूस हुई। जिसके बाद उन्होंने पुलिस को सूचना दी। सूचना मिलते ही मौके पर राघोपुर थाने की पुलिस पहुंच गई। पुलिसकर्मी घर का दरवाजा तोड़कर अंदर घुसे तो अंदर का नजारा देखकर दंग रह गए। यहां पति-पत्नी सहित उनके तीन बच्चों के शव फांसी के फंदे पर लटकते हुए मिले। वहीं, इस घटना के बाद से पूरे इलाके में हड़कंम मच गया। फिलहाल पुलिस मामले की जांच-पड़ताल कर रही है और फॉरेंसिक की टीम को भी मौके पर बुला लिया गया है।

    Bihar: Supaul में दर्दनाक घटना, एक ही परिवार के 5 सदस्य फंदे पर लटके मिले | वनइंडिया हिंदी

    Five people of same family extreme step in Supaul district of Bihar

    ये मामला सुपौल जिले के राघोपुर थाना क्षेत्र के गद्दी गांव का है। जानकारी के मुताबिक, मिश्री लाल साह के घर से शुक्रवार (12 मार्च) को तेज बदबू आने पर गांव के लोगों ने मुखिया को बताया। जिसके बाद गांव के मुखिया ने राघोपुर थाना पुलिस को बदबू आने की सूचना दी। सूचना पर पहुंची पुलिस ग्रामीणों की मदद से रात करीब 9 बजे मिश्री लाल के घर का दरवाता तोड़कर अंदर घुसी। तो अंदर का नजारा देखकर सबकी आंखे फटी की फटी रह गईं।

    दरअसल, घर के अंदर एक साथ परिवार के सभी सदस्य फंदे से लटके हुए थे। तो वहीं, मिश्रीलाल साह के परिवार के पांचों सदस्यों के एक साथ खुदकुशी करने से आसपास के इलाके के लोग भी सकते में हैं। पांचों शव मिलने पुलिस ने बाद पुलिस ने मामले की जांच पड़ताल शुरू कर दी है। जिले के एसपी मनोज कुमार ने घटनास्थल पर पहुंचने के बाद एफएसएल की टीम को भी बुलाया। पुलिस अधिकारी के मुताबिक, एफएसएल की टीम की जांच के बाद घटना के बारे में विस्तार से जानकारी मिल सकेगी।

    नहीं थी किसी से कोई दुश्मनी
    तो वहीं, प्रशासन भी एक परिवार के 5 लोगों की आत्महत्या करने की घटना से हैरान है। एसपी ने कहा कि विस्तृत छानबीन के बाद ही मामले की हकीकत सामने आ पाएगी। हालांकि, शुरुआती जांच में मामला आत्महत्या का नजर आ रहा है लेकिन एफएसएल की टीम से भी जांच कराई जा रही है। आस-पड़ोस के लोगों ने बताया है कि परिवार के आर्थिक हालत बेहद खराब थे। वहीं, गांव के मुखिया ने बताया कि मृत परिवार की गांव में किसी से कोई दुश्मनी नहीं है। मिश्री लाल का घर पिछले कुछ दिनों से बंद था और घर के सदस्‍य किसी को भी नहीं देखा गया था।

    पुश्तैनी जमीन भी बेच दी थी
    राघोपुर के गद्दी गांव के लोगों ने मिश्रीलाल साह और उसके परिवार के बारे में बताया कि पिछले 2 साल से यह परिवार कोयला बेचकर गुजारा कर रहा था। जो लॉकडाउन में बंद हो गया था। आर्थिक तंगी की वजह से मिश्रीलाल साह ने अपनी पुश्तैनी जमीन भी बेच दी थी। लोगों ने बताया कि हाल में कुछ दिनों यह परिवार ग्रामीणों से अलग-थलग रहने लगे थे। इस वजह से लोगों ने उनकी खोज-खबर लेनी छोड़ दी थी।

    ये भी पढ़ें:- दरभंगाः भीख मांगने वाली शादीशुदा महिला से गैंगरेप, पुलिस ने दर्ज किया मामलाये भी पढ़ें:- दरभंगाः भीख मांगने वाली शादीशुदा महिला से गैंगरेप, पुलिस ने दर्ज किया मामला

    English summary
    Five people of same family extreme step in Supaul district of Bihar
    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X