• search
बलरामपुर न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

क्या होता है लोन वुल्फ अटैक? इस तरह ​दिल्ली को दहलाने वाला था आतंकी अबू यूसुफ

|
Google Oneindia News

बलरामपुर। राजधानी दिल्ली से पकड़े गए आतंकी मुस्तकीम उर्फ अबू यूसुफ को पुलिस शनिवार को उत्तर प्रदेश के बलरामपुर जिले पहुंची। दिल्ली पुलिस ने उतरौला थाना क्षेत्र के बढ़या भैंसाही गांव में यूसुफ के घर से छापेमारी के दौरान भारी मात्रा में विस्फोटक, मानव बम वाले दो जैकेट, कई धार्मिक साहित्य व अन्य संदिग्ध चीजें बरामद की। यूसुफ की पत्‍नी को इस बात की जानकारी थी। यूसुफ ने उसे किसी से भी ये बात बताने से मना किया था। बता दें, अबू यूसुफ को राजधानी में 'लोन वुल्फ हमला' करने का आदेश था। इसके लिए उसने सभी तैयारियां कर ली थीं।

    ISIS के संदिग्ध आतंकी Abdul Yusuf के घर से तबाही का सामान बरामद | Balrampur | वनइंडिया हिंदी
    क्या होता है 'लोन वुल्फ हमला'?

    क्या होता है 'लोन वुल्फ हमला'?

    'लोन वुल्फ हमला' करने के लिए चुने गए आतंकी को अपने आकाओं के निर्देश पर खुद ही प्लानिंग करनी होती है। इसके लिए उसे कहीं से कोई मदद नहीं मिलती। खुद ही संसाधन जुटाना होता है। ऐसी वारदात के बाद आतंकी के बारे में कुछ विशेष सुराग भी नहीं मिल पाते हैं। बताते हैं कि पेरिस में आतंकियों ने ऐसी कई वारदातों को अंजाम दिया है। यूसुफ आईईडी बनाने के बाद उसे 15 अगस्त से पहले दिल्ली पहुंचकर विस्फोट करना चाहता था, लेकिन कड़ी सुरक्षा व्यवस्था की वजह से वह नहीं आ पाया। आईईडी ब्लास्ट के बाद उसे राजधानी में ही फिदायीन हमला करना था। अबु यूसुफ ने खुलासा किया कि उसे यकीन था कि स्वतंत्रता दिवस के बाद दिल्ली की सुरक्षा व्यवस्था कम हो गई होगी, ऐसे में वह आसानी से धमाका कर सकता है, लेकिन इसी बीच वह पकड़ा गया।

    योजनाबद्ध हमले से बेहद खतरनाक होता है 'लोन वुल्फ हमला'

    योजनाबद्ध हमले से बेहद खतरनाक होता है 'लोन वुल्फ हमला'

    बता दें, 'लोन वुल्फ हमला' दहशत फैलाने का एक नया तरीका है, जिसे आतंकी संगठन बहुत तेजी से अपना रहे हैं। पिछले छह-सात सालों में ऐसे हमलों की संख्या बढ़ी है। यह हमला किसी भी योजनाबद्ध हमले से बेहद खतरनाक होता है। साल 2015-16 में इस्लामिक स्टेट के एजेंट्स ने पश्चिमी देशों पर इस तरह के कई हमले किए थे। इस तरह के हमलों में में आतंकियों का मकसद होता है वह अकेले अपने दम पर अधिक से अधिक लोगों का खून बहाएं। ऐसे हमलों में छोटे हथियार, चाकुओं, बंदूकों और कभी-कभी हाथ से बनाए गए विस्फोटकों का भी इस्तेमाल होता है।

    यू-ट्यूब पर वीडियो देखकर बनाता था बम

    यू-ट्यूब पर वीडियो देखकर बनाता था बम

    यूसुफ खुद ही बारूद जमा करता था और यू-ट्यूब पर वीडियो देखकर बम बनाना सीखता था। उसने घर पर रहकर ही बम बनाए। उसके आका उसे लिंक उपलब्ध कराते रहते थे। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, दुनियाभर में अब तक लोन वुल्फ हमले में सैकड़ों लोगों की जान जा चुकी है। ऐसे हमले करने के बाद ज्यादातर आतंकी खुद ही अपनी जान दे देते हैं या मुठभेड़ में मारे जाते हैं। बता दें, 21 अगस्त की रात में दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने मुठभेड़ के बाद आतंकी अबू यूसुफ उर्फ मुस्तकीम को गिरफ्तार किया था। पूछताछ में उसने खुलासा किया कि वह दिल्ली और उत्तर प्रदेश में आतंकी हमले की साजिश रच रहा था। यही नहीं उसके निशाने पर अयोध्या में बनने वाला राम मंदिर भी था।

    आतंकी अबू यूसुफ के घर की खुदाई करके हुई तलाशी, सुसाइड बॉम्बर वाली मिली दो जैकेट और विस्फोटकआतंकी अबू यूसुफ के घर की खुदाई करके हुई तलाशी, सुसाइड बॉम्बर वाली मिली दो जैकेट और विस्फोटक

    English summary
    lone wolf attack which isis operative abu yusuf was planning
    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X