• search
भोपाल न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

होशंगाबाद का डॉक्टर बना 'जल्लाद', ड्राइवर की हत्या के बाद शव के आरी से टुकड़े टुकड़े कर तेजाब में डाला

|

Hoshangabad News, होशंगाबाद। मध्यप्रदेश के होशंगाबाद का एक डॉक्टर 'जल्लाद' बन गया और हैवानियत की सारी हदें पार कर डाली। इस खौफनाक वारदात में डॉक्टर ने अपने ड्राइवर की हत्या करके उसके शव के आरी से टुकड़े-टुकड़े करके एसिड से भरे ड्रम में डाल दिए। आरोपी डॉक्टर को पुलिस ने रंगे हाथ गिरफ्तार कर लिया है।

hoshangabad murder case

होशंगाबाद एसपी रविंद सक्सेना के अनुसार शुरुआती जांच में पता चला है कि आरोपी डॉक्टर करीब चौबीस घंटे तक ड्राईवर के शव के टुकड़े-टुकड़े करता रहा। मुखबिर के जरिए पुलिस को सूचना मिली थी, जिसके बाद आरोपी को पकड़ा गया। फिलहाल मामले की जांच की जा रही है। चालक को शक था डॉक्टर के उसकी पत्नी के साथ अवैध संबंध है। जिनको लेकर वह कई बार डॉक्टर को टोक चुका था। इसी बात को लेकर डॉक्टर ने खौफनाक वारदात को अंजाम दे डाला।

शव के किए दो दर्जन से अधिक टुकड़े

शव के किए दो दर्जन से अधिक टुकड़े

जल्लाद बने डॉ. सुनील मंत्री ने अपने चालक वीरू पचोरी की लाश के दो दर्जन से भी अधिक टुकड़े किए थे। शव को आरी से काटने के बाद उन्हें एसिड से भरे ड्रम में दाल दिए ताकि शव नष्ट हो जाए और किसी को भनक तक नहीं लगे। सोमवार को वारदात को अंजाम देने के बाद वह मंगलवार दोपहर तक शव के टुकड़े करता रहा।

ड्राइवर वीरू पचोरी की हत्या करने के बाद डॉ. सुनील मंत्री ने हैवानियत की सारी हदें पार करना चाहा। बाजार से एसिड की बोतलों की पेटियां खरीदना और सोमवार की रात को डॉ. सुनील की संदिग्ध गतिविधियां देख किसी ने पुलिस को इत्तला कर दी। सूचना पाकर पुलिस उसके घर आ धमकी और उसे चालक के शव के टुकड़े करते व उन्हें तेजाब में गलाते रंगे हाथ पकड़ लिया।

मर्डर की योजना बनाकर खरीदा तेजाब

मर्डर की योजना बनाकर खरीदा तेजाब

वीरू पचोरी को शक था डॉक्टर के उसकी पत्नी से अवैध संबंध है। वीरू ने सुनील मंत्री को कई बार धमकाया कि वे उसकी पत्नी से दूर रहें। इस पर डॉक्टर ने उसे ठिकाने लगाने की योजना बनाई और योजना के अनुसार हार्डवेयर की दुकानों से रविवार को भारी मात्रा में तेजाब खरीद के एक ड्रम में एकत्रित कर लिया, ताकि उसमें वीरू के शव गला सके।

2008 में हुई डॉक्टर की पत्नी की मौत

2008 में हुई डॉक्टर की पत्नी की मौत

पुलिस के मुताबिक डॉ. सुनील मंत्री की पत्नी घर पर बुटीक का काम करती थी। उसके साथ 2008 से मृतक वीरू पचोरी की पत्नी काम करती थी। दो साल पहले डॉ सुनील मंत्री की पत्नी की मौत हो गई। उसके बाद भी वीरू पचोरी की पत्नी डॉ सुनील मंत्री के घर ही बुटीक का काम करती रही। इस बीच वीरू को आशंका हो गई कि डॉक्टर व उसकी पत्नी के बीच अवैध संबंध हैं।

पत्नी के साथ अवैध संबंधों को लेकर टोका जाने पर डॉ. सुनील मंत्री ने वीरू को कहा कि वह उसके यहां ड्राइवर की नौकरी कर लें ताकि वह हमेशा उसके साथ ही रहेगा। पत्नी से अवैध संबंधों का शक भी दूर हो जाएगा। इस पर सोमवार से वीरू ने डॉक्टर की कार के चालक की नौकरी शुरू कर दी। उसके बाद डॉ सुनील मंत्री को लेकर इटारसी सरकारी अस्पताल गया।

बेहोशी का इंजेक्शन देकर गला काटा

बेहोशी का इंजेक्शन देकर गला काटा

इटारसी के अस्पताल में जाने के बाद वीरू ने डॉ. मंत्री को बताया कि उसके दांत में दर्द है। इस पर डॉक्टर ने उसे दवाइयां दिलाई। उसके बाद दोनों घर आ गए। शाम को करीब पांच छह बजे वीरू ने दांत दर्द की शिकायत की। इस पर डॉक्टर ने उसके बेहोशी का इंजेक्शन का लगा दिया और फिर ऑपरेशन करने वाले औजार से उसका गला काटकर शव बाथरूम में ले गया। वहां शव के आरी से टुकड़े कर करके गलने के लिए एसिड से भरे ड्रम में डालने शुरू किए।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
hoshangabad Doctor sunil Mantri arrested for Driver's Murder
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X