• search
भुवनेश्वर न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

चावल की लंबित सब्सिडी को लेकर बीजेडी सांसदों ने केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल से की मुलाकात

|
Google Oneindia News

भुवनेश्वर, 22 जुलाई। बीजेडी ने मंगलवार को केंद्र सरकार के समक्ष राज्य को दी जाने वाली लंबित खाद्द सब्सिडी के भुगतान का मुद्दा उठाया। इसके भारतीय खाद्द निगम द्वारा शेष बचे चावल को खाली करने की मांग की। बीजेडी सांसदों के एक प्रतिनिधिमंडल ने मंगलवार को केंद्रीय उपभोक्ता मामले, खाद्द और सार्वजनिक खरीद मंत्री पीयूष गोयल से मुलाकात की और अपनी मांगों को उठाया। सांसदों ने राज्य में बोरियों की कमी का भी मुद्दा उठाया। सांसदों ने अपनी मांगों को लेकर पीयूष गोयल को ज्ञापन सौंपा। पीयूष गोयल से मुलाकात के बाद सांसदों ने कहा कि उन्होंने हमारी मांगों पर कार्रवाई करने का आश्वासन दिया है।

BJD

ज्ञापन में दावा किया गया है कि केंद्र बार-बार याद दिलाने के बावजूद 2003-04 से ओडिशा की लंबित 6081.45 करोड़ रुपये की सब्सिडी जारी करने में देरी कर रहा है। राज्य सरकार की प्रमुख खरीद एजेंसी, ओडिशा राज्य नागरिक आपूर्ति निगम को अभी तक सब्सिडी और अग्रिम सब्सिडी नहीं मिली है।

यह भी पढ़ें: ओडिशा सरकार का हाई कोर्ट में हलफनामा, कहा- यूजीसी के हर नियम को मानने के लिए बाध्य नहीं

ज्ञापन में कहा गया है कि सब्सिडी में देरी के कारण इसपर लगभग 4883.55 करोड़ रुपए का अतिरिक्त ब्याज भी लगता है, जिसकी भरपाई नहीं की जा सकती है और इसका भुगतान केंद्र सरकार द्वारा किया जाना चाहिए। बीजेडी सांसदों ने कहा कि हालांकि पिछले कुछ वर्षों में धान की खरीद बढ़ रही है, इसके बावजूद भारतीय खाद्द निगम द्वारा चावल की निकासी एक अनुरूप और सुसंगत तरीके से नहीं हुई है।

ज्ञापन में कहा गया है कि हालांकि राज्य में 2016-17 से 2020-21 खरीफ विपणन सत्र (केएमएस) तक 214.4 लाख टन चावल का उत्पादन किया गया है, एफसीआई द्वारा केवल 75.87 लाख टन का ही उत्पादन किया गया है। राज्य ने 2020-21 केएमएस में सबसे अधिक 52.35 लाख टन चावल का उत्पादन किया, लेकिन 6 जुलाई, 2021 तक केवल 12.5 लाख टन का उठाव हुआ। सांसदों ने आरोप लगाया कि बचे हुए चावल की समय पर निकासी न होने राज्य के गोदाम प्रभावित हो रहे हैं। उन्होंने कहा कि यदि चावल के लिए कोई खरीदार नहीं मिलेगा तो राज्य को हजारों करोड़ रुपए का नुकसान होगा।

English summary
BJD MPs meet Union Minister Piyush Goyal regarding pending subsidy of rice
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X