• search
भोपाल न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

मध्य प्रदेश कांग्रेस ने सिंधिया का यह पुराना वीडियो शेयर कर दिलाई मंदसौर किसान आंदोलन की याद

|

भोपाल। तीन कृषि कानूनों के विरोध में देश के किसान आंदोलनरत हैं। पंजाब-हरियाया समेत अन्य राज्यों के किसानों ने 26 नवंबर से दिल्ली में डेरा डाल रखा है। किसान आंदोलन 2020 में अब तक 7 किसानों की मौत हो चुकी हैं। सिंघू बॉर्डर किसान आंदोलन 2020 का केंद्र बिन्दू बना हुआ है।

पहले सिंधिया ने किसान आंदोलन पर दिखाए थे तीखे तेवर

पहले सिंधिया ने किसान आंदोलन पर दिखाए थे तीखे तेवर

किसान आंदोलन पर सियासत पर भी खूब हो रही है। इसी कड़ी में मध्य प्रदेश कांग्रेस ने राज्यसभा सांसद व भाजपा नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया का एक वीडियो शेयर कर उन पर निशाना साधा है। वीडियो में सिंधिया कहते दिखाई दे रहे हैं कि 'शिवराज सिंह चौहान जी आपके हाथ खून से रंगे हुए हैं। अगर खून किसी ने किया है तो आपकी सरकार ने। मध्य प्रदेश के इन किसानों का खून किया है।'

मध्य प्रदेश का सवाल-दिल्ली किसान आंदोलन पर चुप क्यों?

मध्य प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता केके मिश्रा ने अपने ट्विटर हैंडल पर ज्योति​रादित्य सिंधिया का यह वीडियो शेयर करते हुए लिखा है कि 'श्रीअन्त जी दिल्ली में किसान आंदोलन में अब तक 7 किसान जान गवां चुके हैं। मंदसौर गोलीकांड में किसानों की शहीदी पर तब आप। अब खामोश। केंद्र में मंत्री जो बनना है। उसूलों पर जहां आंच आए तो टकराना ज़रूरी है, यदि ज़िन्दा हो तो फिर ज़िन्दा नज़र आना ज़रूरी है'

    Farmer Protest: Delhi-Ghazipur Border पर किसानो का हंगामा, किसानों का आंदोलन जारी | वनइंडिया हिंदी
     क्या है मंदसौर किसान आंदोलन?

    क्या है मंदसौर किसान आंदोलन?

    दरअसल, विभिन्न मांगों को लेकर जून 2017 को मध्य प्रदेश के मालवा इलाके में किसानों ने आंदोलन किया था। यह आंदोलन प्रदेश के रतलाम, मंदसौर, खरगौर, देवास, धार, नीमच, इंदौर, उज्जैन और बडवाणी तक फैला था। मंदसौर इसका मुख्य केंद्र था। इसलिए इसे मंदसौर किसान आंदोलन के नाम से जाना जाता है। मंदसौर किसान आंदोलन 2017 में आधा दर्जन किसानों की मौत हो गई थी।

    कांग्रेस ने अब क्यों शेयर किया सिंधिया का वीडियो?

    कांग्रेस ने अब क्यों शेयर किया सिंधिया का वीडियो?

    मध्य प्रदेश कांग्रेस के प्रवक्ता ने अब दिल्ली किसान आंदोलन के बहाने ज्योतिरादित्य सिंधिया पर सियासी वार किया है। दरअसल, वर्ष 2017 में मंदसौर किसान आंदोलन हुआ तब ज्योतिरादित्य सिंधिया कांग्रेस में थे और भाजपा सत्ता में थी। शिवराज सिंह चौहान मध्य प्रदेश के सीएम थे। तब विपक्षी होने के नाते पर सिंधिया ने किसी सभा में मंदसौर किसान आंदोलन को लेकर सीएम चौहान पर निशाना साधते हुए उनके हाथ किसानों के खून से रंगा होने तक की बात कह डाली थी।

     अब चुप क्यों हैं सिंधिया?

    अब चुप क्यों हैं सिंधिया?

    मध्य प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता ने सिंधिया का पुराना वीडियो शेयर किया है, जिसमें किसानों को लेकर शिवराज सिंह चौहान पर बरस रहे हैं जबकि अब पंजाब-हरियाणा के किसानों के आंदोलन को लेकर सिंधिया की ओर से ऐसी कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है। इसकी वजह यह है कि अब खुद सिंधिया भाजपा में हैं। 9 मार्च 2020 को सिंधिया व उनके विधायकों ने कांग्रेस का साथ छोड़कर भाजपा का हाथ दाम लिया था, जिससे कांग्रेस के कमलनाथ की सरकार गिर गई थी और शिवराज सिंह चौहान फिर सीएम बने। भाजपा नेता बनने के बाद सिंधिया मध्य प्रदेश से भाजपा की टिकट पर राज्यसभा सांसद चुने गए हैं।

    Farmers Protest: दिल्‍ली बॉडर पर आंदोलनकारी एक और किसान की हुई मौत, पंजाब के सीएम ने की ये घोषणा

    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    English summary
    Madhya Pradesh Congress shares old video of Jyotiraditya Scindia for reminds Mandsaur Kisan Andolan
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X