• search
भोपाल न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

जिंदगी की जंग हार गए कोरोना योद्धा डॉ. शुभम उपाध्याय, चेन्नई ले जाने से पहले ही भोपाल में निधन

|

भोपाल। मध्य प्रदेश में कोरोना योद्धा डॉ. शुभम उपाध्याय जिंदगी की जंग हार गए हैं। उन्हें इलाज के लिए चेन्नई के अस्पताल में एयरलिफ्ट किया जाना था, मगर चेन्नई ले जाने से पहले ही बुधवार को डॉ. शुभम उपाध्याय का भोपाल के चिरायु अस्पताल में निधन हो गया। कोरोना वायरस से संक्रमित होने के बाद से डॉ. शुभम का भोपाल में उपचार चल रहा था।

डॉ. शुभम के फेफड़ों में था संक्रमण

डॉ. शुभम के फेफड़ों में था संक्रमण

पिछले दिनों कोरोना से जंग तो जीत गए थे, मगर इसके बाद उनके फेफड़ों में संक्रमण हो गया था। ऐसे में वे वेंटीलेटर पर थे। मध्य प्रदेश सरकार और साथी डॉक्टर उन्हें विशेषज्ञों से इलाज के लिए चेन्नई ले जाने की तैयारियों में जुटे थे। चेन्नई पहुंचने से पहले ही डॉ. शुभम ने दम तोड़ दिया।

 28 अक्टूबर को हुए ​थे कोरोना पॉजिटिव

28 अक्टूबर को हुए ​थे कोरोना पॉजिटिव

साथी डॉ. सुलभ जैन के अनुसार डॉ. शुभम उपाध्याय मूलरूप से मध्य प्रदेश के सागर जिले के केसली के रहने वाले थे। कोरोना संक्रमित मरीजों का इलाज करते करते खुद डॉ. शुभम भी कोरोना पॉजिटिव हो गए थे। 28 अक्टूबर को डॉ. शुभम की कोरोना जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। 21 नवंबर तक उनका उपचार चला और उन्होंने 21 नवम्बर को कोरोना को मात दे दी थी।

 डॉ. शुभम की तबीयत बिगड़ती गई

डॉ. शुभम की तबीयत बिगड़ती गई

करीब 23 दिन बाद डॉ. शुभम की कोरोना की जांच रिपोर्ट नेगेटिव आने के बाद उनके स्वस्थ होने की उम्मीद जगी थी, मगर उनकी तबीयत में सुधार होने की बजाय स्थिति दिनोंदिन बिगड़ती गई। उपचार के दौरान ही पता चला कि उनके फेफड़ों में संक्रमण हो गया। ऐसे में चेन्नई स्थित एमजीएम हेल्थकेयर और अपोलो अस्पताल में से किसी एक में इलाज करवाने की योजना बनाई गई।

 सोशल मीडिया के जरिए भी जुटाना चाहा फंड

सोशल मीडिया के जरिए भी जुटाना चाहा फंड

शुरुआत में सरकारी स्तर पर मदद नहीं मिलने के कारण डॉ. शुभम परिजनों व साथी डॉक्टरों ने सोशल मीडिया के जरिए फंड जुटाने के लिए अभियान भी चलाया। मामला मध्य प्रदेश सीएम शिवराज सिंह चौहान की जानकारी में पहुंचा तो उन्होंने डॉ. शुभम को चेन्नई भिजवाने व इलाज में हर संभव मदद का भरोसा दिलाया।

 साइक्लोन निवार की चपेट में आया चेन्नई

साइक्लोन निवार की चपेट में आया चेन्नई

इस बीच चेन्नई के अस्पताल से विशेषज्ञ डॉक्टरों की टीम भोपाल पहुंची। भोपाल के निजी अस्पताल में उपचाराधीन डॉ. शुभम को एयर एम्बुलेंस के जरिए चेन्नई ले जाने की कोशिशों के दौरान पता चला कि चेन्नई में साइक्लोन निवार का असर है। चक्रवात निवार के कारण चेन्नई में बारिश और तेज़ हवा से पेड़ गिर गए और चेन्नई एयरपोर्ट पर विमान सेवा निलंबित करनी पड़ी। साइक्लोन के कारण 27 नवंबर से पहले डॉ. शुभम को चेन्नई ले जाना संभव नहीं हो पा रहा था। मौसम साफ होने तक चेन्नई के विशेषज्ञ डॉक्टरों की देखरेख में भोपाल के चिरायु अस्पताल में ही उनका उपचार चल रहा था, मगर डॉ. शुभम को बचाया नहीं जा सका।

डॉ. शुभम समाज की सेवा का उदाहरण थे- सीएम चौहान

डॉ. शुभम की मौत के बाद मध्य प्रदेश सीएम शिवराज सिंह चौहान ने ट्वीट कर कहा कि ' मन पीड़ा और दुःख से भरा हुआ है। हमारे जांबाज कोरोना योद्धा डॉ. शुभम कुमार उपाध्याय, जो निःस्वार्थ भाव से दिन और रात एक कर कोरोना वायरस पीड़ितों की सेवा करते हुए संक्रमित हुए थे, उन्होंने आज अपने प्राण न्यौछावर कर दिए।'

ज्योतिरादित्य सिंधिया बोले-हम डॉ. शुभम के ऋणी रहेंगे

राज्यसभा सांसद व भाजपा नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया ने ट्वीट कर कहा कि 'सागर मेडिकल कॉलेज के कोरोना योद्धा डॉक्टर शुभम उपाध्याय जी का कोरोना से लड़ते हुए दुःखद निधन हो गया। मानव सेवा और समाज की सुरक्षा के लिए अपने प्राणों की आहुति देने वाले वीर योद्धा को मेरा कोटि-कोटि नमन। महामारी के दौरान आपके द्वारा दी गई सेवाओं के लिए हम सभी सदैव आपके ऋणी रहेंगे।'

कोरोना काल में एक ऐसी बारात दूल्हा और बारातियों ने मास्क लगाए, घोड़ी को भी Mask पहनाया

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
corona Warrior Dr Shubham Upadhyay passed away in chirayu Hospital Bhopal Madhya Pradesh
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X