• search
बरेली न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

250 किमी दूर दफनाया कॉलेज प्रवक्ता अवधेश का शव, कंकाल मिलने के बाद सामने आया विनीता का खौफनाक चेहरा

|

फिरोजाबाद/बरेली। 12 अक्टूबर को लापता हुए बरेली जिले के कुंवर ठाकुर लाल इंटर कॉलेज के प्रवक्ता अवधेश (43) की हत्या का पुलिस ने चौंकाने वाला खुलासा किया है। पुलिस ने अवधेश हत्याकांड का खुलासा करते हुए बताया कि मृतका की पत्नी विनीता और ससुरालीजनों ने पांच लाख रुपए की सुपारी शेर सिंह उर्फ चीकू को दी थी। जिसने इस हत्याकांड को अंजाम दिया था। इतना ही नहीं, उसने अधजले शव को नारखी स्थित खेत में दबा दिया दिया था, जहां से पुलिस ने तहसीलदार की मौजूदगी में शव को निकलवाकर पोस्टमॉर्टम के लिए भेजा गया है।

अवधेश के शव को मारी थी विनीता ने लातें

अवधेश के शव को मारी थी विनीता ने लातें

हालांकि, पुलिस की गिरफ्त में आए चीकू ने पूछताछ में और भी चौंकाने वाले खुलासा किया है। दरअसल, उसने बताया कि विनीता अपने पति से इस हद तक नफरत करती थी कि उसकी हत्या के बाद उसके सामने ही उसने उसकी लाश को कई लातें मारीं। एसपी सिटी मुकेश चन्द्र मिश्र ने मीडिया को जानकारी देते हुए बताया कि अवधेश की पत्नी विनीता ने अपने पिता अनिल फौजी के साथ मिलकर शूटर शेर सिंह को पांच लाख रुपए में पति की हत्या की सुपारी दी। इसके लिए 70 हजार रुपए एडवांस दिए थे।

अवधेश के शव को जलाने के बाद खेत में दबाया था

अवधेश के शव को जलाने के बाद खेत में दबाया था

पूछताछ में शेर सिंह उर्फ चीकू ने बताया कि 12 अक्टूबर की रात्रि को बरेली जाकर अवधेश की हत्या कर दी और शव को बरेली से कार से लाकर नारखी क्षेत्र में जलाने के बाद रामदास के खेत में दबा दिया था। पुलिस ने हत्यारोपी की निशानदेही पर तहसीलदार सदर विवेक भदौरिया की उपस्थिति में खोदाई कराके शव बरामद कर लिया। शिनाख्त मृतक की मां अन्नपूर्णा देवी ने की है। हत्या में शामिल हत्यारोपी फरार हैं। बता दें कि अवधेश की पत्नी विनीता ने खुद उसकी गुमशुदगी रिपोर्ट बरेली में दर्ज कराई। हालांकि, अवधेश की मां ने पत्नी विनीता पर ही हत्या की आशंका व्यक्त की थी।

नौकरी लेने और मकान हथियाने की थी साजिश

नौकरी लेने और मकान हथियाने की थी साजिश

इतना ही नहीं, अवधेश जादौन के भाई रमेश चंद्र का आरोप है कि अवधेश की पत्नी विनीता के प्रेम संबंध आगरा निवासी एक युवक से हैं। भाई अवधेश को रास्ते से हटा कर विनीता का नजर भाई के स्थान पर नौकरी लेने और बरेली में पचास लाख रुपए कीमत का मकान हथियाने की थी। पुलिस ने पूरे मामले की छानबीन शुरू की तो जो बात निकल सामने आई वो काफी हैरान करने वाली थी। पुलिस के मुताबिक उम्र के बड़े अंतर और सीधेसादे मिजाज ने अवधेश के वैवाहिक जीवन में जहर घोल दिया था। अवधेश 43 साल तो विनीता उर्फ बिंदु 31 साल की ही थी। ब्यूटी पार्लर चलाने वाली विनीता बिंदास जिंदगी जीने की आदी थी।

तीन महीनों से साली ज्योति भी रह रही थी अवधेश के घर

तीन महीनों से साली ज्योति भी रह रही थी अवधेश के घर

सरकारी नौकरी के चक्कर में 12 साल पहले विनीता ने अवधेश से शादी तो कर ली, लेकिन उसके विचार कभी उनसे नहीं मिले। मैनपुरी के वेबर में ब्याही विनीता की बहन ज्योति ने भी छह साल पहले अपने पति को छोड़कर मायके में रहना शुरू कर दिया था। अक्सर वह बहन के पास रहने बरेली भी आ जाती थी। तीन महीनों से वह लगातार बरेली में ही रह रही थी। इसके बाद अवधेश की दिक्कतें और बढ़ गई थीं।

मां ने कही ये बात

मां ने कही ये बात

वहीं, अवधेश की मां अन्नपूर्णा का आरोप है कि दोनों बहनों का चालचलन अच्छा नहीं था। बेटे के कॉलेज जाते ही कुछ लोग घर आ जाते थे। पड़ोसियों के बताने के बाद सतर्क हुए बेटे ने कई बार घर में बाहरी लोगों को पकड़ा तो पत्नी और साली उससे ही लड़ने लगती थी। अवधेश ने 20 दिन पहले ही उन्हें फोन पर लगातार खराब हो रहे हालात के बारे में बताया था, तब उन्होंने सोचा था कि दिवाली पर वह परिवार के साथ घर आएगा तो वह बहू से बात करेंगी पर इससे पहले ही उसने उसकी हत्या करा दी।

ये भी पढें:- रेहड़ी-पटरी वालों से PM मोदी करेंगे बात, प्रियंका गांधी ने कहा- छोटे व्यापारियों को स्पेशल सहायता पैकेज की जरूरत

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
college lecturer avdhesh skeleton found in firozabad
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X