• search
बैंगलोर न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

कर्नाटक के गांवों में बढ़ा कोरोना का खतरा, टास्क फोर्स ने कहा- ग्रामीण इलाकों में जल्द बनाएं क्वारंटाइन सेंटर

|

बेंगलुरु, 16 मई: कोरोना वायरस की दूसरी लहर में अब शहरों के साथ-साथ डॉक्टरों और सरकारों को गांवों की चिंता सता रही है। देश के कई राज्यों के गांवों में कोविड-19 संक्रमण का खतरा बढ़ता जा रहा है। ऐसे में कर्नाटक के कोविड-19 टास्क फोर्स की टीम ने वहां की सरकार को कहा है कि गावों और स्लम इलाकों में जल्दी से जल्दी क्वारंटाइन सेंटर बनाई जानी चाहिए। जिसपर कर्नाटक की सरकार ने हामी भर दी है। कर्नाटक में कोविड-19 टास्क फोर्स ने ग्रामीण क्षेत्रों और शहर के पास में स्थित स्लम में कोरोना की जांच करने के लिए क्वारंटाइन सेंटर बनाने की सरकार से सिफारिश की है। कोविड-19 टास्क फोर्स का कहना है कि अगर राज्यों के गावों में कोरोना को फैलने से रोकना है तो कैंप लगाकर ज्यादा से ज्यादा लोगों की कोविड जांच की जानी चाहिए। पॉजिॉटिव आने वाले लोगों को क्वारंटाइन किया जाना चाहिए।

    Coronavirus: Karnataka में कोरोना कहर, ग्रामीण इलाकों में बनेंगे Quarntine Centre | वनइंडिया हिंदी

    Karnataka

    कर्नाटक के उपमुख्यमंत्री बोले- ग्रामीण क्षेत्रों में कोविड-19 केयर सेंटर बनाए जाएंगे

    कर्नाटक के उपमुख्यमंत्री सीएन ॲश्वथ नारायण की अध्यक्षता में टास्क फोर्स की बैठक में शनिवार को यह फैसला लिया गया है कि ग्रामीण व स्लम इलाकों में क्वारंटाइन सेंटर प्रथामिकता से बनाए जाएंगे। सीएन ॲश्वथ नारायण ने कहा, ''ग्रामीण क्षेत्रों में प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र स्तर पर कोविड-19 केयर सेंटर बनाए किए जाएंगे। हॉस्टल जैसे स्थानों पर आइसोलेशन और इलाज की व्यवस्था की जाएगी। जिला आयुक्तों को यह जिम्मेदारी सौंपी जाएगी।''

    कर्नाटक में तेजी से फैल रहा है कोरोना

    कर्नाटक में इन दिनों कोरोना वायरस के मामले बढ़ गए हैं। पिछले हफ्ते कर्नाटक में कोविड-19 के हर दिन केस औसतन 40 हजार आ रहे थे। जिसमें से अकेले बेंगलुरु से हर दिन 20 हजार से 15 हजार नए मामले सामने आ रहे हैं। ऐसे में सरकार को चिंता है कि बेंगलुरु जैसे ही कोरोना राज्य के बाकी जिलों में ना फैल। जिसको देखते हुए ग्रामीण व स्लम इलाकों में टेस्टिंग बढ़ाने और क्वारंटाइन सेंटर बनाने का फैसला लिया गया है।

    ये भी पढ़ें- BJP सांसद तेजस्वी सूर्या ने नहीं मांगी मुस्लिम कर्मियों से कोई माफी, जानें बेंगलुरु बेड्स घोटाले का पूरा मामलाये भी पढ़ें- BJP सांसद तेजस्वी सूर्या ने नहीं मांगी मुस्लिम कर्मियों से कोई माफी, जानें बेंगलुरु बेड्स घोटाले का पूरा मामला

    कोविड टास्क फोर्स ने शनिवार (15 मई) को कोरोना वायरस वैक्सीन की खरीद के लिए 843 करोड़ रुपये के आवंटन को भी मंजूरी दी। कर्नाटक के उपमुख्यमंत्री सीएन ॲश्वथ नारायण ने कहा कि पहले, हमने पूरे दो करोड़ खुराक की आपूर्ति के लिए एक ऑर्डर देने का फैसला लिया था। लेकिन अब हमने 50 लाख खुराक की आपूर्ति के लिए इसे चार पार्ट में बांट रहे हैं।

    English summary
    Karnataka coronavirus in villages Task force recommends institutional quarantine in rural areas
    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X