• search
भुवनेश्वर न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच ओडिशा सरकार ने पत्रकारों को घोषित किया 'फ्रंटलाइन कोविड वॉरियर्स'

|

भुवनेश्वर, 2 मई। पूरा देश इस समय कोरोना महामारी से जूझ रहा है। कोरोना काल में देश के प्रति जिम्मेदारी निभाते हुए कई लोग अब तक अपनी जान गंवा चुके हैं, जिनमें कई पत्रकार भी शामिल हैं। आंकड़ों के अनुसार अब तक 168 पत्रकारों की जान चली गई है। ऐसे में ओडिशा सरकार ने पत्रकारों के पक्ष में एक अहम फैसला लेते हुए उन्हें फ्रंटलाइन कोविड वॉरियर्स घोषित किया है। राज्य के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक के ऑफिस (सीएमओ) ने यह जानकारी दी।

 Naveen Patnaik

सीएमओ ने बयान जारी कर कहा कि ओडिशा के मुख्यमंत्री ने राज्य के कामकाजी पत्रकारों को फ्रंटलाइन कोविड वारियर्स घोषित किया। उन्होंने कहा की पत्रकार निर्बाध खबरें देकर राज्य के लिए बेहतरीन काम कर रहे हैं, कोरोना और इससे जुड़े मुद्दों पर लोगों को जागरूक कर रहे हैं और कोरोना के खिलाफ लड़ाई में अपना अहम योगदान दे रहे हैं।

यह भी पढ़ें: J&K: श्रीनगर के गुलाब बाग एरिया में कई आतंकियों के छिपे होने की खबर, सर्च अभियान जारी

इसके अलावा सीएमओ ने कहा कि ड्यूटी के दौरान कोरोना से मरने वाले पत्रकारों के परिवारों को 15 लाख रुपये की अनुग्रह राशि प्रदान की जा रही है। इससे राज्य के 6944 कामकाजी पत्रकारों को फायदा होगा। सीएमओ ने आगे कहा कि राज्य के 6944 कामकाजी पत्रकारों को गोपबंधु संभादिका स्वास्थ्य बीमा योजना के तहत कवर किया गया है और उन्हें 2-2 लाख रुपये का स्वास्थ्य बीमा कवर मिल रहा है।

राज्य के स्वास्थ्य विभाग ने रविवार को बताया कि ओडिशा में पिछले 24 घंटों में 8,015 नए कोविड​​-19 के मामले सामने आए जबकि इस दौरान 5,634 लोग ठीक हुए जबकि 14 लोगों की मौत हो गई।।

English summary
Odisha Government Announces Journalists 'Frontline Covid Warriors'
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X