बिहार के स्वास्थ्य विभाग में तेजप्रताप के कार्यकाल में हुए घोटाले की होगी जांच

Subscribe to Oneindia Hindi

पटना। राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के बड़े बेटे बिहार के पूर्व स्वास्थ्य मंत्री तेजप्रताप के कार्यकाल के दौरान कई तरह की गड़बड़ियां की गई थी, इसकी शिकायतें अब सामने आ रही हैं। उनके कार्यकाल में हुई गड़बड़ियों की शिकायतों की जांच की जाएगी। केंद्रीय स्वास्थ्य राज्यमंत्री अश्विनी चौबे ने बिहार के गया जिले में एक संवाददाता सम्मेलन में तेजप्रताप के खिलाफ कार्रवाई के संकेत दिए।

तेजप्रताप के कार्यकाल में कई गड़बड़ियां

तेजप्रताप के कार्यकाल में कई गड़बड़ियां

अश्विनी चौबे ने कहा कि अब तक उनके कार्यकाल कि कई खामियों की जानकारी विभाग के पास पहुंच चुकी है। कई लोगों ने उनके कार्यकाल के दौरान हुई गड़बड़ी को लेकर लिखित शिकायत भी दर्ज कराई है। साथ ही उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य मिशन के तहत बिहार को मिले पैसों में 80 प्रतिशत पैसे तेज प्रताप यादव के कार्यकाल के दौरान डंप कर दिये गये।

गड़बड़ियों की होगी विभागीय जांच

गड़बड़ियों की होगी विभागीय जांच

आपको बताते चलें कि बिहार के गया में बातचीत करते हुए केंद्रीय मंत्री अश्विनी चौबे ने कहा कि बिहार को राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के तहत 10,000 करोड़ रुपए दिए गए थे जिसका प्रयोग अब तक नहीं किया गया है। इसके साथ-साथ और भी कई विषयों से जुड़े घोटाले के संकेत मिले हैं, इन सभी विषयों से जुड़े जरूरी तथ्य के बारे में छानबीन की जा रही है जिसके बाद विभागीय जांच शुरू कर दी जाएगी। राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के तहत केंद्र सरकार की ओर से पैसे उपलब्ध कराये जाते हैं। ऐसे में इसमें गड़बड़ी मिलने पर केंद्र सरकार के स्तर पर भी तेज प्रताप यादव के खिलाफ कार्रवाई शुरू हो सकती है।

केंद्रीय मंत्री अश्विनी चौबे ने दिए संकेत

केंद्रीय मंत्री अश्विनी चौबे ने दिए संकेत

वहीं बातचीत करने के दौरान केंद्रीय मंत्री ने राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव पर निशाना साधते हुए कहा कि उन्होंने पहले तो राज्य को चारागाह बना कर लूट लिया। उसके बाद उनके परिवार वालों ने भी यही काम शुरू कर दिया। जब बिहार के स्वास्थ्य मंत्री तेज प्रताप यादव थे तभी बिहार के स्वास्थ्य विभाग का हाल पूरी तरह बेहाल था और बिहार में स्वास्थ्य व्यवस्था को पूरी तरह से चौपट कर दिया था। सभी मेडिकल कॉलेज की व्यवस्था बिगाड़कर रख दिया था। अस्पतालों में दवाओं की किल्लत हो गई थी । मरीज दवा के लिए इधर-उधर घूमते रहते थे और अस्पताल में डॉक्टर मनमानी करते थे। तेज प्रताप यादव के कार्यकाल में कोई भी जनता के विकास का काम नहीं हुआ।

Read Also: कुश्ती देखकर नीतीश कुमार पर भड़के तेजप्रताप, कहा- चाचा को पकड़कर चीर देंगे

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Action by center against Tej Pratap Yadav for scams in health department of Bihar.
Please Wait while comments are loading...