• search
बिहार न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

बिहारः घर में उठनी थी बहन की डोली तो उससे पहले उठ गई भाई की अर्थी, मंजर देख सन्न रह गए लोग

|

अरवल। बिहार के अरवल जिले के माली गांव में एक दिल दहला देने वाली घटना सामने आई है, जब घर में बहन की डोली उठने से पहले परिवार वालों को भाई की अर्थी को कंधा देना पड़ा। इस पूरे मंजर को देख मौके पर मौजूद सभी लोगों की आंखें नम हो गईं। दरअसल, दरभंगा जिले के एसएसपी के गार्ड के तौर पर तैनात चिंटू पासवान ने ड्यूटी के दौरान स्वचालित हथियार से गोली मारकर खुदकुशी कर ली थी।

20 जून को थी बहन की शादी

20 जून को थी बहन की शादी

बता दें कि साल 1995 में चिंटू के पिता की नक्सलियों ने गोली मारकर हत्या कर दी थी। मृतक चिंटू की बहन की शादी 20 जून को होने वाली थी। मौके पर कई राजनीतिक और सामाजिक कार्यकर्ताओं ने पहुंचकर पार्थिव शरीर के सामने एक मिनट का मौन रखकर श्रद्धांजलि दी। उनके पार्थिव शरीर का अंतिम संस्कार गांव के पुनपुन नदी स्थित शमशान घाट पर किया गया।

    India China Tension: देश के लिए कुर्बान जवानों को अंतिम विदाई,उमड़ा जन सैलाब | वनइंडिया हिंदी
    लद्दाख में शहीद जवान का पार्थिव शरीर पहुंचा पटना

    लद्दाख में शहीद जवान का पार्थिव शरीर पहुंचा पटना

    वहीं दूसरी लद्दाख में चीनी सैनिकों से भिड़ंत में शहीद हुए जवान सुनील कुमार का पार्थिव शरीर बुधवार की शाम करीब 6 बजे पटना पहुंचा। स्टेट हैंगर में बिहटा के सिकरिया पंचायत के तारानगर गांव के रहने वाली सुनील का पार्थिव शरीर लाया गया। उनके पार्थिव शरीर को लेने के लिए उनके बड़े बेटे आयुष राज, बड़े भाई रिटायर फौजी अनिल कुमार और गांव के कई लोग पहुंचे हुए थे।

    सभी ने दी श्रद्धांजलि

    सभी ने दी श्रद्धांजलि

    स्टेट हैंगर में पार्थिव शरीर को रखा गया, जहां सबसे पहले बड़े बेटे आयुष ने पुष्पचक्र अर्पित किया उसके बाद सुनील के बड़े भाई अनिल ने श्रृद्धांजलि दी। बिहार के इस सपूत को गार्ड ऑफ ऑनर भी दिया गया। उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी, बिहार सरकार के मंत्री नंद किशोर यादव व श्रवण कुमार, विधान सभा में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव, स्थानीय सांसद पूर्व केंद्रीय मंत्री रामकृपाल यादव, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष डॉ. संजय जायसवाल, राजद प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह, कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष मदनमोहन झा, जाप प्रमुख पप्पू यादव समेत सुनील के गांव के कई लोगों ने पुष्पचक्र अर्पित किए।

    गलवान घाटी में बिहार रेजिमेंट के वीर सपूतों ने फिर रचा शौर्य का इतिहास, 300 मक्कार चीनियों से लड़े 20 सैनिक?गलवान घाटी में बिहार रेजिमेंट के वीर सपूतों ने फिर रचा शौर्य का इतिहास, 300 मक्कार चीनियों से लड़े 20 सैनिक?

    English summary
    bhojpur ssp guard did suicide
    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X