• search
बस्ती न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

पति का शव ले जाने के लिए पांच घंटे तक नहीं मिला वाहन, फिर पत्नी ने किया ये काम

|
Google Oneindia News

बस्ती, अप्रैल 01: कोरोना वायरस संक्रमण का कहर उत्तर प्रदेश में तेजी से बढ़ा रहा है। तो वहीं, दिल को झकझोर देने वाली खबरें भी सामने आ रही है। ऐसा ही एक मामला उत्तर प्रदेश के बस्ती जिले से सामने आया है। यहां पांच घंटे तक महिला को अपने पति का शव घर ले जाने के लिए ना तो एंबुलेंस मिली, ना कोई और वाहन। बाद में स्थानीय लोगों के सहयोग से जेसीबी से गड्ढा खोदकर शव को दफना दिया गया।

Basti News: husband body buries from jcb by woman

यह मामला बस्ती जिले के भानपुर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र का है। खबरों के मुताबिक, मृतक एक सप्ताह पूर्व बाहर से आया था। उसी वक्त से उसकी तबीयत खराब थी। लेकिन उसने अपनी जांच नहीं कराई। शुक्रवार की सुबह हालत ज्यादा खराब होने पर महिला अपने पति को एंबुलेंस से लेकर सीएचसी पहुंची। जहां हालत गंभीर देख डाक्टर ने उसे जिला अस्पताल के लिए रेफर कर दिया। जब तक जिला अस्पताल ले जाने के लिए कोई साधन पहुंचता। उससे पहले ही उसकी मौत हो गई।

बता दें कि परिवार में कोई और पुरूष सदस्य मौके पर मौजूद नहीं था। कोई पुरूष सदस्य ना होने के चलते महिला को लोगों की मदद और वाहन के लिए पांच घंटे इंतजार करना पड़ा। कोरोना के भय से लोग सहयोग करने से कतराते रहे। अस्पताल से शव घर ले जाने के लिए कोई वाहन चालक भी तैयार नहीं हो रहा था। बाद में स्थानीय लोगों के सहयोग से शव को एक वाहन से बैड़वा समय माता मंदिर के पास घाट पर ले जाया गया, जहां जेसीबी से गड्ढा खोदकर शव को दफना दिया गया। वहीं, सीएसची अधीक्षक डॉ. सचिन कुमार चौधरी ने बताया कि घटना की जानकारी होते ही प्रशासन को अवगत करा दिया गया था।

English summary
Basti News: husband body buries from jcb by woman
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X