India
  • search
भोपाल न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
Oneindia App Download

दलित की बारात में पत्थर फेंकने वालों के घरों पर हुई बुलडोजर कार्रवाई, प्रशासन ने अतिक्रमण को किया ध्वस्त

|
Google Oneindia News

राजगढ़,19 मई। जिले के जीरापुर में मस्जिद के पास ढोल बंद करवाने को लेकर हुए विवाद में आज प्रशासन द्वारा आरोपियों के घर पर अतिक्रमण को लेकर बुलडोजर चलाने की कार्रवाई की गई है।बता दें मंगलवार देर रात दलित दूल्हे की बारात पर वार्ड क्रमांक 4 में पथराव हुआ था। मामले में पुलिस ने आरोपियों के घर के बाहर निशान लगाकर मकान को चिन्हित किया था। इसके बाद गुरुवार को चिन्हित किए मकानों पर बुलडोजर की कार्रवाई हुई हैं। जिसमें भारी पुलिस बल के साथ राजस्व अमला, नगरपालिका, पोकलेन मशीन सहित एक जेसीबी मौके पर मौजूद थे।

बारात में पत्थर फेंकने वालों के घरों हुई बुलडोजर कार्रवाई

एमपी राजगढ़ प्रशासन द्वारा छह शास्त्र लाइसेंस निरस्त करने की कार्रवाई करते हुए 8 लोगों के खिलाफ प्रकरण दर्ज किया गया है घटना के वक्त मौके पर मिले CCTV वीडियो फुटेज के आधार पर पत्थरबाजी करने वाले अन्य अपराधियों की भी जांच की जा रही है।

गौरतलब है कि मंगलवार रात को जीरापुर में रहने वाले दलित परिवार के मदनलाल मालवीय की बेटी अंजू की शादी में मंगलवार को सुसनेर से बारात जीरापुर आई थी। रात 12 बजे के लगभग घोड़ी पर सवार दूल्हा और बारात का जुलूस निकल रहा था। इसी दौरान मस्जिद से कुछ दूरी पर मुस्लिम के कुछ उपद्रवियों ने पथराव शुरू किया था। जिसमें 4 बाराती घायल हो गए थे। इसमें फरियादी मदनलाल मालवीय की शिकायत पर 8 आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज किया था। सीसीटीवी में उपद्रवियों की फुटेज सामने आने के बाद शासकीय जमीनों में अतिक्रमण की जानकारी प्रशासन को लगी तो मुनादी करवाई गई और अतिक्रमण हटाने को नोटिस देने के बाद आज आरोपियों के घरों पर बुल्डोजर चलाया जा रहा है।

प्रशासन ने अतिक्रमण को किया ध्वस्त

मस्जिद के सामने ढोल बजाने पर रोक

अंकित मालवीय ने बताया कि मंगलवार रात को उसकी चचेरी बहन अंजू की बारात सुसनेर से आई थी। रात में घोड़ी पर सवार होकर दूल्हा बारातियों के साथ निकल रहा था। बारात के स्वागत के लिए हम सब गेट पर खड़े थे। माता जी मोहल्ले स्थित मस्जिद के सामने से जैसी बारात निकली, तो बैंड और ढोल को बंद करवा दिया गया, क्योंकि हमारे गांव में ये प्रथा बना रखी है कि मस्जिद के सामने कोई बैंड बाजे नहीं बचाएगा।

बारात आगे बढ़ी और शीतला माता मंदिर तक पहुंची यहां पर बैंड और ढोल बज रहे थे और सभी बाराती डांस का आनंद उठा रहे थे, इसी दौरान मुस्लिम समुदाय के 20 से 25 लोगों ने हंगामा शुरू कर दिया। उन्होंने सबसे पहले ढोल वाले की जमकर पिटाई की और ढोल को जमीन पर फेंक दिया। उसके बाद बारातियों के साथ मारपीट की। इतना ही नहीं उन्होंने बारातियों पर जमकर ईंट पत्थर बरसाए। जिसमें कई बराती गंभीर रूप से घायल हो गए।

यह भी पढ़ें : भोपाल में क्राइम ब्रांच की बड़ी कार्रवाई, अलग-अलग मामलों में एक दर्जन से ज्यादा आरोपी गिरफ्तारयह भी पढ़ें : भोपाल में क्राइम ब्रांच की बड़ी कार्रवाई, अलग-अलग मामलों में एक दर्जन से ज्यादा आरोपी गिरफ्तार

Comments
English summary
Bulldozer action took place in the houses of those who threw stones in the procession of Dalit, demolished the encroachment
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X