• search
भुवनेश्वर न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

ओडिशा में कोरोना की नकली दवाओं की जांच के लिए गठित की गई स्पेशल टास्क फोर्स

|
Google Oneindia News

भुवनेश्वर, जून 16। कोरोना वायरस की नकली दवा के व्यापार को लेकर ओडिशा की नवीन पटनायक सरकार काफी सख्त नजर आ रही है। हाल ही में राज्य सरकार ने नकली दवा बनाने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की चेतावनी दी थी। इस फैसले के बाद सरकार ने नकली दवा के व्यापार की क्राइम ब्रांच से जांच कराने के ऑर्डर दिए थे। इसके एक दिन बाद बुधवार को नवीन पटनायक ने मामले की जांच के लिए एक स्पेशल टास्क फोर्स गठित की है।

Odisha cm

एसटीएफ अधिकारियों ने मंगलवार को औषधि नियंत्रण निदेशालय के अधिकारियों के साथ बैठक कर अब तक की गई जांच की समीक्षा की। अधिकारियों ने कहा कि कोरोना की नकली दवाएं जहां से भी खरीदी जा रही हैं, उन सभी पहलुओं पर गौर किया जाएगा। इसके बाद कार्रवाई की शुरुआत की जाएगी।

आपको बता दें कि अभी हाल ही में स्वास्थ्य मंत्री नबा किशोर दास ने कटक शहर में 10 जून को दो दवा दुकानों से जब्त की गई नकली फेविपिराविर के मामले में जांच का आदेश दिया था। स्वास्थ्य मंत्री ने टैबलेट को परीक्षण के लिए भुवनेश्वर और कोलकाता की प्रयोगशालाओं में भेजा था। कटक के अलावा, बलांगीर, झारसुगुड़ा, संबलपुर, राउरकेला और भुवनेश्वर से नकली दवाएं जब्त की गईं थी।

अप्रैल में सरकार ने क्राइम ब्रांच के एडीजी वाईके जेठवा की अध्यक्षता में एक राज्य स्तरीय समिति का गठन किया था। ओडिशा में आवश्यक कोविड -19 आपूर्ति की जमाखोरी और कालाबाजारी को रोकने के लिए।

ये भी पढ़ें: कोरोना महामारी से बुरी तरह प्रभावित हुए पर्यटन उद्योग के लिए जल्द आर्थिक पैकेज का ऐलान करेगी ओडिशा सरकारये भी पढ़ें: कोरोना महामारी से बुरी तरह प्रभावित हुए पर्यटन उद्योग के लिए जल्द आर्थिक पैकेज का ऐलान करेगी ओडिशा सरकार

English summary
Odisha Special Task Force to probe fake Covid drug trade
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X