• search
भोपाल न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

मध्य प्रदेश की सियासत : कमलनाथ के हनीट्रैप और इंडियन कोरोना वाले बयान पर भाजपा का पलटवार

|
Google Oneindia News

भोपाल, 22 मई। कोरोना काल में जहां भाजपा-कांग्रेस को एकजुट होकर इस महामारी से मुकाबला करने की जरूरत है। वहीं, मध्य प्रदेश में इंडियन कोरोना और हनीट्रैप पर सियासत हो रही है। साल 2019 में मध्य प्रदेश की राजनीति में भूचाल ला देने वाले हनीट्रैप केस की एंट्री कांग्रेस विधायक उमंग सिंघार की गर्लफ्रेंड सोनिया भारद्वाज सुसाइड केस के रास्ते हुई है। जबकि इंडियन कोरोना वाला बयान कमलनाथ ने खुद दिया है।

    MP Honey Trap Case: Kamalnath के बयान पर बवाल, BJP ने लगाया ये आरोप | वनइंडिया हिंदी

    Former Madhya Pradesh CM Kamal Nath gave controversial statement about Honeytrap and Indian Corona

    सोनिया भारद्वाज सुसाइड केस भोपाल

    दरअसल, हुआ यूं कि मध्य प्रदेश के पूर्व मंत्री और कांग्रेस विधायक उमंग सिंघार के भोपाल स्थित निवास पर उनकी गर्लफ्रेंड सोनिया भारद्वाज का शव फांसी के फंदे पर लटका मिला था। पुलिस को एक सुसाइड नोट भी मिला था। उसमें सोनिया ने सीधे तौर अपनी मौत का जिम्मेदार किसी को नहीं ठहराया है। सुसाइड नोट में लिखा था कि 'तुम गुस्से में बहुत तेज हो। अब सहन नहीं कर सकती।'

    सोनिया के बेटे ने एफआईआर वापसी की मांग

    यहां तक तो सब कुछ ठीक था। भोपाल पुलिस ने विधायक उमंग सिंघार के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर मामले की जांच भी शुरू कर दी। सोनिया भारद्वाज के बेटे आर्यन ने तो विधायक के खिलाफ दर्ज एफआईआर निरस्त करने के लिए मध्य प्रदेश डीजीपी का पत्र तक लिख दिया। हनीट्रैप केस की एंट्री तो उस वक्त हुई जब गुरुवार को कमलनाथ के निवास पर बैठक हुई।

    ये विधायक आए थे मिलने

    कांग्रेस के विधायक डॉ.विजय लक्ष्मी साधौ, एनपी प्रजापति, पीसी शर्मा, आरिफ मसूद, प्रवीण पाठक आदि कमलनाथ से मिले और कहा कि मध्य प्रदेश सिंघार को फंसाने की ओछी राजनीति कर रही है। मामले में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से मुलाकात कर सच्चाई से अवगत कराया जाना चाहिए।​ निवास पर आए विधायकों के साथ बैठक में कमलनाथ ने कहा था कि मामले में सरकार ओछी राजनीति ना करें, वरना परिणाम ठीक नहीं होंगे। हनीट्रैप की पेनड्राइव हमारे पास भी है।

    कमलनाथ बोले हनीट्रैप केस की सीसी है हमारे पास

    इसके अलावा कमलनाथ ने एक और विवादित बयान दिया। उन्होंने कोरोना को इंडियन कोरोना बताया। उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस चीन से शुरू हुआ, मगर भारत इतना महान बन गया कि दुनिया में इसे इंडियन वेरिएंट कोरोना कहा जाने लगा है। विश्व के राष्ट्रपति व प्रधानमंंत्री आज इंडियन वेरिएंट कोरोना से डरे हुए हैं। इसी वजह से सिंगापुर समेत कई देशों ने हमें बैन कर दिया है।

    इंडियन कोरोना वाले बयान पर गृहमंत्री ने कार्रवाई की मांग

    कमलनाथ के हनीट्रेप और इंडियन कोरोना वाले दोनों ही बयानों पर भाजपा ने पलटवार किया है। मध्य प्रदेश के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि कैबिनेट मंत्री का दर्जा प्राप्त एक व्यक्ति से भारत के लिए अपमानजनक शब्द सुनकर स्तब्ध, दुखी और आहत हूं। कमलनाथ के तार कहीं ना कहीं टूलकिट से जुड़े होंंगे। नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि वे मध्य प्रदेश के राज्यपाल से मांग करते हैं कि कमलनाथ पर समाज में कोरोना के नाम से डर फैलाने का काम करने पर 188 के तहत मामला दर्ज किया जाना चाहिए। भारत के अपमान पर कमलनाथ पर देशद्रोह का मामला दर्ज हो।

    वीडी शर्मा ने किया कमलनाथ के बयान पर पलटवार

    कमलनाथ के हनीट्रैप वाले बयान पर मध्य प्रदेश भाजपा के प्रमुख वीडी शर्मा ने कहा कि ये सीडी उनके पास आई कैसे? इस पूरे मामले की जांच होनी चाहिए। वीडी शर्मा ने कहा है कि एक व्यक्ति जो पूर्व मुख्यमंत्री है, जिसने अपराध को कम करने की बात कही, आज उनका ये बयान मुख्यमंत्री के रूप में उनकी शपथ और गोपनीयता की शपथ साफ-साफ उल्लंघन दिखाता है। उनके पास ये सीडी कैसे आई? उनका ये बयान इस तरफ इशारा करता है कि आप के मुख्यमंत्री के काल में सबूतों के साथ छेड़खानी की गई।

    English summary
    Former Madhya Pradesh CM Kamal Nath gave controversial statement about Honeytrap and Indian Corona
    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X